National

मारपीट मामलाः मालीवाल ने पुलिस को बयान देकर कार्रवाई की उम्मीद जताई

नयी दिल्ली : आम आदमी पार्टी की सांसद स्वाति मलीवाल ने उनके साथ हुई दुर्व्यवहार की घटना को दुखद करार देते हुए कहा है कि उन्होंने पुलिस को बयान दिया है और उचित कार्रवाई की उम्मीद है।सुश्री मालीवाल ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई बदसलूकी के बारे में पुलिस को दिये बयान के बारे एक्स पर साझा किया।

उन्होंने कहा, “मेरे साथ जो हुआ वो बहुत बुरा था। मेरे साथ हुई घटना पर मैंने पुलिस को अपना बयान दिया है। मुझे आशा है कि उचित कार्रवाई होगी। पिछले दिन मेरे लिए बहुत कठिन रहे हैं। जिन लोगों ने प्रार्थना की उनका धन्यवाद करती हूँ। जिन लोगों ने चरित्र हनन करने की कोशिश की, ये बोला की दूसरी पार्टी के इशारे पर कर रही है, भगवान उन्हें भी खुश रखे।”उन्होंने कहा, “देश में अहम चुनाव चल रहा है, स्वाति मालीवाल ज़रूरी नहीं है, देश के मुद्दे ज़रूरी हैं। भाजपा वालों से ख़ास गुज़ारिश है इस घटना पर राजनीति न करें।”ग़ौरतलब है सुश्री स्वाति के साथ मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास पर श्री केजरीवाल के निजी सहायक विभव कुमार ने दुर्व्यवहार किया था। इस घटना की पार्टी की ओर से बुधवार कोनिंदा की गई और कहा गया कि मुख्यमंत्री ने इसे गंभीरता से लिया है।

केजरीवाल पर भारी पड़ रहा मालीवाल विवाद, आप ने दी ये सफाई…

स्वाति मालीवाल के साथ हुई मारपीट का मामला अरविंद केजरीवाल के पूरे चुनावी अभियान पर भारी पड़ रहा है। अरविंद केजरीवाल जहां भी जा रहे हैं, उनसे मुख्यमंत्री आवास में राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल से हुई मारपीट पर पर प्रश्न पूछे जा रहे हैं। इससे अरविंद केजरीवाल का राजनीतिक अभियान पीछे छूट जा रहा है, जबकि स्वाति मालीवाल विवाद ज्यादा तेजी के साथ उभर कर सामने आ रहा है। केजरीवाल का बिभव कुमार पर कोई कार्रवाई करने की बजाय उसे अपने साथ लेकर घूमना भी आम आदमी पार्टी के लिए नई परेशानी का कारण बन रहा है। इससे लोकसभा चुनावों के ठीक बीच आम आदमी पार्टी की परेशानियां बढ़ गई हैं।

गुरुवार को जब अरविंद केजरीवाल लखनऊ में सपा नेता अखिलेश यादव के साथ प्रेस कांफ्रेंस कर एक बड़ा राजनीतिक संदेश देने की कोशिश कर रहे थे, पूरे प्रेस कांफ्रेंस पर स्वाति मालीवाल विवाद भारी पड़ गया। आम आदमी पार्टी नेता से स्वाति मालीवाल विवाद पर अब तक कोई कार्रवाई न करने पर प्रश्न पूछे गए। अरविंद केजरीवाल ने इस विषय पर कोई जवाब नहीं दिया। हालांकि, संजय सिंह ने आम आदमी पार्टी को एक परिवार बताकर एक बार फिर यह बताने की कोशिश की कि स्वाति मालीवाल विवाद उनकी पार्टी का आंतरिक मामला है और इसका समाधान खोज लिया जाएगा। लेकिन पूरी प्रेस कांफ्रेंस पर स्वाति मालीवाल विवाद जिस तरह भारी पड़ा, उससे केजरीवाल का वह संदेश पीछे छूट गया जो वे देना चाहते थे।

केजरीवाल की गलती पड़ रही भारी
दरअसल, स्वाति मालीवाल विवाद होने के बाद संजय सिंह ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर कहा था कि अरविंद केजरीवाल ने इस मामले को बहुत गंभीरता से लिया है। वे इस मामले में जल्द ही कड़ी कार्रवाई करेंगे। लेकिन आज 16 मई को जब अरविंद केजरीवाल लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस के लिए पहुंचे, उनके साथ स्वाति के साथ हिंसा करने के आरोपी बिभव कुमार दिखाई पड़े। इससे लोगों का पूरा ध्यान उन्हीं की ओर चला गया।(वीएनएस)।

क्या केजरीवाल ने ही पिटवाया स्वाती मालीवाल को :भाजपा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाती मालीवाल के साथ दुर्व्यवहार करने वाले को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए उनसे आज पूछा कि क्या सुश्री मालीवाल के साथ यह दुर्व्यवहार मुख्यमंत्री के इशारे पर ही किया गया है।भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने पार्टी के केंद्रीय कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाती मालीवाल के साथ दुर्व्यवहार के मामले में श्री केजरीवाल पर जमकर हमला किया।श्री भाटिया ने कहा कि एक महिला सांसद के साथ हुए दुर्व्यवहार पर श्री केजरीवाल की चुप्पी से स्पष्ट होता है कि महिला सम्मान उनके लिए कोई मायने नहीं रखता है। विपक्ष की नेत्री होने के बावजूद भारतीय जनता पार्टी सुश्री मालीवाल के लिए न्याय की लड़ाई लड़ रही है। नारीशक्ति के सम्मान के लिए भाजपा दल गत राजनीति की कभी परवाह नहीं करती है।

उन्होंने कहा कि महिला सांसद के साथ दुर्व्यवहार का आरोपी अरविंद केजरीवाल के संरक्षण में उनके साथ घूम रहा है और वे समाजवादी पार्टी के मुख्यालय में भी दिखाई दिया। देश की जनता की ओर से भाजपा ने अरविन्द केजरीवाल से सवाल पूछे और जवाब की उम्मीद की है कि शीश महल में हो रहे पाप पर अरविंद केजरीवाल का क्या रुख है? जिस पर केजरीवाल को कार्रवाई करनी थी वह जुड़वा भाई बनकर उनके साथ घूम रहा है, क्यों?भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने यह स्पष्ट कर दिया है कि महिला सम्मान के लिए उनके पास कोई जगह नहीं है, कोई प्रतिबद्धता नहीं है कि वे कार्रवाई करें। उन्होंने पूछा कि क्या स्वाति मालीवाल को दबाव बनाकर जबरन कहीं रखा गया है? क्या श्री केजरीवाल के इशारे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री आवास पर स्वाति मालीवाल के साथ हुई मारपीट और दुर्व्यवहार की गई थी?

श्री भाटिया ने कहा कि श्री केजरीवाल ने इस घटना की अब तक खंडन नहीं किया है। भ्रष्टाचारी अरविंद केजरीवाल “जेल सीएम” से “बेल सीएम” बने और 4 जून को “फेल सीएम” बन जाएंगे, लेकिन केजरीवाल अब “डरपोक सीएम” बन गए। एक ओर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संविधान में संशोधन कर महिलाओं को संसद और विधानसभा में आरक्षण देकर राजनीति की मुख्यधारा से जोड़ा है और महिला सम्मान एवं सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध हैं। वहीं दूसरी ओर घमंडिया गठबंधन के दल महिलाओं का अपमान करने में लगे हुए हैं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से जब स्वाती मालीवाल के साथ हुई मारपीट के बारे में प्रश्न किए गए, तब अखिलेश यादव ने कहा कि यह महत्वपूर्ण नहीं हैं और भी बहुत महत्वपूर्ण बातें हैं करने को। इनके लिए महिला सम्मान की बात जरूरी नहीं हैं, क्योंकि इनका मानना है कि लड़कों से गलतियां हो जाती हैं।

श्री भाटिया ने कहा कि इंडी गठबंधन के नेताओं को महिला सम्मान की कोई चिंता नहीं है। आम आदमी पार्टी के दोनों नेताओं ने स्वाति मालीवाल के साथ हुई मारपीट के लिए न कोई क्षमा नहीं मांगी और न ही उन्हें न्याय देने की बात कही।श्री भाटिया ने कहा कि आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल और सांप्रदायिक राजनीतिज्ञ अखिलेश यादव के द्वारा कुछ समय पहले भ्रष्टाचार की बोतल में महिला सम्मान को कुचल कर उसकी शराब बनाकर परोसने का काम किया गया है। भाजपा हमेशा महिला सशक्तीकरण की बात करती है और महिला सम्मान के लिए काम करती है।उन्होंने कहा, “इंडी गठबंधन के कायर नेता को यह समझना होगा कि जो अपनी सीटें नहीं बताते हैं, वे भी भाजपा और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की सीटों का आंकलन कर रहे है। 4 जून को राजग की 400 पार और भाजपा की 300 से अधिक, उत्तर प्रदेश में सभी 80 सीटें हमारी आएँगी। यह जो सपा की टूटी-फूटी साइकिल है, जिसका टायर पंचर है और अरविंद केजरीवाल साइकिल में हवा भरने के लिए एक पम्प लेकर पहुँच गए हैं, लेकिन केजरीवाल की सभी कोशिश नाकाम होने वाली है।

“भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि मीडिया रिपोर्ट के अनुसार स्वाती मालीवाल के साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री आवास में जिस तरह का घिनौना व्यवहार हुआ और मारपीट भी हुई है, वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। शराब घोटाले मामले में जमानत पर बाहर आए भ्रष्टाचारी संजय सिंह ने स्वयं इस घटना की पुष्टि करते हुए निंदनीय बताया और भर्त्सना की है।श्री भाटिया ने कहा कि सभी लोगों का मानना था कि अरविंद केजरीवाल नारी शक्ति के साथ समझौता नहीं करेंगे, लेकिन अपनी पार्टी की ही नेत्री के साथ दुर्व्यवहार होने या मारपीट होने पर उनकी अंतरात्मा से आवाज उठेगी और वह अपने निजी सहायक विभव कुमार के खिलाफ त्वरित कार्रवाई करेंगे। लेकिन, आज जो बातें सामने आई हैं वह बेहद चौंकाने वाली है। आज अरविंद केजरीवाल को उनके आवास पर महिला सांसद के साथ हुए दुर्व्यवहार पर कोई पछतावा नहीं है, उनकी पार्टी की महिला सांसद के साथ मारपीट होती है, तो कार्रवाई बहुत दूर की बात है, वे पश्चाताप भी नहीं कर रहे हैं।

श्री भाटिया ने कहा कि जब मीडिया ने बड़ी ईमानदारी से जज्बा दिखाते हुए केजरीवाल से सवाल पूछा है कि स्वाती मालीवाल के साथ जो हुआ है उस पर अरविंद केजरीवाल का क्या कहना है? तब अरविंद केजरीवाल सकपका गए और “आप” सांसद संजय सिंह ने माइक अपनी ओर कर अनर्गल बातें शुरू कर दी, मगर स्वाती मालीवाल के साथ हुए अभद्र व्यवहार के बारे में एक शब्द भी उनके मुँह से नहीं निकला। संजय सिंह ने इस प्रकरण में पार्टी स्तर पर या कानूनी स्तर पर दुर्व्यवहार करने वाले व्यक्ति के खिलाफ किसी भी तरह की कार्रवाई की कोई बात नहीं कही।श्री भाटिया ने कहा कि भाजपा ने एक स्वस्थ परंपरा को आगे बढ़ाया है। स्वाती मालीवाल विपक्षी पार्टी की नेत्री हैं, मगर उनको न्याय दिलाने की लड़ाई भाजपा लड़ रही है। दिल्ली और उत्तर प्रदेश सहित समूचे देश के लिए यह बहुत बड़ा संदेश है कि जब महिला सम्मान की बात आएगी, तो भाजपा दल गत राजनीति से ऊपर उठकर महिला को न्याय दिलाने की लड़ाई को लड़ेगी।

श्री भाटिया ने कहा कि स्वाती मालीवाल ने दुर्व्यवहार की घटना के बाद पुलिस में शिकायत की गयी थी, उस शिकायत में एक लाइन बहुत ही महत्वपूर्ण है, जिसमें लिखा गया है कि “लेडी कॉल करके बोल रही हैं कि मैं सीएम आवास पर हूँ, उन्होंने मुझे अपने पीए विभव कुमार से मुझे पिटवाया है।” इसका अर्थ स्पष्ट है कि श्री अरविंद केजरीवाल ने अपने पीए को आदेश दिया कि अपने ही पार्टी के महिला सांसद को पीटो और गाली दो। संविधान की शपथ लेने वाले मुख्यमंत्री श्री केजरीवाल द्वारा इस घटना पर एक शब्द भी नहीं कहना, बहुत ही पीड़ादायक और दुर्भाग्यपूर्ण है।उन्होंने कहा कि देश में लोकतंत्र का महापर्व चल रहा है और वोट की चोट के साथ श्री केजरीवाल कहीं ‘पॉलिटिकली एक्सपायर’ भी न हो जाएं। स्वाती मालीवाल किसी भी राजनीतिक दल से हो, मगर उनको न्याय मिलना चाहिए और अरविंद केजरीवाल को अपनी चुप्पी तोड़कर इस घटना पर अपना बयान देना चाहिए। अगर अरविंद केजरीवाल यह नहीं कर सकते हैं, तो उन्हें तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए। स्वाती मालीवाल के साथ दुर्व्यवहार को लेकर देश की महिलाएं आक्रोशित और अपमानित महसूस कर रही हैं, जिसके जिम्मेदार श्री केजरीवाल हैं।(वार्ता)

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button