NationalNewsState

22 मार्च रविवार को घर से बाहर न निकलें, जनता “जनता कर्फ्यू” का पालन करे- प्रधानमंत्री

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में देशवासियों से अपील की है कि कोरोना महामारी को हल्के में न लें और घर से बाहर निकलने से बचें तथा बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर जाएं। उन्होने देशवासियों से अपील की है कि वे 22 मार्च रविवार को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक घर में ही रहें और खुद “जनता कर्फ्यू” लगाकर उसका पालन करें। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि 60 वर्ष से ऊपर की उम्र के लोग कम से कम दो सप्ताह तक घर से बाहर निकलने से बचें। *PM मोदी की देश से अपील- कोरोना संकट में कोई काम पर ना आए तो सैलरी नहीं काटें
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर जारी संकट के बीच आज देश को संबोधित करते हुए देशवासियों से कई अपील की। इस दौरान उन्होंने उच्च आय वर्ग और व्यवसायियों से अपील की है कि अगर इस दौरान कोई काम पर नहीं आ पाए तो सैलरी नहीं काटें।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि संकट के इस समय में मेरा देश के व्यापारी जगत, उच्च आय वर्ग से भी आग्रह है कि अगर संभव है तो आप जिन-जिन लोगों से सेवाएं लेते हैं, उनके आर्थिक हितों का ध्यान रखें। उनकी सैलरी नहीं काटें।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं देशवासियों को इस बात के लिए भी आश्वस्त करता हूं कि देश में दूध, खाने-पीने का सामान, दवाइयां, जीवन के लिए ज़रूरी ऐसी आवश्यक चीज़ों की कमी ना हो इसके लिए तमाम कदम उठाए जा रहे हैं।
उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि प्रथम और द्वितीय विश्वयुद्ध में भी इतने देश प्रभावित नहीं हुए थे, जितना की कोरोना वायरस से हुए हैं। पूरा विश्व संकट से गुजर रहा है और हमें सतर्क रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह मानना गलत है कि भारत पर कोरोना वायरस का असर नहीं पड़ेगा, ऐसी महामारी में ‘हम स्वस्थ, जगत स्वस्थ मंत्र काम आ सकता है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close