International

रिश्तों के तीस सालः आसियान देशों के साथ और मजबूत होंगे भारत के रक्षा संबंध

नामपेन्ह । भारत और आसियान देशों के बीच रिश्तों के तीस साल पूरे होने पर कंबोडिया के सिएम रीप में आयोजित रक्षा मंत्रियों की बैठक में आसियान देशों के साथ भारत के रक्षा संबंधों को और मजबूत करने का संकल्प लिया गया। यह वर्ष आसियान-भारत मैत्री वर्ष के रूप में भी मनाया जा रहा है।

कंबोडिया के सिएम रीम में 22 व 23 नवंबर को आयोजित हो रही रक्षा मंत्रियों की बैठक में आसियान के सदस्य देशों के रक्षा मंत्रियों के साथ भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी भाग ले रहे हैं। उन्होंने सभी रक्षा मंत्रियों के साथ बैठक के बाद सामूहिक चित्र जारी करते हुए ट्वीट कर कहा कि भारत आसियान देशों के साथ ऐतिहासिक व बेहद मजबूत रणनीतिक साझेदारी रखता है। भारत आसियान के बहुआयामी मंचों के साथ जुड़ाव के मूल्य को भी गहराई से समझता है।

उन्होंने कहा कि भारत और आसियान देशों के बीच रक्षा संबंधों को और मजबूत करने के लिए सभी प्रयास किये जाएंगे। भारत अपनी क्षमताओं और अनुभवों का लाभ सभी देशों को देने और आपसी रिश्तों की मजबूती के लिए शुरू की गयी तमाम योजनाओं के अमल को लेकर प्रतिबद्ध है।

दस देश इंडोनेशिया, थाईलैंड, वियतनाम, लाओस, ब्रुनेई, फिलीपींस, सिंगापुर, कंबोडिया, मलेशिया और म्यांमार आसियान के सदस्य हैं। आसियान से भारत के संवाद संबंध 1992 में क्षेत्रीय साझेदारी की स्थापना के साथ शुरू हुए थे। दिसंबर 1995 में पूर्ण संवाद साझेदारी 2002 में शिखर स्तर की साझेदारी में परिवर्तित हुए। इन्हें 2012 में संबंधों के एक रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ाया गया था। 2017 से आसियान के रक्षा मंत्री सहयोग पर चर्चा करने के लिए सालाना बैठक कर रहे हैं। इसमें भारत भी शामिल है।

इससे पहले सिएम रीप पहुंचने पर राजनाथ सिंह का अंतरराष्ट्रीय नेताओं के साथ द्विपक्षीय वार्ताओं का सिलसिला भी चला। सबसे पहले उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के उपप्रधानमंत्री एवं रक्षा मंत्री रिचर्ड मार्लेस से द्विपक्षीय संवाद किया। राजनाथ एवं मॉर्लेस ने रक्षा संबंधों को बढ़ाने पर जोर दिया। दोनों नेताओं ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सहयोग को मजबूत करने के लिए अन्य अहम मसलों पर भी आगे बढ़ने की बात कही।

भारतीय रक्षा मंत्री ने अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड जे. ऑस्टिन तृतीय से भी मुलाकात की। दोनों नेताओं ने भारत-अमेरिका संबंधों को और मजबूत करने पर जोर दिया। राजनाथ सिंह और न्यूजीलैंड के रक्षा मंत्री पीनी हेनरे के बीच भी गर्मजोशी के साथ मुलाकात हुई। दोनों नेताओं ने भारत और न्यूजीलैंड के बीच रक्षा संबंधों को नई दिशा देने का संकल्प व्यक्त किया।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कंबोडिया के उप प्रधान मंत्री और राष्ट्रीय रक्षा मंत्री जनरल टीईए बान के साथ द्विपक्षीय बैठक की। दोनों मंत्रियों ने भारत और कंबोडिया के बीच साझा समृद्ध सांस्कृतिक और ऐतिहासिक संबंधों की चर्चा की और अंगकोरवाट को दोनों देशों के बीच लंबे समय तक चलने वाले संबंधों के प्रतीक के रूप में मान्यता दी।उल्लेखनीय है कि दोनों देश इस साल आपसी राजनयिक संबंधों के 70 साल भी मना रहे हैं। रक्षा मंत्री ने 2022 में आसियान की सफल अध्यक्षता के लिए कंबोडिया को बधाई दी।(हि.स.)

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: