Business

भारतीय महिला उद्यमी की कहानी, जो फोर्ब्स की सूची में हुई शामिल

समाज में यह धारणा प्रचलित है कि, उद्यम का क्षेत्र महिलाओं के लिए नहीं है। इसी धारणा को तोड़कर मिसाल कायम कर रही महिला उद्यमी का नाम है – अदिति गुप्ता। अदिति ने न केवल अपना उद्यम स्थापित किया, बल्कि ऐसे विषय को चुना, जिसे आमतौर पर समाज में वर्जित माना जाता है। अदिति मेंस्ट्रूपीडिया की संस्थापक है। आइये अदिति गुप्ता के नवाचार से परिचित होते हैं।

मेंस्ट्रूपीडिया की संस्थापक अदिति गुप्ता
झारखण्ड की रहने वाली अदिति गुप्ता ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजायनिंग से अपनी पढ़ाई पूरी की है। कॉलेज के दौरान ही एक प्रोजेक्ट के सिलसिले में उन्हें ग्रामीण बच्चियों से मिलने का मौका मिला और अदिति ने महिला स्वास्थ्य से जुड़े मुद्दों पर कुछ शोध किया। अदिति को अपने बचपन के अनुभव भी याद थे कि कैसे माहवारी के दौरान उन्हें कई निषेधाज्ञा का पालन करना पड़ता था। उनके साथ की लड़कियों को भी इस बारे में जानकारी नहीं थी, लेकिन कोई भी इस पर बात नहीं करना चाहता था। अदिति की स्मृति में यह सबकुछ था। पढ़ाई पूरी करते ही अदिति, माहवारी से संबंधित उचित और प्रामाणिक जानकारी उप्लब्ध करवाने का बीड़ा उठाया। इस तरह से मेंस्ट्रूपीडिया की नींव रखी गई। यह एक ऐसा मंच है, जिसके माध्यम से, व्यक्ति को माहवारी संबंधित सभी जानकारियां प्राप्त हो जाती है।

स्कूल में कार्यशाला लगाकर छात्राओं को करती हैं जागरूक
मेंस्ट्रूपीडिया की संस्थापक अदिति स्वयं विभिन्न स्कूलों में जाती हैं और कार्यशालाओं का आयोजन कर बच्चों को जागरूक करती हैं। कोरोना के चलते अभी वर्चुअल माध्यम से ये कार्यशालाएं आयोजित की जा रही हैं। बच्चियों को जागरूक करने के लिए मेंस्ट्रूपीडिया ने एक कॉमिक बुक भी बनाई है। यह कॉमिक बुक हिंदी, अंग्रेजी,मराठी,मलयालम,नेपाली और चीनी समेत विभिन्न भाषाओं में उपलब्ध है। विभिन्न विद्यालयों की मांग पर उन्हें ये कॉमिक बुक प्रदान किए जाते हैं। इस कॉमिक बुक में आसान भाषा मे माहवारी से संबंधित जानकारी दी गई है। छात्राओं को इस कॉमिक बुक के माध्यम से माहवारी को समझने में आसानी होती है।

अदिति फोर्ब्स की सूची में शामिल, इकोनॉमिक फोरम ने भी बुलाया
अदिति के इस उद्यम के लिए उन्हें चहुंओर से बधाई मिली है। राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई सम्मान उन्हें प्राप्त हुए हैं। अदिति फोर्ब्स की अंडर 30 सूची में शामिल हुई। सामाजिक जागरूकता से भरे उद्यम को देखते हुए अदिति गुप्ता को, विश्व आर्थिक मंच के एक कार्यक्रम सत्र में आमंत्रित किया। आर्थिक मंच के द न्यू चैंपियंस नामक एक कार्यक्रम में अदिति ने भाग लिया। विभिन्न पुरस्कार प्राप्त करने वाली अदिति कहती है, मुझे खुशी तब मिलती है जब कोई लड़की माहवारी के संबंध में पूरी तरह जागरूक हो जाती हैं और अपने दोस्तों को भी जागरूक करती हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close