Uttar Pradesh

” परिवार नियोजन में आधी आबादी आगे “

कोरोना काल में 115 महिलाओं ने कराई नसबंदी ,नसबंदी सेवा दिवस के लिए ब्लाक के हिसाब से तिथियाँ निर्धारित .

कुशीनगर । जिले में परिवार नियोजन में पुरुषों की तुलना में आधी आबादी आगे है। कोरोना काल के पांच माह में कुल 115 महिलाओं ने नसबंदी कराई है। सितम्बर माह में आयोजित होने वाले नसबंदी सेवा दिवस की ब्लाक के हिसाब से तिथियाँ निर्धारित कर दी गयी हैं। सेवा दिवस पर कोरोना प्रोटोकॉल का विशेष तौर पर पालन किया जा रहा है।नसबंदी के लिए पंजीकरण से पहले सघन स्क्रीनिंग की जा रही है। परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ. संजय गुप्ता का कहना है कि जिन लोगों का परिवार पूरा हो गया है वह बिना डरे नसबंदी का साधन अपनाने के लिए आगे आ सकते हैं। विभाग कोरोना के प्रति विशेष एहतियात बरत रहा है। किसी को घबराने की जरूरत नहीं है।
उन्होनें कहा कि जिनके परिवार अभी पूरे नहीं हुए हैं वह भी परिवार नियोजन के लिए अस्थायी विधियाँ अपना सकते हैं। इसके लिए आशा कार्यकर्ता व एएनएम द्वारा विशेष कर नव दंपतियों से संपर्क कर अस्थायी विधियों के बारे में जानकारी देकर सेवाएँ भी प्रदान की जा रही है। इसी के साथ नसबंदी कराने को इच्छुक लोगों का पंजीकरण भी किया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि 7 सितम्बर को मोतीचक में नसबंदी के लिए निर्धारित सेवा दिवस पर एक दर्जन महिलाओं ने नसबंदी कराई है। नसबंदी के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का विशेष तौर पर पालन किया गया।

सितंबर माह में सेवा दिवस की तिथियाँ

रामकोला में 9 व 24 को ,दुदही में 10, सुकरौली में 11, कप्तानगंज में 12, कसया व विशुनपुरा में 15,
कुबेरस्थान में 17, खड्डा में 21, फाजिलनगर में 22, मोतीचक में 25, तमकूहीराज में 28 तथा नेबुआ नौरंगिया में 29 सितम्बर को नसबंदी के लिए तिथियाँ निर्धारित की गयी है।

दो बच्चों में अंतर को 743 अपनाया अंतरा व 9522 ने छाया

एसीएमओ ने बताया कि 01 अप्रैल से 31अगस्त तक जहां दो बच्चों के अंतराल के लिए 743 महिलाओं ने परिवार नियोजन के लिए त्रैमासिक अंतरा इंजेक्शन लगवाया, वहीं 9522 महिलाओं ने साप्ताहिक गोली छाया का सहारा लिया है।
उन्होंने कहा कि यदि किसी महिला को अंतरा इंजेक्शन लगवाने से कोई समस्या हो तो वह अंतरा हेल्पलाइन नंबर 1800 103 3044 पर अपनी समस्या बताकर समाधान कर सकती है।

अन्य सेवाओं के लाभार्थी

आईयूसीडी-3110
पीपीआईयूसीडी-1844
कुल माला एन-13796
कुल इसी पिल्स-10056
कंडोम वितरण-118026

क्या है नसबंदी की विशेषता:-

-नसबंदी केवल उनके लिए सही है जिन्हें भविष्य में कोई बच्चा नहीं चाहिए।
-नसबंदी सरल, सुरक्षित और बहुत ही असरदार तरीका है ।
-बिना चीरा टाका वाला पुरुष नसबंदी एक छोटा सा आपरेशन है।
इसमें दोनों शुक्राणुओं की नलिकाओं को बाँध दिया जाता है।
-इसमें कुछ ही मिनट लगते हैं,चीरे और टाँके की जरूरत नही होती।
-इसमें कोई गंभीर शिकायत या परेशानी नहीं होती।
-पुरुष नसबंदी के बाद यौन इच्छा व क्षमता पहले की तरह बनी रहती है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close