NewsState

लापरवाह अधिकारियों को डीएम की चेतावनी

जिलाधिकारी ने लंबित से संदर्भों के निस्तारण की समीक्षा की, कहां कि एक सप्ताह के बाद किसी भी विभाग मे लंबित संदर्भ अनिस्तारित नहीं रहने चाहिए

प्रतिदिन डिफाल्टर एवं विभिन्न आयोगों के लम्बित प्रकरणों की समीक्षा करने का विभागीय अधिकारियों को दिया निर्देश

blank

वाराणसी, जनवरी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने सोमवार को कैंप कार्यालय सभागार में मा0 उच्च न्यायालय, मा0 आयोग एवं आई0जी0आर0एस0 के लम्बित प्रकरणों की समीक्षा के दौरान जनपद की रैंकिंग नीचे न आने पाये इसके लिए प्रतिदिन डिफाल्टर एवं विभिन्न आयोगों के प्रकरणों की समीक्षा करने के निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह के बाद कोई भी प्रकरण पेन्डिंग नहीं रहना चाहिए।
जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने मा0 मुख्यमंत्री संदर्भ एवं विभिन्न स्तरों से प्राप्त शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि जो भी प्रकरण निर्धारित समय के बाद भी निस्तारित नहीं हो रहे हैं अथवा डिफाल्टर श्रेणी में आ रहें उसके लिए जो भी अधिकारी/कर्मचारी इसके लिए दोषी हैं उनको नोटिस दी जाय तथा अगली समीक्षा बैठक में दिये गये नोटिस के विवरण के साथ उपस्थित हों। आई0जी0आर0एस0 पोर्टल पर सर्वाधिक नगर निगम के 83 मामले, धर्मार्थ कार्य के 06 मामले एवं परिवहन विभाग के 06 मामले डिफाल्टर श्रेणी में पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए एक सप्ताह में सभी को निस्तारित कराने का निर्देश दिया। मा0 उच्च न्यायालय के प्रकरणों में सी0ए0 दाखिल करने के प्रकरण की समीक्षा में तहसीलदार सदर 09, तहसीलदार पिण्डरा 12, तहसीलदार राजातालाब 07, तहसीलदार न्यायिक 09, उपजिलाधिकारी राजातालाब 14, उपजिलाधिकारी सदर 09, सहायक आयुक्त स्टाम्प-2 वाद लम्बित रहने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि 31 जनवरी से पहले सभी का निस्तारण अवश्य हो जाये तथा आगे से यह ध्यान रखा जाय कि कोई भी प्रकरण एक सप्ताह से अधिक पेन्डिंग न रहे।
बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुख्य विकास अधिकारी, समस्त अपर जिलाधिकारीगण, समस्त उपजिलाधिकारीगण सहित समस्त संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close