State

दिल्ली पुलिस ने सीएम रेड्डी को भेजा नोटिस, 1 मई को होगी पूछताछ

शाह के वीडियो से छेड़छाड़ पर पुलिस सख्त, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों को लिखा पत्र

नई दिल्ली । दिल्ली पुलिस ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी को गृह मंत्री अमित शाह के एडिटेड वीडियो को सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के मामले में पूछताछ के लिए बुलाया है। जारी किए नोटिस के मुताबिक सीएम रेड्डी समेत पांच लोगों को एक मई को दिल्ली बुलाया गया है। इन सभी ने वीडियो को सोशल मीडिया साइट एक्स पर पोस्ट किया था। सूत्रों के मुताबिक सीएम रेड्डी को पुलिस ने उस मोबाइल को भी साथ लाने को कहा है जिससे उन्होंने ये वीडियो एक्स पर पोस्ट किया था। बता दें कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने शनिवार को इस मामले में आईपीसी और आईटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज किया था।

अमित शाह के फर्जी वीडियो मामले में एक आरोपी गिरफ्तार

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से जु़ड़े फर्जी वीडियो के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। गिरफ्तार आरोपी का नाम रीतम सिंह है।दरअसल, सोशल मीडिया पर केंद्रीय मंत्री का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें छेड़छाड़ की गई है। वीडियो में शाह एससी-एसटी और ओबीसी आरक्षण खत्म करने की बात करते दिख रहे हैं। एक दिन पहले रविवार को शाह का फर्जी वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले लोगों को खिलाफ दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एफआईआर दर्ज की है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, गृह मंत्रालय ने मामले को गंभीरता से लिया है। स्पेशल सेल उन एक्स अकाउंट पर नजर रख रही है, जो इस वीडियो को पोस्ट कर रहे हैं। वीडियो डिलीट करने वाले भी जांच एजेंसियों के रडार पर हैं।

भाजपा ने दर्ज कराई आपत्ति, अमित मालवीय बोले- कार्रवाई के लिए तैयार रहें
भाजपा ने भी इस वीडियो के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में भाजपा ने बताया कि अमित शाह ने एससी-एसटी और ओबीसी आरक्षण को खत्म करने को लेकर कोई बात नहीं की है। वायरल वीडियो पूरी तरह से फर्जी है। उनके वीडियो के साथ छेड़छाड़ की जा रही है। भाजपा का कहना है कि मूल वीडियो में शाह ने तेलंगाना में मुसलमानों के लिए असंवैधानिक आरक्षण हटाने की बात कही थी। मामले में भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने कहा कि जिसने भी फर्जी वीडियो साझा किया है, वे कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

दिल्ली पुलिस अलर्ट, एक्स और फेसबुक से मांगी जानकारी
मामले में दिल्ली पुलिस एक्टिव हो गई है। पुलिस ने एक्स और फेसबुक को एक पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने जानकारी मांगी है कि दोनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से किस-किसने से गृहमंत्री शाह के फर्जी वीडियो को शेयर किया है।

शाह के वीडियो से छेड़छाड़ पर पुलिस सख्त, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों को लिखा पत्र

दिल्ली पुलिस ने एक्स और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्मों को पत्र लिखकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के छेड़छाड़ किए गए वीडियो के स्रोत के बारे में जानकारी मांगी है, जिसे ऑनलाइन साझा किया गया था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने रविवार को भारतीय साइबर क्राइम कोऑर्डिनेशन सेंटर (I4C) द्वारा शाह के छेड़छाड़ किए गए वीडियो के बारे में शिकायत दर्ज करने के बाद एक एफआईआर दर्ज की थी, जहां उनके बयान कोटा खत्म करने की प्रतिबद्धता का संकेत दे रहे थे।

तेलंगाना में धार्मिक आधार पर मुस्लिम समुदाय के लिए आरक्षण में बदलाव किया गया, ताकि ऐसा लगे कि वह सभी आरक्षणों को खत्म करने की वकालत कर रहे थे। स्पेशल सेल की इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रैटेजिक ऑपरेशंस (IFSO) यूनिट ने अब वीडियो के स्रोत और इसे फैलाने वालों की पहचान करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से संपर्क किया है।सूत्रों का कहना है, ‘हमने मामले की ठीक से जांच करने और मुख्य दोषियों को गिरफ्तार करने के लिए कई अलग-अलग टीमों का गठन किया है। हमने वीडियो के संबंध में एक्स, जिसे पहले ट्विटर के नाम से जाना जाता था, और अन्य सोशल मीडिया को लिखा है। हम वीडियो के स्रोत और इसके लिए जिम्मेदार लोगों दोनों की जांच कर रहे हैं।(वीएनएस)

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button