NationalUttar Pradesh

सीबीआई स्पेशल कोर्ट ने बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सभी आरोपियों को बरी किया

दिल्ली: बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में फैसला आने के बाद बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के घर के बाहर लड्डू बांटे गए।

लखनऊ । सीबीआई की विशेष अदालत नें 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में विवादित ढ़ाचा ढ़हाए जानें के मामलें में सभी आरोपियों को आज बरी कर दिया । विशेष अदालत के न्यायाधीश एस.के.यादव नें अपने फैसले में कहा कि ढ़हाए जाने की घटना पूर्व नियोजित नहीं थीं । उन्होंने कहा कि आरोपियों के खिलाफ पुख्ता सबूत नहीं मिलें हैं । आरोपियों नें उन्मादी भीड़ को रोकने की भरपूर कोशिश की थीं ।

सभी आरोपी बरी कर दिए गए हैं, साक्ष्य इतने नहीं थे कि कोई आरोप साबित हो सके: बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले पर विमल श्रीवास्तव, लाल कृ​ष्ण आडवाणी के वकील

स्पेशल कोर्ट का आज का निर्णय अत्यंत महत्वपूर्ण है, जब ये समाचार सुना तो जय श्री राम कहकर इसका स्वागत किया: बाबरी ​मस्जिद विध्वंस मामले के फैसले पर लाल कृष्ण आडवाणी, बीजेपी

कोर्ट ने आरोपियों को बरी कर दिया है ये अच्छी बात है, हम इसका सम्मान करते हैं: इकबाल अंसारी, बाबरी मस्जिद के पक्षकार
2019 में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के मुताबिक बाबरी मस्जिद को गिराया जाना एक गैरकानूनी अपराध था लेकिन विशेष अदालत ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया। विशेष अदालत का निर्णय साफ तौर से सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के प्रतिकूल है: रणदीप सुरजेवाला, कांग्रेस
खनऊ की विशेष अदालत द्वारा बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में लालकृष्ण आडवाणी,कल्याण सिंह, डॉ.मुरली मनोहर जोशी, उमाजी समेत 32 लोगों के किसी भी षड्यंत्र में शामिल न होने के निर्णय का मैं स्वागत करता हूँ। इस निर्णय से यह साबित हुआ है कि देर से ही सही मगर न्याय की जीत हुई है:रक्षा मंत्री
निर्णय इस बात को सिद्ध करता है कि 6 दिसंबर को अयोध्या में हुई घटनाओं के लिए कोई षड्यंत्र नहीं था और वो अचानक हुआ। इसके बाद विवाद समाप्त होना चाहिए और सारे देश को मिलकर भव्य राम मंदिर के निर्माण के ​लिए तत्पर होना चाहिए: बाबरी विध्वंस मामले के फैसले पर मुरली मनोहर जोशी, बीजेपी
सत्यमेव जयते! CBI की विशेष अदालत के निर्णय का स्वागत है। तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा राजनीतिक पूर्वाग्रह से ग्रसित हो पूज्य संतों,बीजेपी नेताओं, विहिप पदाधिकारियों, समाजसेवियों को झूठे मुकदमों में फंसाकर बदनाम किया गया। इस षड्यंत्र के लिए इन्हें जनता से माफी मांगनी चाहिए:UP CM 
न्यायालय ने जो कहा है कि ये कोई साजिश नहीं थी, ये ही निर्णय अपेक्षित था। हमें उस एपिसोड को भूल जाना चाहिए,अब अयोध्या में राम मंदिर बनने जा रहा है। अगर बाबरी का विध्वंस नहीं होता तो आज जो राम मंदिर का भूमिपूजन हुआ है वो दिन हमें देखने को नहीं मिलता: संजय राउत, शिवसेना
बाबरी केस में 28 वर्षों के बाद आज जिस तरह से पूरे देश ने देखा कि आज फिर एक बार न्याय की जीत हुई है। हम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं और जो इस केस में आरोपी थे उन सभी को बधाई देते हैं। उन्होंने कोर्ट में जाकर ये बता दिया कि अभी भी न्याय का राज है, कानून का राज है: मोहसिन रज़ा
तत्कालीन कांग्रेस की सरकार ने पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर हमारे संत, महात्मा, वरिष्ठ नेतागण पर झुठे आरोप लगाए थे, वो आरोप निर्मूल (बेबुनियादी) साबित हुए हैं। हम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हैं: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
CBI कोर्ट का आज का ये फैसला भारत की अदालत की तारीख का एक काला दिन है। सारी दुनिया जानती है कि बीजेपी, RSS, विश्व हिन्दू परिषद, शिवसेना और कांग्रेस पार्टी की मौजूदगी में विध्वंस हुआ। इसकी जड़ कांग्रेस पार्टी है, इनकी हुकूमत में मूर्तियां रखी गईं: असदुद्दीन ओवैसी, AIMIM प्रमुख
मैं उम्मीद करता हूं कि सीबीआई अपनी स्वतंत्रता के लिए अपील करेगा, नहीं करेगा तो मैं ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के ज़िम्मेदारों से गुजारिश करूंगा कि वो इस फैसले के खिलाफ अपील करें: असदुद्दीन ओवैसी, AIMIM प्रमुख
Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close