Crime

हंदवाड़ा मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर,ऑपरेशन में सेना के 2 अफसर समेत 5 जवान भी शहीद

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने हंदवाड़ा में शहीद हुए सैनिकों और सुरक्षाकर्मियों को श्रद्धांजलि दी

श्रीनगर, । जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादियों को मौत के घाट उतारने के बाद भारत के पांच जवान शहीद हो गए। उत्तर कश्मीर के हंदवाड़ा में रविवार को आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में एक कर्नल, एक मेजर, सेना के दो जवान और पुलिस सब इंस्पेक्टर शहीद हो गए हैं। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी। अधिकारियों ने रविवार को बताया कि हंदवाड़ा के चांजमुल्ला इलाके में हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी भी मारे गए। बताया जा रहा है कि शनिवार को हंदवाड़ा के चांजमुल्ला इलाके में करीब 3.30 बजे एनकाउंटर शुरू हुआ, जिसके बाद दो आतंकी मारे गए। यह इलाका उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिले का हिस्सा है।

सूत्रों के मुताबिक, कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज, एक लांस नायक, एक राइफलमैन और पुलिस उप-निरीक्षक शकील काज़ी शनिवार दोपहर बाद हुई मुठभेड़ में आतंकियों से लोहा लेते वक्त शहीद हो गए। अधिकारियों ने बताया कि सेना के ये अधिकारी आतंकवादियों द्वारा बंधक बनाए गए नागरिकों को बचाने जा रही टीम का नेतृत्व कर रहे थे।

दरअसल, शनिवार को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में चलाए गए आतंकवाद विरोधी अभियान के दौरान दो अधिकारियों सहित सुरक्षा बल के पांच जवानों के लापता हो जाने की खबर थी। मगर रविवार को पुष्टि हो गई कि ये जवान शहीद हो गए हैं। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा के चांजमुल्ला इलाके में शुक्रवार को तलाश अभियान चलाया। उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों ने इलाके में कड़ी तलाशी और छानबीन की।

सेना के सूत्रों ने बताया था कि सुरक्षा बलों के पांच जवान लापता हो गए, क्योंकि उनसे संपर्क टूट गया। लापता कर्मियों का पता लगाने के लिए तलाश अभियान शुरू किया गया, जबकि आतंकवादियों को खत्म करने के लिए ऑपरेशन अभी जारी है। वहीं, एक अन्य अभियान में, दक्षिण कश्मीर स्थित जिले के दंगेरपुरा इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी जिसके बाद आज तड़के सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी की और तलाश अभियान चलाया। उन्होंने बताया कि जब सुरक्षाबल इलाके में तलाशी अभियान चला रहे थे तभी वहां छिपे आतंकवादियों ने उन पर गोलियां चलानी शुरू कर दी।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हंदवाड़ा में शहीद हुए हमारे साहसी सैनिकों और सुरक्षाकर्मियों को श्रद्धांजलि। उनकी वीरता और बलिदान को कभी भी भुलाया नहीं जा सकेगा। इन सभी ने अत्यंत समर्पण भाव के साथ राष्ट्र की सेवा की और हमारे नागरिकों की रक्षा के लिए अथक प्रयास किए। उनके परिवारों और मित्रों के प्रति गहरी संवेदना।’  

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close