Uttar Pradesh

तेज हो विकास संबंधी काम, विस्तारित एयरपोर्ट के लिए करें जमीन का इंतज़ाम : मुख्यमंत्री

गोरखपुर सर्किट हाउस के एनेक्सी भवन में सीएम ने अधिकारियों संग की समीक्षा बैठक

गोरखपुर । प्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को यहां सर्किट हाउस के एनेक्सी भवन सभागार में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक करते हुए निर्देश दिया कि जो भी निर्माण कार्य/विकास कार्य हो रहे हैं उनको समयबद्धता एवं गुणवत्ता के साथ पूर्ण करें। मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों को एयरपोर्ट के लिए जमीन तलाशने का भी निर्देश दिया ताकि विकास कार्यों को मुकम्मल एयर कनेक्टिविटी का लाभ मिल सके। बता दें कि अभी गोरखपुर का सिविल एयरपोर्ट वायुसेना की जमीन में है। सरकार की योजना इसे अन्यत्र कर विस्तारित करने की है।

बैठक के दौरान सीएम श्री योगी ने जंगल कौड़िया से मोहद्दीपुर फोरलेन, सोनौली नौतनवां, गोरखपुर-देवरिया फोरलेन गोरखपुर-वाराणसी फोरलेन मार्ग की निर्माण की समीक्षा करते हुए कार्य में गति लाने का निर्देश दिया। उन्होंने गोरखपुर देवरिया मार्ग को 15 दिसम्बर 2020 तक पूर्ण करने का भी निर्देश दिया । मुख्यमंत्री ने जल निगम के द्वारा कराये जा रहे सिवरेज कार्य की प्रगति के बारे में जानकारी लेते हुए निर्देश दिये कि श्रमिको की संख्या बढ़ाकर कार्य समय से पूर्ण कराया जाये। सड़क निर्माण में जमीन अधिग्रहण का जो भी मुआवजा बाकी है उसे शीघ्रता से वितरित करायें। उन्होंने विद्युत विभाग के द्वारा जर्जर तारों को बदलने के लिए 11 करोड़ की लागत से होने वाले कार्यों की प्रगति की समीक्षा करते हुए कार्य को शीघ्र आरम्भ करने का निर्देश दिये।

उन्होंने मुख्य अभियंता विद्युत को निर्देशित किया कि जनपद में बनने वाले विद्युत सब स्टेशनों के लिए जमीन की उपलब्धता सुनिश्चित करते हुए कार्य को शीघ्र आरम्भ कराया जाये। प्राणी उद्यान के निर्माण की प्रगति की समीक्षा करते हुए विद्युत के कार्यों को 30 नवम्बर 2020 तक पूर्ण कराने का निर्देश दिये। मुख्यमंत्री  ने जनपद में जलजमाव की स्थिति एवं वसुंधरा मोड़ से तुर्रा नाले के निर्माण की स्थिति समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि कार्य को समय से पूरा किय जाये तो रिवाइज स्टीमेट की स्थिति नही होगी। उन्हांेने रामगढ़ताल से तरकुलानी रेग्युलेटर तक के नाले तथा गोड़धोइया नाले की सफाई कराने का निर्देश दिया।

उन्होंने प्रेक्षागृह के निर्माण की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि प्रेक्षागृह के कार्य पूर्ण होने के उपरान्त वहां पर लगातार सांस्कृतिक गतिविधियां संचालित रहे इसके लिए अभी से कार्ययोजना बना लिया जाये। उन्होंने रामगढ़ताल में वाटर स्पोर्टस काम्पलेक्स के निर्माण के प्रगति की समीक्षा करते हुए दिसम्बर तक कार्य पूर्ण करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री  ने रामगढ़ताल में बोल्डर पीचिंग की जानकारी लेते हुए निर्देश दिया कि रामगढ़ताल में नियमित सफाई की व्यवस्था बनाई जाये। उन्होंने राप्ती नदी पर राजघाट एवं रामघाट पर हो रहे सौन्दर्यीकरण कार्यों को दिसम्बर तक पूर्ण करने का निर्देश दिया। उन्होंने तरकुलानी रेग्युलेटर के निर्माण की समीक्षा करते हुए 15 जून 2021 तक कार्य को पूर्ण करने का निर्देश दिये। उन्होंने पर्यटन विभाग द्वारा कराये जा रहे शहीद स्मारकों एवं विभिन्न जगहों पर सौन्दर्यीकरण के कार्यों की समीक्षा की और कार्य को समय से पूर्ण करने का निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री ने धान खरीद की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि किसानों को उनके उपज का सही मूल्य मिले, किसी भी दशा में न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम में खरीद न हो और क्रय केन्द्र पूरी तरह से संचालित रहे और सभी क्रय केन्द्रों पर कर्मचारियों की उपस्थिति भी सुनिश्चित हो। उन्होंने कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए किये जा रहे कार्यों के बारे में जानकारी लेते हुए निर्देश दिये कि ज्यादा से ज्यादा जांच सुनिश्चित की जाये तथा कान्टेक्ट टेªसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होंने कहा कि आईसीसीसी लगातार कार्य करे, पर्व व त्यौहारों के दृष्टिगत अतिरिक्त सावधानी रखी जाये तथा सर्विलान्स को और बेहतर बनाया जाये।  उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमितों के इलाज में किसी प्रकार की लापरवाही न हो, डाक्टर नियमित रूप से राउंड लगाये।

उन्होंने कहा कि कन्टेनमेन्ट जोन को छोड़कर सभी जगहों पर सभी गतिविधियो संचालित हो तथा लोगों में जन जागरूकता के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से प्रचार भी किया जाये, ग्रामीण क्षेत्रों में भी जागरूकता के लिए लगातार कार्य किया जाये। उन्होंने वेटनरी कालेज के निर्माण, सैनिक स्कूल के निर्माण, आयुष विश्वविद्यालय के निर्माण एवं जनपद के अन्य निर्माण कार्यों के बारे में समीक्षा की। इसके पश्चात मुख्यमंत्री ने ट्रांसपोर्ट नगर स्थिति बाबा मुक्तेश्वरनाथ मंदिर परिसर का निरीक्षण कर वहां पर कराये जा रहे सौन्द्रर्यीकरण के कार्यों के प्रगति को देखा तथा निर्देश दिया कि कार्य को समयबद्ध ढंग से पूर्ण किया जाये एवं मंदिर परिसर में आवंला का पौध रोपण किया। इस अवसर पर डी.जी. पर्यटन, रवि कुमार एनजी, मण्डलायुक्त जयन्त नार्लिकर, जिलाधिकारी के0 विजयेन्द्र पाण्डियन सहित विभिन्न अधिकारी उपस्थित रहे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close