CrimeUttar Pradesh

बदमाशों ने महिला शिक्षामित्र की गला कसकर की हत्या, आभूषण लूटकर फरार

चारपाई पर हाथ—पैर बंधा व मुंह में कपड़ा ठूसा हुआ महिला का शव मिला . मृतका के मुंह व नाक से निकल रहा था खून . पुलिस ने शव का कराया पोस्टमार्टम . सीओ चुनार ने मामले की छानबीन की . डाग स्क्वायड व फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची . घर में अकेली थी मृतका, बच्चे वाराणसी व लखनऊ में रहते हैं .

मिर्जापुर । जिले के अदलहाट थाना क्षेत्र के डेहरी गांव में चोरी की नियत से घर में घुसे बदमाशों ने महिला शिक्षामित्र की गला कसकर हत्या कर दी। इसके बाद घर में रखा आभूषण लूटकर फरार हो गए। साथ ही मृतका के पहने हुए आभूषण भी निकाल लिए। सुबह जब वाराणसी से पुत्री घर पहुंची तो कमरे में मां का शव देख हैरान हो गयी। मृतका का हाथ—पैर चारपाई में बंधा व मुंह में कपड़ा ठूंसा हुआ था। शव कपड़े से ढका था। सूचना पर पहुंची अदलहाट थाने की पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सीओ चुनार सुशील कुमार यादव, डाग स्क्वायड व फोरेंसिक टीम के साथ पहुंच कर पड़ताल की। पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या व चोरी का मामला दर्ज कर तलाश में जुट गयी है।

blank
डेहरी गांव निवासी 46 वर्षीय विजयलक्ष्मी पत्नी चंद्रशेखर दो दिन से घर में अकेली थी। वह गांव के प्राथमिक विद्यालय में शिक्षामित्र थी। पति लेखपाल है। इन दिनों छानबे ब्लाक के जिगना इलाके में ड्यूटीरत है। सोमवार की रात चोरी की नियत से घर में घुसे बदमाशों ने महिला शिक्षामित्र की गला कसकर हत्या कर घर में रखा आभूषण व अन्य सामान उठा ले गए। सुबह लगभग ग्यारह बजे वाराणसी से पुत्री जब घर पहुंची तो अंदर से दरवाजा बंद था। काफी देर बाद भी आवाज देने पर दरवाजा नहीं खुला। तब पुत्री ने घर के पीछे से चहारदीवारी फांद कर अंदर पहुंची तो देखा कि उसकी मां चारपाई पर पड़ी थी। उसके हाथ—पैर कपड़े से बंधे हुए थे। मुंह में कपड़ा ठूंसा हुआ था। गले पर कपड़ा पड़ा था। मुंह व नाक से खून निकल रहा था। पुत्री ने हाथ पैर खोलकर मां को चारपाई से उठाया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। घर में सारा सामान भी बिखरा पड़ा था। घटना की जानकारी होते आस—पास के लोगों की भीड़ जुट गयी। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची अदलहाट पुलिस ने शव कब्जे में ले लिया। डाग स्क्वायड व फोरेंसिक टीम भी पहुंच गई। सीओ चुनार ने मामले की छानबीन की। लेकिन अज्ञात बदमाशों का कुछ पता नहीं चल सका। मृतका की पुत्री अनुष्का रंजन ने बताया कि घर से आभूषण गायब हैं। साथ ही बदमाश मां की हत्या के बाद उनके पहने आभूषण भी चुरा ले गए। मृतका के पति की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ चोरी व हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

मृतका को दो पुत्र व एक पुत्री हैं

मृतका विजयलक्ष्मी के दो पुत्र व एक पुत्री है। पुत्री अनुष्का रंजन वाराणसी में रहकर बीएससी कर रही है। छोटा भाई अर्पित आनंद भी अनुष्का के साथ रहकर पढ़ाई करता है। जबकि पुत्र वीरेश आनंद लखनऊ से बीटेक करने के बाद तैयारी कर रहा है।

बदमाशों के बरामद टी—शर्ट कब्जे में लिया

घटनास्थल से बरामद बदमाशों के टी—शर्ट को फोरेंसिक टीम ने कब्जे में ले लिया है। बदमाशों ने अपने टी—शर्ट से महिला शिक्षामित्र के हाथ बांध दिए थे। हत्या की गुत्थी को सुलझाने के लिए पहुंची फोरेंसिक टीम ने घटना स्थल पर बिखरे सामानों की गहराई से जांच की। सैम्पल लेकर जांच के लिए भेज दिया है। जिससे घटना का पर्दाफास हो सके।

चंदौली मायके से पहुंचा परिवार

बेटी की मौत की खबर सुनते ही मायके में कोहराम मच गया। सूचना मिलते ही चंदौली जिले के सकलडीहा स्थित सेवखर खुर्द गांव से भाई व भाभी के साथ काफी संख्या में परिजन घर पहुंच थे। मृतक दो भाई व चार बहनों में सबसे छोटी थी।

रविवार को बच्चे घर से गए थे वाराणसी

मृतका के बेटे व बेटियां रविवार को प्रायोगिक परीक्षाओं की तैयारी के लिए वाराणासी गये थे। वहीं पर रहकर माँ के सपने को पूरा करना चाहते थे। लेकिन उन्हें क्या पता था कि मां के साथ ऐसी घटना हो जाएगी। कोरोना के चलते वह लाकडाउन में कई महीनों तक मां के साथ ही रहते थे। लाकडाउन खुलने के बाद वें परीक्षा की तैयारी के दो दिन पहले वाराणसी गए थे।

बेटी अनुष्का ने मांगा इंसाफ

माँ के चले जाने का दर्द वहीं जनता है, जो माँ का आँचल पकड़कर चलना सीखा हो। उसी दर्द से बेटी अनुष्का ने प्रशासन से अपनी माँ के लिए इंसाफ मांग रही थी। जिसने अपनी आंखों से माँ का चारपाई में हाथ, पैर बंधा व गर्दन कपड़े से कसा देखा हो। उस बेटी के दर्द को अब समझने वाला कोई नहीं। वह अब प्रशासन से इंसाफ मांग रही है। हत्यारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए।

सूचना पर पहुंचे अध्यापक

गांव के प्राथमिक विद्यालय में शिक्षामित्र के रुप में शिक्षिका रही विजय लक्ष्मी के मौत की सूचना मिलते ही विद्यालय के बच्चों अध्यापकों में शोक की लहर दौड़ उठी। सभी लोग घर की ओर दौड़ पड़े। अध्यापकों ने पहुंचकर शोक संवेदना व्यक्त की।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close