CrimeState

एसआईटी ने पकड़े ‘लव जिहाद’ के 12 मामले

कानपुर : कानपुर में कथित ‘लव जिहाद’ की जांच के लिये गठित विशेष अनुसंधान दल (एसआईटी) ने विवाह के लिये धर्म परिवर्तन कराने के अब तक करीब एक दर्जन मामले पकड़े हैं और वह इसके पीछे किसी संगठन की भूमिका की आशंका के कोण से भी जांच कर रहा है।

एक अधिकारी ने सोमवार को बताया कि अपर पुलिस अधीक्षक (दक्षिणी) दीपक भूकर की अगुवाई वाली एसआईटी ने हाल में ‘लव जिहाद’ के एक दर्जन से ज्यादा मामले पकड़े हैं। खासकर जूही इलाके में ऐसे प्रकरणों की तादाद ज्यादा है। एसआईटी अब इस बात की भी जांच करेगी कि कहीं इस ‘लव जिहाद रैकेट’ में किसी कथित इस्लामी संगठन की भूमिका तो नहीं है।

करीब एक पखवाड़े पहले शालिनी यादव मामला सुर्खियों में छाये रहने के बाद कुछ हिन्दूवादी संगठनों के लोगों ने कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल से मुलाकात करके ‘लव जिहाद’ के मामलों की जांच किये जाने की मांग की थी जिसे स्वीकार करते हुये आठ सदस्यीय एसआईटी का गठन किया गया था।

यह एसआईटी हिन्दू लड़कियों को बरगलाकर कथित रूप से शादी के बहाने उनका धर्म परिवर्तन कराने वाले गिरोह के काम करने के तरीकों तथा अन्य पहलुओं की जांच के लिये गठित की गयी है। लव जिहाद या रोमियो जिहाद का मतलब कथित रूप से मुस्लिम पुरुषों द्वारा गैर-मुस्लिम समुदायों की महिलाओं को इस्लाम कुबूल कराने के लिए लक्षित करके प्रेम का ढोंग रचने से है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में हाल में कुछ लड़कियों को शादी के नाम पर धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम बनाने की कथित घटनाओं पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि सरकार किसी भी तरह का ‘लव जिहाद’ बर्दाश्त नहीं करेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार मृत्युजंय कुमार ने हाल में कहा था कि हिंदू बेटियों पर शादी के बहाने अत्याचार के खिलाफ सख्त कदम उठाये जायेंगे।

कुमार ने एक ट्वीट में कहा था कि योगी सरकार हिंदू बेटियों पर शादी के बहाने अत्याचार के खिलाफ सख्त कदम उठायेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहले ही कहा था कि सरकार किसी भी प्रकार का लव जिहाद बर्दाश्त नहीं करेगी।

पिछले माह लखीमपुर खीरी जिले में एक किशोरी की बलात्कार के बाद हत्या के मामले में पुलिस ने दिलशाद नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार किया। पुलिस का दावा है कि मोबाइल का कॉल रिकार्ड खंगालने पर पता चला कि लड़की के दिलशाद से संबंध थे, लेकिन उसके परिवार ने उसकी शादी कहीं और तय कर दी थी। लड़की ने दिलशाद के परिवार से अलग होने की बात नही मानी थी, जिसकी वजह से लड़की की हत्या कर दी गयी ।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close