NationalPolitics

भ्रष्टाचार का महिमामंडन, कांग्रेस के खात्मे की चिट्ठी: मोदी

भ्रष्टाचार से लड़ाई जारी रहेगी, जिन्होंने देश को लूटा है, उन्हें लौटाना पड़ेगा।

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर देश की बदहाली और भ्रष्टाचार को महिमामंडित करने का आरोप लगाया और कहा कि वह विपक्षी ‘नामदारों’ के ताने सुनते रहेंगे लेकिन कामदारों के साथ देश को आगे बढ़ाने, भ्रष्टाचार से लड़ने में लगे रहेंगे।श्री मोदी ने संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर करीब 14 घंटे तक चली चर्चा का जवाब देते हुए कांग्रेस पर जबरदस्त प्रहार किये। सत्रहवीं लोकसभा में प्रधानमंत्री का यह आखिरी भाषण था। श्री मोदी ने यह भी दावा किया कि अगले लोकसभा चुनावाें में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को 400 से अधिक सीटें मिलेंगी लेकिन भाजपा को भी 370 सीटें अवश्य प्राप्त होंगी।

उन्होंने कहा कि देश के लोगों को पंडित जवाहर लाल नेहरू और कांग्रेस की गलतियों की बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ी है और हम इसे सुधारने के लिये काम करते रहेंगे क्योंकि हमारे लिये ‘राष्ट्र प्रथम’ है।उन्होंने कहा कि भारत के लिये यह बहुत बड़ा अवसर और नये आत्मविश्वास से आगे बढ़ने का मौका है। इसके लिये हम कंधे से कंधा मिला कर आगे बढ़ने के लिये तत्पर हैं। उन्होंने कहा, “ये नामदार कुछ भी कहें, कामदारों को सुनना पड़ता है। हम सुनते भी रहेंगे और देश को आगे भी बढ़ाते रहेंगे।”इससे पहले उन्होंने कहा कि आज विपक्ष की जो हालत है, इसकी सबसे बड़ी दोषी कांग्रेस पार्टी है। कांग्रेस को एक अच्छा विपक्ष बनने का बहुत बड़ा अवसर मिला था, लेकिन 10 वर्षों में ये उस दायित्व को निभाने में भी विफल हो गये। कांग्रेस की जो मानसिकता है, जिसका देश को बहुत नुकसान हुआ है। कांग्रेस ने देश के सामर्थ्य पर कभी विश्वास नहीं किया, इसके नेता अपने आप को शासक मानते रहे और जनता-जनार्दन को कमतर आंकते गये।

श्री मोदी ने अपने संबोधन में कांग्रेस बनाम बाकी विपक्ष बनाने की कोशिश की। मोदी का सारा निशाना कांग्रेस पर रहा और वे क्षेत्रीय दलों पर नरम दिखे। कांग्रेस पर न सिर्फ विपक्ष का दायित्व निभाने में विफल होने का आरोप लगाया बल्कि यहां तक कहा कि विपक्ष में जो होनहार लोग थे, उन्हें भी उभरने नही दिया। मोदी ने कांग्रेस और इंडी गठबंधन के साथियों में हो रही खींचतान पर भी तंज कसा और कहा कि इन्हें अपने इस कुनबे में एक दूसरे पर विश्वास नहीं है तो ये लोग देश पर कैसे विश्वास करेंगे। श्री मोदी ने संसद में परिवारवाद पर गहरा प्रहार किया। उन्होंने पहली बार विपक्ष के इस आरोप का भी जवाब दिया कि भाजपा में भी कई परिवार के लोग हैं। श्री अमित शाह या श्री राजनाथ सिंह के पुत्रों को लेकर विपक्ष भाजपा पर आरोप लगाता रहा है कि भाजपा को अपना परिवारवाद नहीं दिखता।

श्री मोदी ने कहा,“ नौ दिन चले, ढाई कोस…ये कहावत पूरी तरह कांग्रेस को परिभाषित करती है। कांग्रेस की सुस्त रफ्तार का कोई मुकाबला नहीं है। आज देश में जिस रफ्तार के साथ काम हो रहा है, कांग्रेस सरकार इस रफ्तार की कल्पना भी नहीं कर सकती। हमने गरीबों के लिए चार करोड़ घर बनाये, इसमें से 80 लाख पक्के मकान शहरी गरीबों के लिये बने। अगर कांग्रेस की रफ्तार से काम हुआ होता तो इतना काम होने में 100 साल लगते, 10 पीढ़ियां बीत जातीं। 10 वर्ष में 40 हजार किलोमीटर रेलने ट्रैक का विद्युतीकरण हुआ है। अगर कांग्रेस की रफ्तार से देश चलता तो इस काम को करने में 80 साल लग जाते। हमने 17 करोड़ से अधिक गैस कनेक्शन दिए हैं, अगर कांग्रेस की रफ्तार से चलते तो इस काम को करने में और 60 साल लग जाते हैं। तीन पीढ़ियां धुयें में खाना बनाने-बनाते गुजर जाती।

”श्री मोदी ने प्रथम प्रधानमंत्री पं जवाहर लाल नेहरू के भाषणों के कई उद्धरण देते हुये कहा कि नेहरू जी की भारतीयों के प्रति सोच थी कि भारतीय आलसी हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का विश्वास हमेशा एक परिवार पर रहा है। एक परिवार के आगे न कुछ सोच सकते हैं और न ही कुछ देख सकते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की सोच भी ऐसी ही थी। कांग्रेस को देश के सामर्थ्य पर कतई विश्वास नहीं है। उन्होंने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के 2014 के अंतरिम बजट के भाषण के हवाले से कहा कि भारत के 11वीं अर्थव्यवस्था बनने पर कांग्रेस को गर्व था लेकिन आज पांचवीं अर्थव्यवस्था बनने का मजाक उड़ाती है। कांग्रेस की सरकार 2044 में तीसरी अर्थव्यवस्था बनाने के लिए काम कर रही थी। उन्होंने दावा किया कि उनके तीसरे कार्यकाल में भारत दुनिया की तीसरी अर्थव्यवस्था बन जायेगा, यह मोदी की गारंटी है।

उन्होंने कहा कि हमने अपने पहले कार्यकाल में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के समय के जो गड्ढे थे, उस गड्ढे को भरने काफी समय और शक्ति लगायी गयी। हमने अपने दूसरे कार्यकाल में नये भारत की नींव रखी और तीसरे कार्यकाल में हम विकसित भारत के निर्माण को नयी गति देंगे। उन्होंने कहा कि दूसरे कार्यकाल में देश की जनता की बहुत पुरानी आकांक्षाओं को पूरा किया। अनुच्छेद 370 को हटते देखा। नारीशक्ति वंदन अधिनियम लाये। अंतरिक्ष से ओलंपिक तक और सशस्त्र बलों से लेकर संसद तक नारीशक्ति की धूम है। अंग्रेजी सरकार के दंडात्मक कानून खत्म करके न्याय संहिता को लाया गया। गांव-गांव में विकसित भारत का सपना देखा गया। उन्होंने अयोध्या में राममंदिर का उल्लेख करते हुये कहा कि भगवान न सिर्फ अपने घर में लौटे हैं। बल्कि ऐसे मंदिर का निर्माण हुआ है जो भारत की सांस्कृतिक परंपराओं को एक हजार साल तक ताकत देता रहेगा।

उन्होंने कहा, “अब हमारी सरकार का तीसरा कार्यकाल भी बहुत दूर नहीं है। ज्यादा से ज्यादा 100-125 दिन बाकी हैं और पूरा देश कह रहा है… अबकी बार 400 पार।” उन्होंने कहा कि उनकी तीसरे कार्यकाल की सरकार देश को एक हजार साल की मजबूत नींव रखने के लिये काम करेगी।श्री मोदी ने अपने 10 साल के कार्यकाल की कई उपलब्धियों का भी जिक्र किया। अलग- अलग योजनाओं में क्या क्या किया और कितनों को लाभ मिला इसका जिक्र किया। इस प्रकार से उन्होंने अपनी सरकार के दस साल के कार्यकाल का पूरा रिपोर्ट कार्ड पेश किया। उन्होंने कांग्रेस पर कर्पूरी ठाकुर के साथ अनुचित व्यवहार करने एवं अतिपिछड़ों से नफरत करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि 10 साल पहले संसद में घोटालों का जिक्र होता था और आज कांग्रेस भ्रष्टाचारियों के विरुद्ध कार्रवाई को लेकर बचाव कर रही है।

उन्होंने भ्रष्टाचारियों का महिमा मंडन किये जाने पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि ये महिमा मंडन उनके खात्मे की चिट्ठी है। एजेंसियां स्वतंत्रता से काम कर रही हैं, जिनको जितना जुल्म करना है, कर लें। उनकी भ्रष्टाचार से लड़ाई जारी रहेगी। जिन्होंने देश को लूटा है, उन्हें लौटाना पड़ेगा।(वार्ता)

यूपी का बजट 2024-25:सीएम योगी ने श्रीरामलला को समर्पित किया अबतक का सबसे बड़ा बजट

VARANASI TRAVEL VARANASI YATRAA
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: