NewsPoliticsState

मायावती बोलीं, लखनऊ विश्वविद्यालय में सीएए को पाठ्यक्रम में शामिल करना अनुचित, सत्ता में आने पर वापस लिया जाएगा

लखनऊ, जनवरी । बसपा प्रमुख मायावती ने शुक्रवार ट्वीट कर नागरिकता संशोधन कानून लखनऊ विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रम में शामिल करने को अनुचित बताया है। मायावती ने कहा कि सत्ता में आने पर इसे वापस लिया जाएगा।

सीएए पर बहस आदि तो ठीक है लेकिन कोर्ट में इसपर सुनवाई जारी रहने के बावजूद लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा इस अतिविवादित व विभाजनकारी नागरिकता कानून को पाठ्यक्रम में शामिल करना पूरी तरह से गलत व अनुचित। बीएसपी इसका सख्त विरोध करती है तथा यूपी में सत्ता में आने पर इसे अवश्य वापस लिया जायेगा।
मायावती ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून पर बहस तो ठीक है लेकिन कोर्ट में इस पर सुनवाई जारी रहने के बावजूद लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा इस अतिविवादित व विभाजनकारी कानून को पाठ्यक्रम में शामिल करना पूरी तरह गलत और अनुचित है। बसपा इसका सख्त विरोध करती है और यूपी की सत्ता में आने पर इस पर रोक लगाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close