Crime

मुंबई से आया प्रेमी, हत्या कर भागा यूपी

रायपुर,छत्तीसगढ़ । विधानसभा क्षेत्र के आमासिवनी पुलिस कॉलोनी में हुए कॉन्स्टेबल की पत्नी की हत्या मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है। महिला की हत्या उसके प्रेमी ने की थी। आरोपी हत्या के लिए मुम्बई से फ्लाइट पकड़कर रायपुर पहुंचा था। घटना के बाद ट्रेन से यूपी के इलाहाबाद में जा छुपा था। पुलिस ने आरोपी जय सिंह को पकड़कर घटना के संबंध में पूछताछ कर रही है।

दरअसल, आमासिवनी पुलिस कॉलोनी में कॉन्स्टेबल शिशुपाल सिंह की पत्नी जॉली सिंह का शव 6 मार्च को मिला था। आरोपी ने महिला की गला रेतकर हत्या की थी। पुलिस ने शव का पंचनामा कर सनसनीखेज हत्याकांड की जांच में जुटी। पुलिस ने घटना स्थल के आसपास लगे सैकडों सीसीटीवी फुटेजों को खंगाला। इस दौरान घर से निकलते हुए एक संदिग्ध युवक का फुटेज सामने आया। युवक के संबंध में मृतिका के परिजनों से पूछताछ की गई, लेकिन कुछ भी जानकारी नहीं मिल पाई।चूंकि हत्या हुए एक सफ्ताह हो चुका था। आरोपी को तलाशना पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं था। पुलिस ने मृतिका के सोशल मीडिया एकाउंट को खंगालना शुरू किया। इस दौरान मृतिका जॉली सिंह के चैट बॉक्स पर मुम्बई निवासी जय सिंह का नाम दिखा। जय सिंह और जॉली सिंह के बीच में काफी बातें होती रहती थी। पुलिस ने आरोपी का लोकेशन तलाश कर उसकी पड़ताल शुरू की।

जांच में पुलिस को पता चला कि जय सिंह यूपी के इलाहाबाद का रहने वाला है और कुछ समय से मुम्बई में रहकर जॉब कर रहा है। पुलिस ने इस सूचना के बाद आरोपी को इलाहाबाद से गिरफ्तार किया गया। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि जॉली सिंह के साथ उसका प्रेम संबंध था। चार सालों पहले ही दोनों की मुलाकात सोशल मीडिया पर हुई थी, तब से ही दोनों के बीच बातें और मिलना जुलना था। जॉली सिंह कुछ दिनों से शादी का दबाव बना रही थी। शादी नहीं करने पर पुलिस में शिकायत की धमकी दे रही थी। इस बात से जय सिंह काफी परेशान था। इसी से छुटकारा पाने के लिए उसने महिला की हत्या की प्लानिंग की।

पूछताछ में आरोपी जय सिंह ने बताया कि वह मूलतः भदोही (उ.प्र.) का निवासी है तथा मुम्बई के कोनगांव कल्याण में नौकरी करता है। उसका संपर्क मृतिका से 4 साल पहले सोशल मीडिया प्लेटफार्म टिक-टॉक और टिकी के माध्यम से हुआ था। दोनों के बीच मोबाईल फोन में बातचीत होती थी और दोनों रिल्स भी बनाते थे। इसी दौरान दोनों के मध्य प्रेम संबंध स्थापित हो गया। जिस कारण से आरोपी मृतिका से मिलने अक्सर रायपुर आया-जाया करता था। मृतिका अपने पति से पृथक रहती थी। मृतिका का आरोपी से प्रेम संबंध स्थापित होने पर वह आरोपी पर विवाह हेतु दबाव बनाने लगी। आरोपी के घर में भी मृतिका को लेकर अक्सर वाद-विवाद होता था। घरना के दिन आरोपी मुम्बई से हवाई मार्ग के रास्ते रायपुर आया एवं मृतिका के घर गया।

मृतिका द्वारा उसे पुनः विवाह करने हेतु कहा गया जिस पर दोनों के मध्य इसी बात को लेकर विवाद हुआ एवं आरोपी ने मृतिका को धक्का दिया जिससे मृतिका के सिर में चोट लगीं तथा आरोपी ने पास रखें कैंची से मृतिका के गले में वार कर उसकी हत्या कर दिया तथा मकान के बाहर ताला लगाकर कि कोई मृतिका की मदद न कर सके। इसके बाद आरोपी ई रिक्सा से रेलवे स्टेशन पहुंचकर पुरी एलटीटी एक्सप्रेस ट्रेन से बिना टिकट भुसावल पहंुचा एवं वहा से कमायनी एक्सप्रेस ट्रेन में बैठकर इलाहाबाद पहुंचकर भदोही में छिपा हुआ था।मृतिका और आरोपी के सोशल मीडिया साइट्स लेन-देन की पड़ताल की जा रही है। आरोपी जय सिंह को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से घटना में प्रयुक्त कैंची एवं 2 मोबाईल फोन जप्त कर आरोपी को रिमांड पर भेजा जा रहा है।

गिरफ्तार आरोपी
जय सिंह उर्फ राहुल पिता सत्यनारायण सिंह उम्र 29 साल निवासी ग्राम पाली थाना सूरयामा जिला भदोही (उत्तर-प्रदेश)।

कार्रवाई में निरीक्षक दीपक पासवान थाना प्रभारी विधानसभा, एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट से उपनिरीक्षक सतीश पुरिया, सउनि. प्रेमराज बारिक, प्र.आर. रविकांत पाण्डेय, कुलदीप द्विवेदी, आर. मुनीर रजा, संतोष सिन्हा, सुरेश देशमुख, लालेश नायक, म.आर. बबीता देवांगन, थाना विधानसभा से उपनिरीक्षक सुशील वर्मा, प्र.आर. भुनेश्वर साहू तथा थाना खम्हारडीह से उपनिरीक्षक मनोज पटेल की महत्वपूर्ण भूमिंका रहीं।(वीएनएस)

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: