News

सत्य, संवाद और सेवा के अभाव में निकृष्ट है पत्रकारिता: आरके सिन्हा

काशी में उत्तर प्रदेश विकास संवाद-3 का आयोजन

वाराणसी। हिन्दुस्थान समाचार का ध्येय वाक्य सत्य, संवाद और सेवा है। हम ये तीनों शब्दों के साथ सेवा भाव से कार्य कर रहे हैं। पत्रकारिता के मूल भाव में ये तीनों शब्द हैं और अगर ये तीनों ध्येय नहीं होंगे तो इनके अभाव में पत्रकारिता निकृष्टता हो जाएगी। यह बात राज्य सभा सांसद एवं हिन्दुस्थान समाचार बहुभाषी समाचार एजेंसी के अध्यक्ष रवींद्र किशोर सिन्हा ने हिन्दुस्थान समाचार बहुभाषी समाचार एजेंसी की ओर से बुधवार को शिक्षा, रोजगार एवं पर्यटन पर आयोजित उत्तर प्रदेश विकास संवाद-3 में कही।
महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि इमरजेंसी के दौरान बडे़-बड़े अखबार झुक गए, लेकिन हिन्दुस्थान समाचार ने समझौता नहीं किया। आज के पत्रकारों को भी इन्ही तीनों मूल बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए पत्रकारिता करनी चाहिए।
श्री सिन्हा ने कहा कि हिन्दुस्थान समाचार देश की सबसे पहली न्यूज एजेंसी है। आजादी के पहले देश में विदेशी एजेंसियों द्वारा ही समाचार संकलन होता था। उनकी कार्यपद्धति विदेशी सोच पर आधारित थी। देश के पहले गृह एवं सूचना प्रसारण मंत्री वल्लभ भाई पटेल ने स्वदेशी न्यूज एजेंसी के महत्व को समझा और 1948 में हिन्दुस्थान समाचार न्यूज एजेंसी की शुरूआत हुई।
रायटर ने पीटीआई खड़ी की। लेकिन उस भावना के हिसाब से कार्य नहीं किया। इसके विपरीत हिन्दुस्थान समाचार न्यूज एजेंसी पूरी तरह भारतीय सोच पर आधारित थी और इसमें पत्रकारों की महत्वपूर्ण भूमिका रही।
उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य है कि सिर्फ नुक्ताचीनी और छीछालेदर की बात न हो। सबका विकास में सभी की भागीदारी हो, सही काम और बढ़िया तरीके से कैसे हो पाये। इसलिए हम समय-समय पर अलग-अलग विषयों पर इस तरह के संवाद आयोजित करते हैं। इनके जरिए नीति निर्धारक सीधे तौर पर अपनी बात रख पाते हैं।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी में आयोजित इस कार्यक्रम में धर्मसंघ के वटुकों के वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ अतिथियों ने दीप प्रज्जवलन एवं हिन्दुस्थान समाचार के संस्थापक स्व.शिवराम शंकर उपाख्य दादा साहब आप्टे, स्व.बालेश्वर अग्रवाल, स्व.बापूराव लेले एवं एजेंसी को पुनर्जीवित करने वाले स्व. श्रीकांत जोशी के चित्रों पर पुष्पार्चन किया। पुष्पगुच्छ व अंगवस्त्रम से अतिथियों का स्वागत किया गया।

कार्यक्रम में बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. सतीश द्विवेदी, पर्यटन, धमार्थ एवं संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. नीलकंठ तिवारी,वाराणसी विकास प्राधिकरण के सचिव एवं काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट के सीईओ विशाल सिंह, प्रसिद्ध शिक्षाविद् व मुख्य वक्ता मनोजकान्त, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, वाराणसी के कुलपति प्रो. टीएन सिंह, वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय, जौनपुर के कुलपति प्रो. राजाराम यादव, कटजी इंस्टीट्यूट के निदेशक एसके अग्रवाल, हिन्दुस्थान समाचार बहुभाषी समाचार एजेंसी के उपाध्यक्ष अरविन्द मार्डीकर और समाचार एजेंसी की निदेशक मंडल की सदस्य सुषमा अग्रवाल सहित अन्य गणमान्य अतिथि उपस्थित हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close