UP Live

उत्तर प्रदेश में डेयरी सेक्टर में 9 हजार करोड़ रुपए से अधिक का निवेश उतरा धरातल पर

यूपी में बड़े पैमाने पर रोजगार सृजित करेगा डेयरी सेक्टर

  • वाराणसी के बाद बागपत में भी डेयरी प्लांट के जरिए 4000 से अधिक लोगों को रोजगार देगी बनासकांठा डेयरी
  • सीपी मिल्क, आनंदा डेयरी, टेस्टी डेयरी समेत कई बड़ी कंपनियां अपने प्रोजेक्ट के तहत प्रदान करेंगी नौकरियां

लखनऊ । दुग्ध उत्पादन के मामले में उत्तर प्रदेश देश में नंबर वन है। प्रदेश में श्वेत क्रांति लाने के योगी सरकार के प्रयासों का ही नतीजा है कि इस सेक्टर ने न सिर्फ 9000 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश आकर्षित किया है, बल्कि इसके माध्यम से प्रदेश भर के युवाओं को व्यापक पैमाने पर रोजगार भी मिलने जा रहा है। पीएम मोदी ने हाल ही में वाराणसी में बनास काशी संकुल का शुभारंभ किया है, जिससे प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से पूर्वांचल के लाखों लोगों के लिए रोजगार सृजित होने की संभावना है, वहीं ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी (जीबीसी 4.0) के माध्यम से प्रदेश में कई बड़ी डेयरी कंपनियों ने भी अपने निवेश को धरातल पर उतारने की दिशा में कदम बढ़ाए हैं। माना जा रहा है कि इन डेयरी कंपनियों की स्थापना के साथ ही प्रदेश डेयरी सेक्टर में और अधिक मजबूत होगा, बल्कि यह लोगों को रोजगार का सशक्त माध्यम भी बनेगा।

बागपत में भी बनासकांठा के प्लांट से हजारों रोजगार होंगे सृजित
दुग्ध आयुक्त शशि भूषण लाल सुशील ने बताया कि वाराणसी के बाद, बनासकांठा डीसीएमपीयू लिमिटेड अब पहले चरण में प्रति दिन 10 लाख लीटर दूध की हैंडलिंग क्षमता के साथ एक डेयरी इकाई स्थापित करने की योजना बना रहा है, जिसे दूसरे चरण में प्रति दिन 15 लाख लीटर तक बढ़ाया जा सकता है। कंपनी ने बागपत में 800 करोड़ रुपए का निवेश किया है जिससे 4000 रोजगार के अवसर पैदा होंगे। इसी तरह, सीपी मिल्क एंड फूड प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड अभी उत्तर प्रदेश में 3 मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स के माध्यम से अपनी सुविधाएं प्रदान कर रहा है। इससे प्रदेश में हजारों लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार प्राप्त हो रहा है। उत्तर प्रदेश में अपनी यूनिट्स को विस्तार देने के क्रम में कंपनी ने अब बाराबंकी में 300 करोड़ रुपए का निवेश किया है जिससे 90 रोजगार के अवसर पैदा होंगे। सीपी मिल्क 1.65 लाख से अधिक डेयरी किसानों से सीधे खरीदे गए ताजे दूध से निर्मित 17 उच्च गुणवत्ता वाले डेयरी उत्पादों की खुदरा बिक्री करती है।

गोण्डा, बरेली, शाहजहांपुर जैसे जिलों में आएगी नौकरियों की बहार
इसके अतिरिक्त स्मार्ट ग्रिड प्रा. लि. गोण्डा में 1100 करोड़ रुपए की लागत से अपनी यूनिट स्थापित करने जा रहा है, जिसके जरिए 3 हजार से अधिक लोगों को रोजगार के साधन उपलब्ध होंगे। वहीं, रिंकू डेयरी प्रोप बरेली में 490 करोड़ रुपए से और शाहजहांपुर में 300 करोड़ से उद्यम स्थापित कर रहा है जो एक हजार 300 से अधिक लोगों को सेवायोजन का अवसर प्रदान करेगा। इसी तरह,बरेली डेयरीज लि. बरेली में 300 करोड़, मित्र सेवा इंश्योरेंस एंड फिनटेक प्रा. लि. 300 करोड़ रुपए, गोपाल जी डेयरी हापुड़ में 252 करोड़ रुपए, क्रीमी फूड्स बुलंदशहर में 250 करोड़ रुपए, प्रधान मिल्क चिलिंग प्लांट मेरठ में 250 करोड़ रुपए और डेयरी क्राफ्ट बरेली में 212 करोड़ रुपए के निवेश के जरिए हजारों लोगों के रोजगार का प्रबंध करने जा रहा है। इन कंपनियों के माध्यम से योगी सरकार को भरोसा है कि न सिर्फ डेयरी सेक्टर में उत्तर प्रदेश आत्मनिर्भर होने के साथ-साथ दूसरे राज्यों के लिए भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा, बल्कि व्यापक पैमाने पर लोगों को रोजगार भी प्रदान करने में सक्षम होगा।

बनास काशी संकुल से पूरे पूर्वांचल में रोजगार की भरमार
मालूम हो कि बनास काशी संकुल पूर्वांचल में रोजगार की धारा बहाने के लिए तैयार है। 23 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमूल के सबसे बड़े प्लांट बनास डेयरी का उद्घाटन किया। इस प्रोजेक्ट से करीब 1 लाख लोगो को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। इसके शुरू होने से पूर्वांचल के किसानों व गो पालकों की आय भी दोगुनी होगी। दुग्ध उत्पादकों को वर्ष के अंत में कंपनी अपने लाभांश का कुछ प्रतिशत भुगतान भी करेगी। 622 करोड़ की लागत से बने इस प्लांट का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 23 दिसंबर 2021 को किया था। बनास डेयरी अमूल इंडस्ट्रियल एरिया का निर्माण करखियांव, एग्रो पार्क में 30 एकड़ में हुआ है। काशी से बहने वाली दूध की धारा पूर्वांचल के लगभग 1346 गांवों में रोजगार का प्रवाह लाएगी। इस परियोजना से फैक्ट्री में करीब 750 लोगों को प्लांट में प्रत्यक्ष और करीब 2,350 लोगों को फील्ड में रोजगार मिलेगा।

ये बड़े प्रोजेक्ट्स भी देंगे रोजगार
कंपनी, स्थान, निवेश, रोजगार
इंडिया डेयरी, मेरठ, 200 करोड़, 150
गोपाल जी डेयरी, बुलंदशहर, 172 करोड़, 100
आनंदा डेयरी, हापुड़, 150 करोड़,300
आरएम डेयरी, अलीगढ़, 150 करोड़, 200
मुरलीधर दुग्ध ग्राम उद्योग संस्थान, प्रयागराज, 150 करोड़, 120
माया मिल्क फूड, इटावा, 150 करोड़, 100
टेस्टी डेयरी, कानपुर देहात, 110 करोड़, 200

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: