Uttar Pradesh

मुरादाबाद में पीटीसी के 52 पुलिस कर्मी समेत 117 पॉजिटिव

मुरादाबाद। यूपी के मुरादाबाद में पुलिस ट्रेनिंग कालेज (पीटीसी) से दूसरे दिन भी 55 पुलिस कर्मी समेत कुल 117 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें 79 संक्रमित रैपिड एंटीजन टेस्टिंग और 37 पॉजिटिव ग्रेटर नोएडा स्थित जीआईएमएस लैब से आए हैं। संक्रमितों को कोविड केयर सेंटर और अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है। जिले में अब संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1570 पहुंच गई है।
मुरादाबाद संक्रमण के लिहाज से प्रदेश के अति संवेदनशील जिलों में है। पॉजिटिव के फर्स्ट और सेकेंड कांट्रेक्ट के अलावा सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार, सांस लेने में परेशानी और गले में खराश से पीड़ित लोगों के आरटीपीसीआर के अलावा रैपिड एंटीजन सैंपल कराए जा रहे हैं। मंगलवार को जिले भर में रैपिड एंटीजन टेस्टिंग की गई और 1039 लोगों के सैंपल हुए। इनमें 79 पॉजिटिव मिले हैं। सीएमओ डा. एमसी गर्ग ने बताया कि पीटीसी में दूसरे दिन भी जोन प्रभारी डा. ऋचा लोचब के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 95 पुलिस कर्मियों के रैपिड टेस्ट किए। इनमें 54 पुलिस कर्मी पॉजिटिव आए हैं। पुलिस कर्मी प्रदेश के अलग-अलग जिलों के हैं और पीटीसी में ट्रेनिंग के लिए आए हैं। पीटीसी में दो दिन में 225 रैपिड सैंपलों में 117 पुलिस कर्मी पॉजिटिव आ चुके हैं।

सीएमओ ने बताया कि मंगलवार को रैपिड टेस्टिंग के 79 पॉजिटिव में 66 पॉजिटिव अकेले शहरी क्षेत्र के हैं। 13 संक्रमित देहात ब्लाकों से मिले हैं। सीएमओ के मुताबिक मंगलवार को ग्रेटर नोएडा जीआईएमएस लैब से भी 37 संक्रमित आए हैं। सभी सैंपल 21 से 24 जुलाई के हैं। संक्रमितों को कोविड केयर सेंटर और अस्पतालों में भर्ती करवा दिया है। मंगलवार को 116 नए मरीजों के साथ संख्या 1570 हो गई है। पीटीसी में दो दिन में 116 पुलिस कर्मियों के संक्रमित आने के बाद स्वास्थ्य विभाग अब पीएसी की बटालियनों में भी जवानों का रैपिड टेस्टिंग कराएगा। इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। पीएसी की तीन बटालियनों में जवानों की संख्या काफी अधिक है।

अब तक रैपिड एंटीजन के 14364 सैंपलों में 324 पॉजिटिव

मुरादाबाद। रैपिड एंटीजन टेस्टिंग संक्रमित की रोकथाम में कारगर साबित हो रही है। जिले में रैपिड एंटीजन के 14364 लोगों के सैंपल हो गए हैं। इनमें 324 लोग पॉजिटिव मिल चुके हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close