Society

जरूरतमंदों के लिये फिक्र और जिक्र बेहद आवश्य – पाठक

blank

वाराणसी। समाज का वो तबका जिसे आज के दौर में संघर्ष में बने रहने के लिये भी सहायता की नितांत आवश्यक्ता है, उसकी फिक्र और जिक्र करना बेहद जरूरी है। ये बातें भारत विकास परिषद काशी के अध्यक्ष भा.रजत मोहन पाठक ने गुरूवार को उन 25 लोगों से मिलने के बाद कहा, जिनको 32वें सेवा एवं सांस्कृतिक सप्ताह “काशी सेवार्पण 201” के दौरान महमूरगंज स्थित भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति में लिम्ब व कैलिपर (कृत्रिम अंग) का प्रत्योपण निःशुल्क किया गया था।

इस अवसर पर संस्था अध्यक्ष भा0 रजत मोहन पाठक ने कि कहा कि जीवन की तमाम चुनौतियों का सामना करने के लिए आत्म विश्वास की नितांत आवश्यक्ता होती है। आज के प्रतिस्पर्धा के दौर में शारीरिक रूप से सक्षम व्यक्ति का आत्म विश्वास टूट जा रहा है। ऐसे में दिव्यांगों में आत्म विश्वास का लोप या कमजोर होना स्वभाविक है। इन दिव्यांगों के आत्म विश्वास को मजबूत ही नही वरन् बुलन्दियों तक बनाये रखने की नितान्त आवश्यक्ता है कि वो समाज से अलग नही है।

सूच्य हो कि भारत विकास परिषद काशी द्वारा वर्तमान सत्र 2019-20 के विगत नौ माह के दौरान 160 संयोजकों की सहायता से आयोजित 42 कार्यक्रमों के माध्यम से 35819 लोगों को लाभान्वित किया जा चुका है। जिनमें ये वो 25 दिव्यांग जन भी है, जिन्हे काशी शाखा द्वारा लिम्ब व कैलिपर (कृत्रिम अंग) का प्रत्योपण निःशुल्क किया गया और हर वर्ष काशी शाखा द्वारा लगभग 30 जरूरतमंदों को लिम्ब व कैलिपर का प्रत्योपण निःशुल्क कराया जाता है।

भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति के संचालक डा.प्रवीण सिंह ने बताया कि समिति के द्वारा लिम्ब व कैलिपर (कृत्रिम अंग) का प्रत्योपण निःशुल्क किया जाता है। जिसे लगाने में लगभग दो हजार का खर्च आता है, जिसे भारत विकास परिषद काशी जैसी संस्थाओं के द्वारा वहन किया जाता है। अब तक काशी शाखा के सहयोग से लगभग सौ दिव्यांग लाभान्वित हो चुके है।

साथ ही लाभार्थी गनेश प्रसाद यादव (दिव्यांग) निवासी सुरियावां, भदोही ने बताया कि अन्यत्र कही कृत्रिम अंग लगवाने के लिए कम से कम लगभग दस हजार रूपये खर्च करने पड़ते है, लेकिन यहां भारत विकास परिषद काशी के सहयोग से लिम्ब बिना खर्च के लग गया और यह आश्वासन भी मिला कि अगर भविष्य में प्रत्यारोपित कृत्रिम अंग में किसी तरह की दिक्कत होने पर बिना किसी खर्च के समस्या का समाधान किया जाएगा। ये बहुत सुखद है कि कुछ लोग, संस्थाएं है जो हमारी फिक्र करती है और तत्पर है।

कार्यक्रम का शुभारम्भ मां भारती एवं स्वामी विवेकानन्द के चित्र पर माल्यार्पण के बाद वन्देमातरम् से हुआ। इस मौके पर काशी शाखा के अध्यक्ष रजत मोहन पाठक, सचिव हिमांशु पसरीचा, संजीव अग्रवाल, आर.सी. जैन, भा. प्रद्युम्न साह, शैलेन्द्र रस्तोगी, सर्वेश चोपड़ा, डा0 रूबी शाह, विपिन मेहरोत्रा, अनिता जसरापुरिया, संजय अग्रवाल, संजीव अग्रवाल आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close