Uttar Pradesh

पुलिस के सिंघ नही होते, फिर क्यों डरना

समस्याओं को लेकर संवाद करें मित्रवत रहें- एसपी

दुद्धी,सोनभद्र -कनहर सिचाई परियोजना डूब क्षेत्र में हुए दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं को देखते हुए पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने शनिवार को ग्राम भिसुर चौराहे से पुलिस पीएसी व सीआरपीएफ के जवानों के साथ करीब ढाई किमी तक रुट मार्च व कांबिंग करते हुए कोरची हाट सेड पहुचे जहाँ जनचौपाल के माध्यम से ग्रामीणों को पुलिस से दूरी कम करने का पाठ पढ़ाया और उनकी समस्याओं को सुना।
पुलिस अधीक्षक ने कहा कि क्षेत्र में दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं के घटने से गांव की छवि खराब होती है ऐसा दुबारा न हो।पुलिस सभा इसलिए करती है कि पुलिस से लोगों का डर खत्म हो और अपनी समस्याओं को आसानी से कह सकें।समाज मे कमजोर वर्ग को सताया न जाए, ऐसे लोगो की मदद करे पुलिस जनता की रक्षा के लिए बनी है।असमाजिक तत्वों द्वारा पुलिस के प्रति डर फैलाने की सूचना मिलती है पुलिस के सिंघ नही होते, इसलिए डरे न बल्की मित्रता रखें। ताकि एक दूसरे से समय समय पर संवाद स्थापित हो सके और समस्याओ का निराकरण हो। साथ ही अपराध को बढ़ने से रोका जा सके।ग्रामीण किसी की घटना दुर्धटना की तत्काल सूचना स्थानीय पुलिस को दे या डायल 112 पर दर्ज कराए।इसी क्रम में विस्थापितों की समस्याओं को बताते हुए ग्राम प्रधान फणीश्वर जायसवाल, गम्भीरा प्रसाद ने संयुक्तरूप से कहा कि विस्थापन सूची में प्रारूप 6 ,3 व 11 के लोगो का नाम जोड़ा जाए और शासन से मिल रही सुविधाओ को दिया जाए। साथ ही विस्थापितों को आवास मुहैया कराया जाए, सहित विभिन्न समस्याए को मंच के माध्यम से बताया गया।पुलिस अधीक्षक ने कहा शासन प्रशासन पर भरोसा रखें।इस मौके पर सीओ राम आशीष यादव, इंस्पेक्टर पंकज कुमार सिंह, अमवार चौकी इंचाई जितेंद्र कुमार सहित दुद्धी सर्किल से सभी एसओ व पुलिस बल, पीएसी एवं सीआरपीएफ की बटालियन सहित ग्राम प्रधान संतोष यादव ,चिंतामणि यादव समेत काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

blank

 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close