Astrology & ReligionNational

राम मंदिर निर्माण का तीस प्रतिशत कार्य पूरा

2024 से गर्भगृह में विराजमान होंगे रामलला.द्वितीय वर्षगांठ पूजन पर कारसेवकपुरम् सहित अयोध्या में मना दीपोत्सव.गर्भगृह स्थल के परिक्रमा पथ लगाया जा चुका है 250 पत्थर .

अयोध्या । श्रीराम जन्म भूमि मंदिर निर्माण के शिलापूजन को शुक्रवार को 2 वर्ष पूरे हो गए। इस अवसर पर कारसेवकपुरम् सहित राम नगरी में दीपोत्सव मनाया गया। उल्लेखनीय है कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के द्वारा आयोजित भव्य समारोह में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अगस्त 2020 में श्रीराममन्दिर निर्माण की आधार शिलारखी थी ।

ट्रस्ट के मार्गदर्शन में मंदिर निर्माण के काम में लगे इंजीनियर्स और मजदूर लगातार रामलला के भव्य मंदिर को मूर्त रूप देने में जुटे हैं। मंदिर की नींव के बाद गर्भगृह का निर्माण कार्य तेजी से कराया जा रहा है। बताया गया कि मंदिर का सुपर स्ट्रक्चर बनकर तैयार हो गया नींव और चबूतरा पहले से बनकर तैयार हैं। मंदिर के गर्भगृह पर खंभे लगाने का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। मंदिर का ग्राउंड फ्लोर दिसंबर 2023 तक बनकर तैयार होना है। भक्तों को मंदिर के पूरे स्वरूप के दर्शन फरवरी 2024 तक हो सकेंगे।

इस अवसर पर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, विहिप के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा रंग महल बैरियर पर खुद मौजूद रहे। ट्रस्ट महासचिव चंपत राय ने बताया कि इस समय मंदिर के गर्भगृह, प्लिंथ और रिटेनिंग वॉल का निर्माण तेजी के साथ चल रहा है।ट्रस्ट के सदस्य डॉ. अनिल मिश्रा ने बताया कि मंदिर अभेद्य होगा, लगभग 50 फीट मोटी नींव पर मंदिर का प्लिंथ निर्माण करीब पूरा हो चुका है।

उन्होंने बताया कि श्रीराम मंदिर निर्माण समय से पूरा होगा ।2024 में राम भक्त श्री रामलला का नब्य मंदिर के गर्भगृह में दर्शन करेंगे। आज मंदिर परिसर में विशेष पूजा व अनुष्ठान का आयोजन सम्पन्न हुआ ।ट्रस्ट सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मंदिर निर्माण में मंदिर का चबूतरा लगभग पूरा हो गया है।गृभगृह स्थल पर तरासे गए पत्थर लगाया जा रहा हैं। गर्भगृह स्थल के परिक्रमा पथ पर 250 पत्थर लगाया जा चुका है । निर्माण स्थल पर 3 दिशाओं में 6 मीटर ऊंची रिटेनिंगवाल बनकर तैयार हो गई हैं।

एलएंडटी के चीफ इंजीनियर जगदीश कुमार ने बताया कि राम मंदिर के कुडू मंडप, नृत्य मंडप और रंग मंडप के खंभे 30 दिन में लग जाएंगे। इस मंदिर के ग्राउंड फ्लोर पर 200 खंभे होंगे। दूसरे फ्लोर पर 114 खंभे होंगे। पूरे मंदिर में कुल 400 खंभे बनने वाले हैं।उन्होंने बताया कि मंदिर के गर्भगृह पर खंभे लगना 1-2 दिन में शुरू हो जाएंगे। मंदिर का ग्राउंड फ्लोर दिसंबर 2023 तक बनकर तैयार होना है। मंदिर के गर्भगृह पर खंभे लगना 1-2 दिन में शुरू हो जाएंगे। मंदिर का ग्राउंड फ्लोर दिसंबर 2023 तक बनकर तैयार होना है। (हि.स.)

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: