Business

मॉरीशस से आने वाले निवेश के नियम सख्त होने से बाजार में हाहाकर

मॉरीशस के जरिए भारत में होने वाले निवेश की फिर से जांच किए जाने के संशोधित नियम से घबराए विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) की चौतरफा बिकवाली से आज शेयर बाजार में हाहाकर मच गया।बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 793.25 अंक अर्थात 1.06 प्रतिशत का गोता लगाकर 75 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के नीचे 74,244.90 अंक पर आ गया। साथ नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 234.40 अंक यानी 1.03 प्रतिशत लुढ़ककर 22,519.40 अंक पर बंद हुआ। इस दौरान दिग्गज कंपनियों की तरह मझौली और छोटी कंपनियों के शेयरों में बिकवाली का दबाव रहा। इससे बीएसई का मिडकैप 0.49 प्रतिशत गिरकर 40,909.03 अंक और स्मॉलकैप 0.60 प्रतिशत टूटकर 45,872.07 अंक पर रहा।

इस दौरान बीएसई में कुल 3943 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 2373 में बिकवाली जबकि 1466 में लिवाली हुई वहीं 104 में कोई बदलाव नहीं हुआ। इसी तरह निफ्टी की 45 कंपनियां लुढ़क गईं जबकि शेष पांच में बढ़त रही।विश्लेषकों के अनुसार, मॉरीशस रूट से भारत में होने वाले निवेश के नियम को संशोधित किया गया है, जिसमें कहा गया है कि वर्ष 2017 से पहले हुए निवेश की फिर से जांच की जा सकती है यानी 2017 से पहले के फंडों को प्रमाण देना होगा कि उनका गठन केवल कर में लाभ लेने के लिए नहीं किया गया था। इससे विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बाजार से जमकर पैसे निकाल लिए।इससे बीएसई के सभी 20 समूह दबाव में आ गए।

इस दौरान कमोडिटीज 0.84, सीडी 0.62, ऊर्जा 1.01, एफएमसीजी 1.10, वित्तीय सेवाएं 0.81, हेल्थकेयर 1.23, इंडस्ट्रियल्स 0.54, आईटी 0.84, दूरसंचार 0.42, यूटिलिटीज 1.02, ऑटो 0.59, बैंकिंग 0.91, कैपिटल गुड्स 0.49, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स 1.39, धातु 0.55, तेल एवं गैस 1.28, पावर 0.77, रियल्टी 0.96, टेक 0.69 और सर्विसेज समूह के शेयर 1.05 प्रतिशत लुढ़क गए।अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मिलाजुला रुख रहा। इस दौरान ब्रिटेन का एफ़टीएसई 1.31, जर्मनी का डैक्स 0.86 और जापान का निक्केई 0.21 प्रतिशत चढ़ गया। वहीं, हांगकांग का हैंगसेंग 2.18, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.93 और चीन का शंघाई कम्पोजिट 0.49 गिर गया।शुरूआती कारोबार में सेंसेक्स 149 अंक की गिरावट लेकर 74,889.64 अंक पर खुला लेकिन लिवाली होने से थोड़ी देर बाद 74,951.88 अंक के उच्चतम स्तर पर पहुंचा।

वहीं, इसके बाद हुई बिकवाली से यह गिरता हुआ कारोबार के अंतिम चरण में 74,189.31 अंक के निचले स्तर तक लुढ़क गया। अंत में पिछले दिवस के 75,038.15 अंक के मुकाबले 1.06 प्रतिशत टूटकर 74,244.90 अंक पर बंद हुआ।इसी तरह निफ्टी 76 अंक उतरकर 22,677.40 अंक पर खुला और सत्र के दौरान 22,726.45 अंक के उच्चतम जबकि 22,503.75 अंक के निचले स्तर पर रहा। अंत में पिछले सत्र के 22,753.80 अंक की तुलना में 1.03 प्रतिशत गिरकर 22,519.40 अंक पर आ गया।इस दौरान नेस्ले इंडिया, टीसीएस और टाटा मोटर्स की 0.67 प्रतिशत तक की तेजी को छोड़कर सेंसेक्स की अन्य कंपनियों में गिरावट रही।

जिन प्रमुख कंपनियों के शेयर कमजोर रहे उनमें सन फार्मा 4.01, मारुति 3.17, पावरग्रिड 2.57, टाइटन 2.40, जेएसडब्ल्यू स्टील 2.22, एलटी 2.04, टेक महिंद्रा 1.91, अल्ट्रासिमको 1.76, एसबीआई 1.57, आईटीसी 1.56, इंफ़ोसिस 1.44, एक्सिस बैंक 1.41, एशियन पेंट 1.40, हिंदुस्तान यूनिलीवर 1.33, विप्रो 1.33, एचसीएल टेक 1.19, एचडीएफसी बैंक 1.10, टाटा स्टील 1.00, रिलायंस 0.79, आईसीआईआई बैंक 0.48, एनटीपीसी 0.32 और महिंद्रा एंड महिंद्रा 0.17 प्रतिशत शामिल है।(वार्ता)

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button