EducationNational

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने आज उच्च प्राथमिक स्तर के विद्यार्थि‍यों के लिए वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर जारी किया

प्राथमिक स्तर के विद्यार्थि‍यों के लिए वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर 16 अप्रैल, 2020 को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री द्वारा जारी किया गया था

नई दिल्ली । ‘कोविड-19’ के कारण घर पर ही रहने के दौरान अपने माता-पिता और शिक्षकों की मदद से विद्यार्थि‍यों को अपनी पढ़ाई में सार्थक रूप से व्‍यस्‍त रखने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय के मार्गदर्शन में एनसीईआरटी द्वारा प्राथमिक और उच्च प्राथमिक शिक्षा स्‍तर (कक्षा 6 से 8 तक) के विद्यार्थि‍यों के लिए वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर तैयार किए गए हैं। उच्च प्राथमिक शिक्षा स्‍तर के विद्यार्थि‍यों के लिए यह वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर आज केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ द्वारा नई दिल्ली में जारी किया गया। प्राथमिक शिक्षा स्‍तर के विद्यार्थि‍यों के लिए वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री द्वारा 16 अप्रैल, 2020 को जारी किया गया था।

इस अवसर पर श्री पोखरियाल ने कहा कि यह कैलेंडर दिलचस्प तरीकों से शिक्षा प्रदान करने के लिए उपलब्ध विभिन्न तकनीकी साधनों और सोशल मीडिया टूल्स का उपयोग करने के बारे में शिक्षकों को आवश्‍यक दिशा-निर्देश प्रदान करता है जिसका उपयोग विद्यार्थी, माता-पिता और शिक्षक घर पर रहते हुए भी कर सकते हैं। हालांकि, इसके तहत इस तरह के साधनों या उपकरणों यथा मोबाइल, रेडियो, टेलीविजन, एसएमएस और विभिन्न सोशल मीडिया तक विद्यार्थि‍यों की पहुंच में भारी असमानता होने के तथ्‍य को भी ध्यान में रखा गया है। उन्होंने कहा कि यह एक सच्चाई है कि हममें से बहुत से लोगों के मोबाइल में इंटरनेट की सुविधा शायद नहीं है, या हम सभी संभवत: अलग-अलग सोशल मीडिया टूल्स जैसे कि व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, गूगल इत्‍यादि का उपयोग नहीं कर पाते हैं। ऐसे में कैलेंडर शिक्षकों का मार्गदर्शन करता है कि वे मोबाइल फोन पर एसएमएस भेजकर या वॉयस कॉल के माध्यम से माता-पिता और विद्यार्थि‍यों का आगे मार्गदर्शन करें। इस कैलेंडर को लागू करने के लिए माता-पिता से प्राथमिक स्तर के विद्यार्थि‍यों की मदद करने की अपेक्षा की जाती है।

मंत्री ने कहा कि बहुत जल्द सभी शेष कक्षाओं यानी 9 से 12 तक की कक्षाओं और विषयों को भी इस कैलेंडर के तहत कवर किया जाएगा। यह कैलेंडर दिव्यांग बच्चों सहित सभी बच्चों की आवश्यकताओं को पूरा करेगा जिसके लिए ऑडियो पुस्तकों, रेडियो कार्यक्रमों, वीडियो कार्यक्रमों से संबंधित लिंक को इसमें शामिल किया जाएगा।

कैलेंडर में सप्ताह के हिसाब से योजना है जिसमें पाठ्यक्रम या पाठ्यपुस्तक से लिए गए विषय/अध्याय के संदर्भ में दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण शैक्षणिक कार्य शामिल हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसमें बच्‍चों की सीखने की क्षमता में हुई प्रगति को ध्‍यान में रखते हुए विषयों का खाका तैयार किया जाता है। इसका मुख्‍य उद्देश्‍य बच्चों की शिक्षा में हुइ प्रगति का आकलन करने में शिक्षकों/अभिभावकों को सुविधा प्रदान करना और इसके साथ ही पाठ्यपुस्तकों से परे जाना है। कैलेंडर में दी गई शैक्षणिक गतिविधियां या कार्य बच्‍चों की सीखने की क्षमता में हुई प्रगति पर फोकस करते हैं और इसे किसी भी संसाधन के माध्यम से पूरा किया जा सकता है। इनमें पाठ्यपुस्तकें भी शामिल हैं जिनका उपयोग बच्चे अपने-अपने राज्य या केन्द्र शासित प्रदेश में कर रहे हैं।

यह कला से जुड़ी शिक्षा, शारीरिक व्यायाम, योग, व्यावसायिक ज्ञान पूर्व कौशल जैसे अनुभवात्मक शिक्षण को भी कवर किया गया है। इस कैलेंडर में सारणीबद्ध रूप में कक्षावार और विषयवार गतिविधियां या कार्य शामिल हैं। इस कैलेंडर में विषय-क्षेत्रों के रूप में चार भाषाओं अर्थात हिंदी अंग्रेजी, उर्दू और संस्कृत से संबंधित गतिविधियां या कार्य शामिल हैं। इस कैलेंडर में शिक्षकों, छात्रों और अभिभावकों के बीच तनाव एवं चिंता को कम करने की रणनीतियों को भी स्‍थान दिया गया है। कैलेंडर में ई-पाठशाला, एनआरओईआर और भारत सरकार के दीक्षा पोर्टल पर उपलब्ध अध्याय-वार ई-कंटेंट (सामग्री) के लिए लिंक शामिल हैं।

सभी गतिविधियां सुझाव के तौर पर शामिल की गई हैं, न कि किसी आदेश की तरह थोपी गई हैं और न ही कोई क्रम अनिवार्य है। अध्यापक और अभिभावक बिना क्रम पर ध्यान दिए विद्यार्थियों की रुचि वाली किसी भी गतिविधि का चयन कर सकते हैं।

एनसीईआरटी ने टीवी चैनल स्वयं प्रभा (किशोर मंच) (फ्री डीटीएच चैनल 128, डिश टीवी चैनल # 950, सनडायरेक्ट # 793, जियो टीवी, टाटास्‍काई # 756, एयरटेल चैनल #440, वीडियोकॉन चैनल # 477 के जरिए उपलब्ध है), किशोर मंच एप (प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है) और यूट्यूब लाइव (एनसीईआरटी आधिकारिक चैनल) के माध्यम से विद्यार्थियों, अभिभावकों और शिक्षकों के साथ लाइव संवादात्‍मक सत्रों का आयोजन करना पहले ही शुरू कर दिया है। हर दिन सोमवार से शनिवार तक इन सत्रों को प्राथमिक कक्षाओं के लिए सुबह 11:00 बजे से दोपहर 1 बजे तक और उच्च प्राथमिक कक्षाओं के लिए दोपहर 2:00 बजे से शाम 4 बजे तक प्रसारित किया जा रहा है। दर्शकों के साथ संवाद करने के अलावा इन लाइव सत्रों में विषयों के शिक्षण के साथ-साथ व्‍यावहारिक अनुभव वाली गतिविधियों को भी प्रदर्शित किया जाता है। एससीईआरटी/एसआईई, शिक्षा निदेशालय, केंद्रीय विद्यालय संगठन, नवोदय विद्यालय समिति, सीबीएसई, राज्य स्कूल शिक्षा बोर्डों, इत्‍यादि के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करके भी इस कैलेंडर का प्रचार-प्रसार किया जाएगा।

यह कैलेंडर हमारे विद्यार्थियों, शिक्षकों, स्कूलों के प्रधानाचार्यों एवं अभिभावकों को ऑनलाइन शिक्षा-शिक्षण संसाधनों का उपयोग कर कोविड-19 से निपटने के सकारात्मक तरीकों का पता लगाने और घर पर ही स्कूली शिक्षा प्राप्त करके बच्‍चों की सीखने की क्षमता को बेहतर करने में उन्‍हें सशक्‍त बनाएगा।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close