Uttar Pradesh

जिंदा को मुर्दा बताकर, बुजुर्ग गरीब का पेंशन रोका

समाज कल्याण विभाग की कारस्तानी से भूखों मरने की दहलीज पर खड़ा बुजुर्ग

दुद्धी सोनभद्र – पेंशन के सहारे ही हमारी जिन्दगी कट रही है,पेंशन नहीं मिला तो हम मर जायेंगे| यह अल्फाज जिला सहकारी बैंक के स्थानीय शाखा के बाहर बुजुर्ग हनुमान के मुंह से निकल रहे थे| वह अपना वृद्धा पेंशन निकालने के लिए बैंक आया हुआ था। किन्तु उसे बैंक अधिकारी ने समाज कल्याण विभाग के एक पत्र का हवाला देते बताया कि वह तो मर चुका है| इसलिए उसके खाते के निकासी पर रोक लगा दिया गया है|
इस बाबत वार्ड संख्या चार निवासी हनुमान पुत्र जगदेव ने बताया कि बीते कई साल से वह पेंशन के ही धनराशि से गुजर बसर करते चले आ रहे है| बीते महीने आये पेंशन की राशि निकालने बैंक पहुंचा,तो उसे बताया गया कि उसके मरने की सूचना समाज कल्याण विभाग द्वारा भेजी गई है| उसी सूचना के आधार पर उसके खाते के संचालन पर रोक लगा दिया गया है| चलने फिरने में असहज बुजुर्ग का बैंक के सामने ही रो रो कर बुरा हाल हो रहा था| वह बैंक के सामने खड़ा होकर साक्षात अपने ज़िंदा होने का सबूत दे रहा था,इसके बावजूद भी बैंक कर्मी उसकी बात को अनसुना कर रहे थे| इस बाबत शाखा प्रबंधक राजेश कुमार ने बताया कि समाज कल्याण विभाग द्वारा बीते दिनों भेजे गये पत्र में क्षेत्र के 54 लोगों को मृतक बताते हुए उनके खाते पर रोक लगाने की संस्तुति की है उसी सूची में हनुमान का भी नाम है बीते अगस्त माह तक उसके खाते में पेंशन की राशि की निकासी हुई है|

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close