Health

प्रदेश में सक्रिय केस की संख्‍या 100 से कम, प्रदेश में मिले 10 नए संक्रमण के मामले

क्लस्टर मॉडल से ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ी टीकाकरण की रफ्तार , पहली डोज लेने वाले पात्र लोगों के टीकाकरण के प्रतिशत में आई तेजी

लखनऊ । यूपी में टीके के लिए पात्र प्रदेशवासियों को जल्‍द से जल्‍द टीका कवच देने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा लागू किए गए क्लस्टर मॉडल के सकारात्‍मक परिणाम देखने को मिल रहे हैं। इस रणनीति के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण की रफ्तार बढ़ी है। गांवों में वैक्सीनेशन को तेज करने के लिए अपनाई गई रणनीति के तहत गांवों में वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित कर शिफ्ट वाइस वैक्सीनेशन किया जा रहा है।

प्रदेश में 72.69 प्रतिशत पात्र लोगों को पहली डोज और 30.36 प्रतिशत पात्र लोगों को दूसरी डोज दी जा चुकी है। प्रदेश में आठ करोड़ से अधिक टेस्टिंग और 15 करोड़ से अधिक टीकाकरण किया जा चुका है। देशव्यापी स्थिति को देखें तो यूपी टेस्टिंग और टीकाकरण में पहले पायदान पर बना हुआ है। उत्‍तर प्रदेश ने देश के दूसरे प्रदेशों के मुकाबले अब तक सबसे अधिक टीकाकरण कर कीर्तिमान स्‍थापित किया है। अब तक यूपी में 15 करोड़ 20 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है जिसमें 10 करोड़ 72 लाख को पहली डोज और 04 करोड़ 48 लाख को दूसरी डोज दी जा चुकी है।

प्रदेश में सक्रिय केस की संख्‍या 100 से कम

24 करोड़ की आबादी वाले प्रदेश में 10 नए संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। बीते 24 घंटों में हुई 01 लाख 44 हजार 494 सैम्पल की जांच की जा चुकी है। इस अवधि में 10 संक्रमितों ने कोरोना को मात दी। प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 100 से कम होकर 94 पहुंच गई है। बता दें कि प्रदेश में टीकाकरण को तेजी से बढ़ाने के लिए क्लस्टर मॉडल, स्‍कूल कॉलेजों में टीकाकरण कैंप, गांवों में अधिक बूथ, कोरोनारोधी टीकाकरण से कोई न छूटे, इसके लिए जिला संयुक्त अस्पताल में रात दस बजे तक टीकाकरण किया जा रहा है। प्रदेश सरकार ने हर जिले में एक केंद्र पर रात दस बजे तक टीकाकरण कराए जाने के निर्णय से भी गति मिली है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close