Breaking News

केन्‍द्र ने राज्यों को 2 करोड़ से अधिक एन-95 मास्क और 1 करोड़ से अधिक पीपीई किट मुफ्त वितरित किए

केन्‍द्र सरकार कोविड-19 की रोकथाम, नियंत्रण और प्रबंधन के लिए राज्यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के साथ मिलकर लगातार प्रयास कर रही है। महामारी से लड़ने के लिए स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत बनाने में केन्‍द्र सरकार बड़ी भूमिका में है। कोविड से निपटने की सुविधाओं को विस्तार देने के साथ-साथ केन्द्र सरकार राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश की सरकारों को पूरक प्रयासों के तहत मुफ्त चिकित्सा सामग्रियों की आपूर्ति कर रही है। भारत सरकार द्वारा आपूर्ति किए जाने वाले ये अधिकांश उत्पाद शुरुआत में देश में निर्मित नहीं थे और बाहर से मंगाए जा रहे थे। वैश्विक महामारी के कारण कारण दुनिया भर में इनकी काफी मांग थी ​जिसके परिणामस्वरूप विदेशी बाजारों में इनकी उपलब्धता काफी कम हो गई थी।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, कपड़ा मंत्रालय, फार्मास्यूटिकल्स विभाग, उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग, रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन तथा अन्य घरेलू उद्योगों के संयुक्त प्रयासों से इस अवधि में आवश्यक चिकित्सा उपकरणों जैसे पीपीई, एन-95 मास्क और वेंटिलेटर आदि के निर्माण को देश में ही प्रोत्साहित किया गया। परिणामस्वरूप ‘आत्मानिर्भर भारत’ और ‘मेक इन इंडिया’ का संकल्प मजबूत हुआ और भारत सरकार द्वारा आपूर्ति की जाने वाली अधिकांश चिकित्सा वस्तुओं का विनिर्माण घरेलू स्‍तर पर ही किया जाने लगा।

पहली अप्रैल 2020 से लेकर अब तक केन्‍द्र की ओर से राज्‍यों, केन्‍द्र शासित प्रदेशों और केन्‍द्रीय संस्‍थानों को 2.02 करोड़ से ज्‍यादा एन-95 मास्‍क,  1 करोड़ 18 लाख से अधिक पीपीई किट और हाइड्रोक्‍सीक्‍लोरोक्‍वीन के 6 करोड़ 12 लाख टैबलेट मुफ्त वितरित किए जा चुके हैं।

इसके अलावा 11300 ‘मेक इन इंडिया ’ वेंटिलेटर भी राज्‍यों, केन्‍द्र शासित प्रदेशों और केन्‍द्रीय संस्‍थानों को भेजे गए हैं। इनमें से 6154 वेंटिलेटर विभिन्‍न अस्‍पतालों तक पहुंचाए भी जा चुके हैं। भारत सरकार इन वेंटिलेंटरों को लगाना और चलाना भी सुनिश्चित कर रही है। इससे कोविड के उपचार के लिए बनाए गए गहन चिकित्‍सा कक्ष सुविधाओं में वेंटिलेंटरों की कमी को पूरा किया जा सकेगा। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों को 1.02 लाख ऑक्सिजन सिलेंडर भी उपलब्‍ध कराए जा रहे हैं। इनमें से 72,293 की आपूर्ति अस्‍पतालों में ऑक्सिजन की सुविधा वाले बिस्‍तरों के लिए की जा चुकी है।

अब तक दिल्‍ली में 7.81 लाख पीपीई किट और 12.76 लाख एन-95 मास्‍क वितरित किए जा चुके हैं। इसके अलावा महाराष्‍ट्र सरकार को 11.78 लाख पीपीई किट और 20.64 लाख एन-95 मास्‍क दिए गए हैं। तमिलनाडु को 5.39 लाख पीपीई किट और  9.81 लाख एन-95 मास्‍क की आपूर्ति की गई है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close