Politics

सुशील शुक्ला ने शराब पीकर मेरा दरवाजा खटखटाया : राधिका खेड़ा

रायपुर,छत्तीसगढ़ । एआईसीसी की राष्ट्रीय प्रवक्ता और लोकसभा चुनाव के लिए छत्तीसगढ़ की आर्डिनेटर राधिका खेड़ा ने रविवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। सोमवार को प्रेस कान्फ्रेंस लेकर उन्होंने अपनी ही पार्टी के नेताओं पर जमकर आरोप लगाए। राधिका ने छत्तीसगढ़ कांग्रेस के मीडिया सेल प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला, प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज, पूर्व सीएम भूपेश बघेल को तो लपेटा ही, साथ ही पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर भी जमकर आरोप लगाए।

सुशील शुक्ला ने शराब पीकर मेरा दरवाजा खटखटाया
राधिका खेरा ने कहा कि, जब मुझे छत्तीसगढ़ भेजा गया तो वहां लगातार अपमानित किया जा रहा था। उन्होंने कहा कि, मुझे सुशील आनंद शुक्ला ने शराब ऑफर की। कोरबा में लगातार मुझे कमरे में सामने आकर शराब ऑफर की गई। छत्तीसगढ़ कांग्रेस के मीडिया चेयरमैन ने शराब पीकर मेरे कमरे को खटखटाया।

सुशील शुक्ला के लोगों ने मुझे कमरे में बंद किया
हद तब हुई जब 30 तारीख को कांग्रेस दफ्तर छत्तीसगढ़ में सुशील आनंद शुक्ला ने जब मैं उनसे बात करने गई तो, उन्होंने मुझे गालियां दीं। चिल्लाने लगे, बत्तमीजी की मेरे साथ। मैने जब रिकॉर्ड करने की कोशिश की तो, सुशील आनंद शुक्ला के कहने पर दो अन्य लोगों ने गेट बंद कर गया, कुंडी लगा दी। मुझे दरवाजा नहीं खोलने दिया गया। मुझसे बदसलूकी की गई। जो उस पल मेरे साथ हुआ, मेरे रोंगटे खड़े हो जाते हैं।

पायलट ने मुझे चुप रहने को कहा
मैने सबसे पहला छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रभारी सचिन पायलट को काल किया। मैंने सारे घटनाक्रम से उन्हें अवगत करवाया, लेकिन मुझे चुप रहने को कहा गया। भूपेश बघेल ने भी मेरा कॉल नहीं उठाया, पवन खेरा, जयराम रमेश किसी ने मेरा कॉल नहीं उठाया।

दीपक बैज ने मुझसे पूछा- आप कितनी शराब पीती हैं
राधिका खेड़ा ने आगे कहा कि, अगर मैं कोऑर्डिनेट करके नहीं चलती, तो क्या मुझे कमरे में बंद करके बदसलूकी की जाएगी। मैने 6 दिन इंतजार किया, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे सबको मैंने अपनी आप बीती बताई। लेकिन किसी ने एक्शन नहीं लिया। राधिका ने कहा कि, कांग्रेस पार्टी में नारी न्याय कागज पर है, धरातल पर नहीं। राघिका ने कहा कि, छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने मुझसे कहा, आप शराब पीती हैं न, कितनी पीती हैं।

भूपेश ऐसा क्या पहुंचाते हैं प्रियंका के पास..
इसके बाद राधिका ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को लपेटते हुए कहा कि, ऐसा क्या है भूपेश बघेल के पास, जो वे प्रियंका गांधी को पहुंचाते हैं, जो उन्हें संरक्षण दिया जाता है। क्या मेरा राम मंदिर जाना इतना चुभ गया कि, मेरे खिलाफ यह षड्यंत्र रचा गया। आखिर में राधिका ने कहा कि, अब तो प्रभु श्रीराम ही मुझे न्याय दिलाएंगे।

राम मंदिर जाने पर मुझे डांटा गया
राधिका खेड़ा ने कहा कि, बीजेपी हमेशा आरोप लगाती रही कि, कांग्रेस राम विरोधी है, हिंदू विरोधी है। मैं यह सुनती आ रही थी, 22 साल पार्टी में रही, लेकिन कभी नहीं माना। मेरी आंखों से पर्दा उस दिन हटा, जब मैं खुद रामलला के दर्शन करने गई। मैं दर्शन करके आई तो मैं राममय हो चुकी थी। मैने अपने घर में एक रामध्वज भी लगाया। इसके बाद मुझे पार्टी की ओर से डांट लगाई गई। मुझे डिबेट में कम भेजा जाने लगा। मेरे खिलाफ षड्यंत्र रचा जा रहा था।(वीएनएस)

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: