Uttar Pradesh

सुप्रिम कोर्ट की निगरानी में हाथरस कांड की हो सीबीआई जांच -संजय सिंह

यूपी में बेटियों की आबरू असुरक्षित । आप नेता ने सीएम योगी पर बोला हमला ।

मिर्जापुर । आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने हाथरस में दलित बेटी संग हुए दरिंदगी की सुप्रिम कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में सीबीआई जांच कराने की मांग की है। आप नेता शनिवार को यहां नगर के भरूहना स्थित एक अकेडमी में आयोजित प्रत्रकार वार्ता में पूर्वी यूपी से लेकर पश्चिमी यूपी के महिलाओं,बच्चिायों से हुए रेप की घटनाएं गिनाते हुए कहा कि यूपी महिलाओं के लिए पूरी तर से असुरक्षित बन चुका है। कहाकि योगी सरकार के विरूद्ध पूरे प्रदेश की जनता में उबाल है।

हाथरस में दलित बेटी के साथ दरिंदगी पर योगी सरकार को घेरते हुए कहाकि घटना आठ दिन बाद तक पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं किया। यहां तक तो ठीक लेकिन दर्द से कराहती बेटी को उपचार तक कायदे से नहीं करवाया गया। बाद में एम्स दिल्ली ले जाया गया। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। आप नेता ने कहा कि बेटी के मृत्यु के बाद भी पुलिस ने जो ड्रामा किया उससे पूरा समाज शर्मसार है। हिन्दी रीति रिवाज से तड़पते मता-पिता को अंतिम संस्कार भी नहीं करने दिया। आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने योगी सरकार पर जातिवादी व अहंकार की राजनीति करने का भी आरोप लगाया। भयावह दौर में यूपी की 24 करोड़ जनता भय व दहशत के साये में जी रही है। इसके बाद आप नेता ने पार्टी की ओर से आयोजित कार्यक्रम में भाग लिया। प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत पंचायत चुनाव में भाग लेने की रणनीति बनाई गई।

नार्को टेस्ट पर भी उठाये सवाल , आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता,यूपी प्रभारी व राज्यसभा सदस्य संजय सिंह योगी सरकार के वादी-प्रतिवादी के नार्को टेस्ट कराने के फरमान पर सवाल उठाते हुए कहा कि नार्को टेस्ट न्यायालय के आदेश पर कराया जाता है।

डीएम को बचाने लगाया आरोप , आप नेता संजय सिंह ने सीएम आदित्यनाथ योगी पर हाथरस के डीएम को बचाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहाकि हाथरस के डीएम ही पूरी घटना पर पर्दा डालने का प्रयास कर रहे हैं। नेताओं,मीडिया तक को घटना स्थल तक जाने नहीं दिया। सवाल किया जब एसपी,सीओ और कोतवाल तक को सस्पेंड किया गया तो डीएम को क्यों बचाया जा रहा है।  आप नेता ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर हमला बोलने के क्रम में अधिकारियों की काल डिटेल निकाल कर जांच करवाने की मांग की। प्रदेश के एडीजी लॉ एण्ड आर्डर के उस बयान पर भी संदेश जताया जिसमें उन्होंने कहा था कि युवती के साथ रेप नहीं हुआ है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close