Crime

रामेश्वरम कैफ़े ब्लास्ट : एनआईए ने मुख्य संदिग्ध को गिरफ्तार किया

रामेश्वरम कैफे विस्फोट के संदिग्ध की राज्य से होने की पुष्टि नहीं:परमेश्वर

बंगलूरू । कर्नाटक की राजधानी बंगलूरू में रामेश्वरम कैफे में हुए धमाके के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने मुख्य संदिग्ध को हिरासत में लिया है। एनआईए के मुताबिक धमाके के अलग-अलग पहलुओं पर हो रही जांच के दौरान बेल्लारी में धमाके के मुख्य संदिग्ध को हिरासत में लिया। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि एनआईए ने ब्लास्ट मामले में संदिग्ध की तस्वीर जारी की थी। इसके बाद इस केंद्रीय जांच एजेंसी ने अलग-अलग पहलुओं पर जांच कर रही है। जांच के दौरान सैयद शब्बीर नाम के संदिग्ध को कर्नाटक के बेल्लारी जिले से हिरासत में लिया गया।

कर्नाटक पुलिस ने बताया है कि बंगलूरू कैफे ब्लास्ट मामले के संदिग्ध से मिलने वाले शख्स शब्बीर को गिरफ्तार किया गया है। एनआईए ने सूत्रों के हवाले से बताया कि शब्बीर को भी इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) विस्फोट मामले में एक प्रमुख संदिग्ध के रूप में देखा जा रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि उसने बेल्लारी में एक मार्च को धमाके के मुख्य संदिग्ध से मुलाकात की थी। शब्बीर ने बेल्लारी में कथित तौर पर उससे बातचीत की थी।

इससे पहले संदिग्ध को आखिरी बार विस्फोट के लगभग आठ घंटे बाद 1 मार्च को बेल्लारी बस स्टैंड पर देखा गया था। सार्वजनिक रूप से उपलब्ध एनआईए के रिकॉर्ड के मुताबिक विस्फोट के पांच दिन बाद एनआईए ने इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) मॉड्यूल के चार लोगों को हिरासत में लिया। एनआई की जांच के बारे में सूत्रों ने बताया कि रामेश्वरम कैफे धमाके के संदिग्ध ने कैफे से लगभग 3 किमी दूर जाने के बाद अपनी पोशाक बदल ली। पहले से पहनी गई बेसबॉल टोपी और शर्ट बदलकर उसने एक कैजुअल टी-शर्ट पहन ली।(वीएनएस)

रामेश्वरम कैफे विस्फोट के संदिग्ध की राज्य से होने की पुष्टि नहीं:परमेश्वर

कर्नाटक के गृह मंत्री डॉ. जी परमेश्वर ने मंगलवार को रामेश्वरम कैफे बम विस्फोट के संदिग्ध को लेकर चल रही अटकलों को लेकर कहा कि हमलावर के राज्य से होने की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है।डॉ. परमेश्वर ने इस बात पर जोर दिया कि हालांकि अटकलें चल रही हैं, लेकिन संदिग्ध के पकड़े जाने तक य असत्यापित रहती हैं।

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: