National

रेल विभाग – 50 हजार पानी बोतल का हुआ वितरण

सड़क के नाकों और अन्‍य स्‍थानों पर कोविड के खिलाफ जंग में तैनात पुलिसकर्मियों को गर्मी बढ़ने के साथ ही भारतीय रेल ने अपने पीएसयू आईआरसीटीसी की मदद से रेल नीर की बोतलें उपलब्‍ध कराना शुरु किया

नई दिल्ली । भारतीय रेल की ओर से अपने संगठनों जैसे आईआरसीटीसी, आरपीएफ, जोनल रेलवे और अन्‍य संगठनों की मदद से कोविड के खिलाफ रेलवे की जंग को समेकित रूप से जीवित रखने के अथक प्रयास किए जा रहे हैं।

हाल ही में रेलवे ने कोविड-19 के खिलाफ जंग में सड़कों पर उतरे दिल्‍ली पुलिस के कर्मियों को प्रतिदिन 10000पानी की बोतले उपलब्‍ध कराना शुरु किया है। अब तक 50000पानी की बोतलें बांटी जा चुकी हैं।

झुलसती गर्मी और जमीनी स्‍तर पर कष्‍टकारी हालात का सामना करते हुए ये पुलिसकर्मी न सिर्फ लॉकडाउन का कार्यान्‍वयन सुनिश्चित करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं, बल्कि जरूरत पड़ने पर चुनौतिपूर्ण हालात में डॉक्‍टरों और अर्द्ध चिकित्‍सा कर्मियों के साथ विभिन्‍न स्‍थानों पर भी जा रहे हैं।

पुलिसकर्मियों जैसे फ्रंटलाइन योद्धाओं की मदद करना,केवल अथक रूप से कार्य कर रहे इन अधिकारियों के प्रतिसम्‍मान ही नहीं होगा, बल्कि कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए जारी राष्‍ट्रीय प्रयासों में भारतीय रेल की ओर किए जा रहे प्रयासों का सहज विस्‍तार भी होगा।

इस पहल के तहत भारतीय रेल ने अपने पीएसयू आईआरसीटीसी की मदद से नई दिल्‍ली में  प्रतिदिन रेलनीर की 10000 बोतलों का निशुल्‍क वितरण शुरु किया है। ये रेलनीर की 10000 बोतलें एक-एक लीटर की हैं। इन्‍हें नांगलोई स्थित रेलनीर संयंत्र से लेना पड़ता है। अब तक 50000 से ज्‍यादा बोतले वितरित की जा चुकी हैं।

उल्‍लेखनीय है कि कोविड-19 के कारण जारी लॉकडाउन के बाद से भारतीय रेल निस्‍वार्थ और स्‍वेच्छिक रूप से जरूरतमंद लोगों को पका हुआ गर्म भोजन उपलब्‍ध करा रही है। रेलवे आईआरसीटीसी की बेस किचन्‍स, आरपीएफ संसाधनों और एनजीओ के योगदान के जरिए बड़ी मात्रा में पेपर प्‍लेट्स पर दोपहर का भोजन और खाने के पैकेटों में रात का भोजन उपलब्‍ध करा रहा है। कोविड-19 के कारण जारी राष्‍ट्रव्‍यापी लॉकडाउन के बाद से भारतीय रेल की ओर से उपलब्‍ध कराया जा रहा पका हुआ गर्म भोजन कल दो मिलियन का आंकड़ा पार कर गया।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close