National

राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने मंदिर में सफाई कर की पूजा-अर्चना

उमा का सिन्हा से नाम वापस लेने का अनुरोध

मयूरभंज । एनडीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने बुधवार को ओडिशा के मयूरभंज में रायरंगपुर जगन्नाथ मंदिर में पूजा अर्चना की। उन्होंने यहां मंदिर परिसर में झाड़ू भी लगाई। इसके बाद उन्होंने शिव मंदिर में पूजा अर्चना की। इतना ही नहीं मुर्मू आदिवासी पूजा स्थल जहिरा भी पहुंचीं। भाजपा ने मंगलवार को आदिवासी नेता द्रौपदी मुर्मू को एनडीए का राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया है। द्रौपदी मुर्मू झारखंड की पहली महिला राज्यपाल भी रह चुकी हैं।

द्रौपदी मुर्मू का जन्म ओडिशा आदिवासी जिले मयूरभंज के रायरंगपुर गांव में हुआ।मुर्मू 2013 में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में एसटी मोर्चे की सदस्य रहीं। 10 अप्रैल 2015 तक उन्होंने यह पद संभाला था। वे 2013 में ओडिशा के मयूरभंज की जिला अध्यक्ष निर्वाचित हुईं थी। 2010 में भी जिला अध्यक्ष निर्वाचित हुई थीं। राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने के एक दिन बाद ही द्रौपदी मुर्मू को केंद्र ने Z+ सुरक्षा दी है। उम्मीदवार बनाए जाने के बाद उन्होंने सभी राजनीतिक दलों से समर्थन मांगा है। द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि वे आश्चर्यचकित हैं, उन्हें विश्वास नहीं हो रहा है कि वे एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनाई गई हैं।

मुर्मू ने कहा, मैं आप सभी की आभारी हूं और ज्यादा बोलने की इच्छा नहीं है। संविधान में राष्ट्रपति की जो भी शक्तियां हैं मैं उसके अनुसार काम करूंगी।उधर, ओडिशा के सीएम और बीजद प्रमुख नवीन पटनायक ने द्रौपदी मुर्मू को एनडीए का राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा, द्रौपदी मुर्मू का NDA के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में होना ओडिशा के लिए गर्व का क्षण है। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरे साथ इस पर चर्चा की तो मुझे बहुत खुशी हुई। वो देश में महिला सशक्तिकरण के लिए एक उदाहरण स्थापित करेंगी। नवीन पटनायक का ये बयान द्रौपदी मुर्मू की अपील पर फाइनल मुहर माना जा रहा है।(वीएनएस)

मुर्मू को बीजद, वाईएसआर कांग्रेस के समर्थन के संकेत

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से इतर आंध्र प्रदेश में सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी और ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) ने राष्ट्रपति चुनाव में राजग उम्मीदवार श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देने के स्पष्ट संकेत दे दिये हैं।वाईएसआर कांग्रेस के संसदीय दल के नेता श्री वी. विजयसाई रेड्डी ने ट्वीटर पर अपने संदेश में श्रीमती मुर्मू को बधाई देते कहा है कि श्रीमती मुर्मू को राजग द्वारा राष्ट्रपति चुनाव में प्रत्याशी घोषित किये जाने पर हार्दिक बधाई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बात बिल्कुल सही है कि श्रीमती मुर्मू हमारे देश की एक महान राष्ट्रपति साबित होंगी।श्री रेेड्डी ने ट्वीटर पर श्रीमती मुर्मू से मुलाकात करते हुए अपनी एक फाइल फोटो भी साझा की है।

आंध्र प्रदेश की 175 सदस्यीय विधानसभा में वाईएसआर कांग्रेस के 150 और विधान परिषद में 33 सदस्य हैं। लोकसभा में 25 में से 22 सदस्य और राज्यसभा में 11 में से 6 सदस्य हैं।भारतीय जनता पार्टी की अगुवाई वाले सत्तारूढ़ राजग के पास कुल 10.79 लाख वोटों के आधे से थोड़ा कम यानी 5,26,420 है। उसे वाईएसआर कांग्रेस और बीजू जनता दल जैसे दलों एवं निर्दलीयों के सहयोग की जरूरत होगी। राष्ट्रपति पद के लिए आदिवासी एवं महिला श्रेणी में आने वाली श्रीमती मुर्मू के ओडिशा से होने का भी फायदा मिलेगा।बीजू जनता दल (बीजद) के नेता एवं ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी यह साफ कर दिया है।

उन्होंने ट्वीटर पर श्रीमती मुर्मू को बधाई देते हुए लिखा कि जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनसे इस बात की चर्चा की तो उन्हें बहुत खुशी हुई। यह ओडिशा के लोगों के लिए एक गौरवशाली क्षण है। मुझे भरोसा है कि श्रीमती मुर्मू देश में महिला सशक्तीकरण की एक चमकती हुई मिसाल बनेंगी।राज्यसभा में ओडिशा से 10 में नौ सदस्य, लोकसभा में सभी 12 सदस्य बीजद के हैं। विधानसभा में बीजद के 114 विधायक हैं जबकि एक निर्दलीय एवं भाजपा के 22 सदस्य हैं। इस प्रकार से ओडिशा की 147 सदस्यीय विधानसभा में श्रीमती मुर्मू को 137 सदस्यों का समर्थन मिलने की संभावना है।

जेडीयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने बुधवार को एनडीए प्रत्‍याशी द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने का ऐलान कर दिया. उन्‍होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है । मुंगेर से जेडीयू सांसद ललन सिंह ने लिखा, ‘राष्ट्रपति के चुनाव में गरीब परिवार में जन्मीं एक आदिवासी महिला द्रौपदी मुर्मू उम्मीदवार हैं. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सैद्धांतिक रूप से महिला सशक्‍तीरण एवं समाज के शोषित वर्गों के प्रति समर्पित रहे हैं । जनता दल (यू) द्रौपदी मुर्मू की उम्मीदवारी का स्वागत एवं समर्थन करती है. राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार बनाए जाने पर उनको मेरी हार्दिक शुभकामनाएं.’ ललन सिंह के इस ट्वीट के बाद राष्‍ट्रपति चुनाव में एनडीए प्रत्‍याशी द्रौपदी मुर्मू के समर्थन को लेकर छाए बादल हट गए हैं ।

उमा का सिन्हा से नाम वापस लेने का अनुरोध

भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार और भाजपा के पूर्व नेता यशवंत सिन्हा से राष्ट्रपति पद की दौड़ से अपना नाम वापस लेने का अनुरोध किया है।सुश्री भारती ने अपने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि एनडीए ने श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को भारत के राष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार घोषित किया है, यह सब के लिए गर्व है। विपक्ष ने भाजपा के पूर्व नेता श्री सिन्हा को उम्मीदवार बनाया है।

उन्होंने कहा कि स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के समय वे श्री सिन्हा के साथ कई बैठकों में शामिल रहीं हैं।पूर्व केंद्रीय मंत्री सुश्री भारती ने कहा, ‘उस समय पर श्री सिन्हा जो बोलते थे, यदि वह उसमें विश्वास करते हैं और उसका पालन करते हैं तो उन्हें राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी से अपना नाम वापस ले लेना चाहिए। उनकी एनडीए से नाराजगी हो सकती है, किंतु जिन बातों पर हम यकीन करते हैं उसका पालन कहीं भी हो रहा हो तो हमें उस बात के खिलाफ खड़े नहीं होना चाहिए।’

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: