Breaking News

गंडोला में यात्रा करने वाले यात्रियों को सुनाई देगा शिव और राम धुन

काशी के नवनिर्माण में दिख रहा आधुनिकता और अध्यात्म का रंग.देश के पहले रोपवे सर्विस में यात्रा के दौरान होगा आध्यात्मिकता और धार्मिकता का आभास.केवल 16 मिनट में तय होगी कैंट स्टेशन से गोदौलिया की 3.85 किलोमीटर की यात्रा.  

वाराणसी :  काशी के नवनिर्माण में आधुनिकता और अध्यात्म का रंग दिखाई दे रहा है। देश के पहले रोप वे सर्विस में यात्रियों को यात्रा के दौरान आध्यात्मिकता और धार्मिकता का आभास होगा। गंडोला से करीब 50 मीटर की ऊंचाई से यात्रा में काशी दर्शन के साथ ही यात्रियों को भजन भी सुनाई देगा। रोपवे काशी की यातायात की समस्या को सुगम बनाने के साथ ही कम समय में प्रदूषण रहित यात्रा कराएगा। रोपवे से वाराणसी जंक्शन रेलवे स्टेशन से काशी विश्वनाथ मंदिर के पास गोदौलिया तक की यात्रा महज 16 मिनट में तय होगी। रोपवे का निर्माण 807 करोड़ से किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट को धरातल पर ला रही योगी सरकार दुनिया की तीसरे अर्बन ट्रांसपोर्ट का निर्माण काशी में तेजी से करा रही है। काशी में यातायात की समस्या को समाप्त करने के लिए रोपवे का निर्माण किया जा रहा है। जो प्रदूषण से बचाते हुए गंतव्य तक पहुंचाएगा। नेशनल हाईवे लॉजिस्टिक प्राइवेट लिमिटेड के चीफ़ एक्सक्यूटिव ऑफ़िसर प्रकाश गौर ने बताया कि वाराणसी में  रोप वे का काम तेजी से चल रहा है। काशी की परंपरा और मिज़ाज के अनरूप गंडोला में यात्रा करने वाले शिव धुन और रामधुन का आनंद ले सकेंगे। गंडोला और रोपवे स्टेशन पर भी वाराणसी की परंपरा ,संस्कृति ,धरोहर और अध्यात्म की तस्वीर देखने को मिलेगी।

नेशनल हाईवे लॉजिस्टिक प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ ने बताया कि रोप वे के पहले सेक्शन का कैंट, भारत माता मंदिर और रथयात्रा में प्लेटफार्म का काम अंतिम चरण में है। हर डेढ़ से दो मिनट के अंतराल में यात्रियों को गंडोला उपलब्ध रहेगा, एक दिशा में एक घंटे में 3000 लोग यात्रा कर सकेंगे यानी 6000 लोग दोनों दिशा से एक घंटे में आ जा सकेंगे। गोदौलिया से कैंट रेलवे स्टेशन पहुँचने में लगभग 16 मिनट लगेगा। लगभग 45 से 50  मीटर की ऊंचाई से क़रीब 150 ट्रॉली कार चलेगी। एक ट्रॉली में 10 पैसेंजर सवार हो सकते हैं।

2024 तक पर्यटकों के लिए तैयार हो जाएगा देश का पहला अर्बन ट्रांसपोर्ट रोप-वे

खास यूरोपियन डिज़ाइन वाले होंगे वाराणसी रोप-वे के केबिन

वाराणसी में बन रहे रोपवे स्टेशन पर आग से बचाव के लिए किए जाएंगे अत्याधुनिक उपाय

साल 2024 में ‘रोपवे इनेबल्ड सिटी’ होगा वाराणसी

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: