State

भलुअनी बाजार में सुअरों द्वारा गन्दगी से व्यापारी व क्षेत्रवासियों में आक्रोश

भलुअनी (देवरिया) । इस समय कोरोना जैसी फैली महामारी के बीच जहाँ लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुये सभी को सुरक्षित रहना है, वही भलुअनी बाजार में सुअरों के द्वारा किये जा रहे गन्दगी से लोंगों का जीना दूभर हो गया है । कोरोना से बचाव के लिये अपने आस पास सफाई रखते हुये सभी को इस खतरनाक वायरस से बचना है पर भलुअनी में यह मुमकिन नही दिख रहा । बनारसी प्रसाद व उसके पुत्र अशोक प्रसाद ग्राम बैकुंठपुर (भलुअनी) कई वर्षों से प्रतिदिन अपनी कई सुअरों को लाकर मुख्य बाजार में छोड़ देते हैं और खुद गायब हो जाते हैं । कई की संख्या में यह सुअरें गन्दगी से लिपटी हुयीं दिन भर पूरे बाजार, सार्वजनिक स्थानों, गांव सहित बाजार में व सड़कों पर घूमती रहतीं हैं जिससे होने वाली गन्दगी व बदबू से स्थानीय व्यापारियों व क्षेत्र के लोंगों को काफी दिक्कत होती है । दिन भर मुख्य बाजार में सुअरों द्वारा सड़क पर आने जाने से आवागमन भी बाधित होता है । आने जाने वाली महिलाओं को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है । इस समस्या से स्थानीय व्यापारियों में काफी आक्रोश है, व्यापार प्रकोष्ठ मण्डल संयोजक सन्तोष मद्धेशिया द्वारा थाने पर शिकायत करने पर पुलिसकर्मियों द्वारा कई बार इन पिता पुत्र को सख्त हिदायत दिया जा चुका है फिर भी यह दोनों हिदायत की अनदेखी करते हुये मनमाने तरीके से सुअरों को प्रतिदिन लाकर बाजार में छोड़ दे रहे हैं । व्यापारियों द्वारा मना करने पर दोनों झगड़ा करने पर उतारू हो जाते हैं । व्यापार प्रकोष्ठ के नेतृत्व में व्यापारी राजेश मद्धेशिया, सूरज वर्मा, सूरज मद्धेशिया, मनोज मद्धेशिया, दिनेश गुप्त, सुनील चौरसिया, ओमप्रकाश जायसवाल, कृष्णा गुप्ता, गोरख वर्मा, तैयब अली, भरत वर्मा, सुनील शर्मा, बलराम वर्मा, डॉ. एस. पी. सिंह, शत्रुघ्न वर्मा, परशुराम वर्मा, अशोक मद्धेशिया, बृजमोहन मद्धेशिया, पंकज गुप्ता सहित सभी व्यापारियों ने इन पिता पुत्रों पर कानूनी कार्रवाई करते हुये इस गम्भीर समस्या से छुटकारा दिलाने की मांग की है ।

 

 

 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close