CrimeState

गाजीपुर के युसूफपुर मोहम्मदाबाद में होगा मुख्तार का अंतिम संस्कार

मुख्तार के शव के देर रात तक गाजीपुर पहुंचने के आसार

गाजीपुर : मऊ सदर विधानसभा क्षेत्र से पांच बार विधायक रहे माफिया डान मुख्तार अंंसारी का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव यूसूफपुर मोहम्मदाबाद में स्थित पुस्तैनी कब्रस्तान काली बाग में होगा जिसकी तैयारियां मुक्कमल कर ली गयी हैं।मुख्‍तार अंसारी के पार्थिव शरीर कोमें काली बाग के कब्रिस्‍तान में सात गुणा तीन फीट की जमीन मिली है। उनको सुपुर्दे खाक किए जाने के समय उनकी पत्नी अफसा बेगम व पुत्र अब्बास अंसारी विधायक इस अवसर पर मौजूद रहेंगे या नहीं इस पर अभी तक संशय बरकरार है।

गौरतलब है कि विधायक मुख्तार अंसारी की पत्नी अफसा बेगम काफी लंबे अरसे से फरार चल रही है। जिन पर प्रशासन द्वारा 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। ऐसे में कयास लगाया जा रहे हैं कि क्या वह पति का अंतिम दर्शन करने सामने आएंगी या फरार ही रहेंगे।मुख्तार अंसारी के बड़े पुत्र मऊ सदर से विधायक अब्बास अंसारी फिलहाल जेल में बंद है, जिन्हें हाई कोर्ट में पैरोल की सुनवाई नहीं हो पाई है। फिलहाल उनके तरफ से उच्चतम न्यायालय में भी अर्जी लगाई जाने की बात आ रही है।

अब ऐसे में विधायक की पत्नी और बड़े पुत्र उनके अंत्येष्टि में शामिल होते हैं या नहीं यह संशय अभी भी बरकरार है।पारिवारिक सूत्रों के अनुसार मुख्‍तार अंसारी के शव को उनके पिता सुभानुल्‍लाह अंसारी के कब्र के पीछे कब्र खोदी गई है। वहीं पर उनको दफनाया जायेगा। निधन की सूचना के बाद से ही उनके आवास और कब्रिस्‍तान में भारी संख्‍या में पुलिस बल तैनात है। बांदा मेडिकल कालेज में डाक्‍टरों की टीम मुख्‍तार अंसारी के शव का पोस्‍टमार्टम किया। पोस्‍टमार्टम के बाद उनके शव को मुहम्‍मदाबाद गाजीपुर लाया जायेगा।

मुख्तार का शव कड़ी सुरक्षा के बीच गाजीपुर रवाना

माफिया सरगना और पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी का शव पोस्टमार्टम के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच बांदा से उसके पैतृक जिले गाजीपुर के लिये रवाना कर दिया गया।अधिकृत सूत्रों ने बताया कि मुख्तार के शव की पोस्टपार्टम कार्रवाई पांच चिकित्सकों के पैनल ने वीडियो ग्राफी के साथ लगभग दो घंटे में पूरी की।इससे पहले मुख्तार अंसारी का पुत्र उमर अंसारी , दो भतीजों के साथ मेडिकल कॉलेज पहुंचे और पंचायतनामा की कार्रवाई पूरी करने में शामिल रहे। जिसके बाद पोस्टमार्टम की प्रक्रिया शुरू हुई। मुख्तार का शव पोस्टमार्टम के बाद उसके पुत्र उमर अंसारी के सुपुर्द किया गया और शव को लगभग 26 वाहनों के साथ पूर्व में तय मार्गो से उसके पैतृक स्थल गाजीपुर जिले के लिए कड़ी सुरक्षा के साथ रवाना किया गया।

गौरतलब है कि गुरुवार की शाम बांदा मंडल कारागार में निरुद्ध माफिया मुख्तार अंसारी की हालत अत्यधिक गंभीर हुई जिसके बाद जिला प्रशासन ने तत्काल कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ उसे राजकीय रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया था। जहां नौ डाक्टर के पैनल ने उसका उपचार किया लेकिन लगभग दो घंटे के उपचार के बीच हृदय रुक जाने से मुख्तार की मृत्यु हो गई, जिसके बाद प्रशासन ने तत्काल मेडिकल कॉलेज में अर्ध सैनिक बल , पी ए सी सहित तमाम सुरक्षा बलों को तैनात किया गया।साथ ही मंडल कारागार सहित बांदा नगर के चप्पे – चप्पे में पुलिस और पीएसी जवान जवान तैनात कर पूरे बांदा शहर की सुरक्षा व्यवस्था के कड़े और बड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए थे।

मुख्तार के शव के देर रात तक गाजीपुर पहुंचने के आसार

पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी के पार्थिव शरीर के शुक्रवार देर शाम गाजीपुर पहुंचने के आसार हैं जिसके मद्देनजर गाजीपुर और मऊ में सुरक्षा इंतजाम और कड़े कर दिये गये हैं।स्थानीय पुलिस के साथ ही केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, आरएएफ इत्यादि की चहल कदमी तेज हो गई है। वहीं एलआईयू की बड़ी टीम भी चप्पा चप्पा पर निगाहवानी कर रही है। एक तरफ स्थानीय प्रशासन से लगातार उच्चाधिकारी तक निरंतर चक्रमण कर शांति व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं वहीं दूसरी ओर एलआईयू की बड़ी टीम जिला मुख्यालय, मुख्तार अंसारी का आवास, कब्रिस्तान से लगायत पूरे मोहम्मदाबाद यूसूफपुर कस्बे तक संदिग्धों की तलाश व चिन्हीकरण में जुट गई है।

पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह ने बताया कि मुख्तार अंसारी के निधन के सूचना के बाद से ही सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर दिए गए हैं। मुख्तार अंसारी का शव देर रात तक गाजीपुर आने की संभावना है। ऐसे में शनिवार की सुबह उनके धार्मिक रीति रिवाजों के तहत परिजनों द्वारा उनका काली बाग स्थित कब्रस्तान में अंतिम संस्कार किया जाएगा। स्थानीय प्रशासन द्वारा केवल शांति व्यवस्था कायम करना ही एक मात्र लक्ष्य नहीं बल्कि खुफिया तंत्र मुख्तार अंसारी के तमाम पुराने साथियों व सफेदपोश सहयोगियों को भी चिन्हित करने का काम किया जाएगा। एलआईयू द्वारा यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि कही महिलाओं की भीड़ में अफसा बेगम भी वहां आएंगी या नहीं। इसके साथ ही नए पुराने सहयोगियों व ऐसे तमाम पुराने शूटर व सहयोगी जो अभी तक फरार चल रहे हैं उनको भी खोजने में खुफिया तंत्र की आंखें अपना काम करती रहेगी।

मुख्तार की मौत के मामले की होगी न्यायिक जांच

उत्तर प्रदेश के बांदा में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने शुक्रवार को माफिया सरगना मुख्तार अंसारी की मृत्यु के न्यायिक जांच के आदेश दिए।मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट भगवान दास गुप्ता ने अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (एमपी/ एमएलए कोर्ट) गरिमा सिंह को जांच अधिकारी नामित करते हुए जांच रिपोर्ट एक माह के अंदर प्रेषित करने का आदेश दिया। यह आदेश न्यायालय द्वारा बांदा जिला कारागार के वरिष्ठ अधीक्षक द्वारा शुक्रवार को दोष सिद्ध/ विचाराधीन बंदी मुख्तार अंसारी की मृत्यु की सूचना भेजने के साथ न्यायिक जांच के लिये जांच अधिकारी नामित करने की याचना पर दिए गए।आदेश की प्रतिलिपि जिला न्यायाधीश , जिला मजिस्ट्रेट को सूचनार्थ एवं आवश्यक कार्रवाई के लिये भेजी गई। साथ ही जिला कारागार अधीक्षक को 63 वर्षीय मुख्तार अंसारी की मृत्यु/ इलाज से संबंधित सभी प्रपत्र और अन्य जो भी प्रलेख जांच से संबंधित तो हो जांच अधिकारी को तीन दिन के अंदर उपलब्ध कराने के भी आदेश दिए गए।(वार्ता)

मुख्तार अंसारी की हृदयाघात से मौत ,प्रदेश में अलर्ट जारी

जरायम की दुनिया से लेकर राजनीति के गलियारों तक चलता था मुख्तार का सिक्का

ईयर इंडर 2023 :मिट्टी में मिल गये माफिया,गैंगेस्टरों की 5775 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: