NationalState

विकास, गरीब कल्याण कार्य में भारत की प्रगति से दुनिया सीखना चाहती है: मोदी

रायगढ़ (छत्तीसगढ़) : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि जी20 सम्मेलन में आए दुनिया भर के सभी प्रमुख नेता आधुनिक विकास और गरीबों के कल्याण की दिशा में भारत की सफलता से प्रभावित थे और आज दुनिया भारत की इन सफलाओं से कुछ सीखना चाहती है।श्री मोदी ने कहा कि यह सफलता इसलिए है क्योंकि आज सरकार हर राज्य और हर इलाके को प्राथमिकता दे रही है । उन्होंने कहा, “ हमें मिल कर देश को आगे बढ़ाना है। ” प्रधानमंत्री रायगढ़ में रेल से विभिन्न परियोजनाओं के उद्घाटन के बाद एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। समारोह में छत्तीसगढ़ के उप मुख्यमंत्री टी. एस. सिंहदेव , केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह , क्षेत्र के सांसद और राज्य के कई विधायक उपस्थित थे।

श्री मोदी ने कहा , “ आधुनिक विकास की तेज रफ्तार के साथ ही गरीब कल्याण का भी तेज रफ्तार का भारतीय मॉडल आज पूरी दुनिया देख रही है, उसकी सराहना कर रही है।” उन्होंने बताया कि नयी दिल्ली में पिछले सप्ताह सम्पन्न हुए शिखर सम्मेलन में आए बड़े-बड़े देशों के “सभी राष्ट्राध्यक्ष और शासनाध्यक्ष भारत के विकास और गरीब कल्याण के प्रयासों से प्रभावित होकर गए हैं।”प्रधानमंत्री ने कहा, “ आज दुनिया की बड़ी-बड़ी संस्थाएं भारत की सफलता से सीखने की बात कर रहीं हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि आज विकास में देश के हर राज्य को, हर इलाके को बराबर प्राथमिकता मिल रही है। और जैसा उपमुख्यमंत्री (सिंहदेव) जी ने कहा हमें मिलकर के देश को आगे बढ़ाना है। छत्तीसगढ़ और रायगढ़ का यह इलाका भी इसका गवाह है।

”उन्होंने कहा, “ हमें अमृतकाल के अगले 25 वर्षों में अपने देश को विकसित बनाना है। ये काम तभी पूरा होगा, जब विकास में हर एक देशवासी की बराबर भागीदारी होगी। ”प्रधानमंत्री ने यहां जिन परियोजनाओं में इस जिले में एनटीपीसी के 800 -800 मेगावाट की दो इकाइयों वाले सुपर ताप बिजलीघर के लिए मेरी गो राउंड (एमजीआर) प्रणाली का उद्घाटन भी है जिससे खान से बिजलीघर के बीच कोयला ढुलाई दक्ष होगी और लागत कम होगी।उन्होंने कहा कि आज छत्तीसगढ़ विकास की दिशा में एक और बड़ा कदम उठा रहा है। राज्य को 6400 करोड़ रुपए से अधिक की रेल परियोजनाओं का उपहार मिल रहा है। इस प्रदेश का सामर्थ्य ऊर्जा उत्पादन में बढ़ाने के लिए, स्वास्थ्य के क्षेत्र में और सुधार के लिए भी आज अनेक नई योजनाओं का शुभारंभ हुआ है।इस अवसर पर राज्य में रक्तल्पता रोग के प्रति जागरूकता के लिए राज्य में सिकल सेल काउंसलिंग कार्ड्स भी बांटे गए ।

श्री मोदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ देश के विकास के पावर हाउस की तरह है और देश को भी आगे बढ़ने की ऊर्जा तभी मिलेगी, जब उसके पावर हाउस अपनी पूरी ताकत से काम करेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने इसी सोच के साथ बीते 9 वर्षों में हमने छत्तीसगढ़ के बहुमुखी विकास के लिए निरंतर काम किया है।उन्होंने इसीलिए छत्तीसगढ़ में केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में बड़ी योजनाएँ पूरी की जा रही हैं, नई-नई परियोजनाओं की नींव रखी जा रही है। इसी संदर्भ में उन्होंने जुलाई में विशाखापट्टनम से रायपुर इकनॉमिक कॉरिडोर, और रायपुर से धनबाद इकनॉमिक कॉरिडोर जैसी परियोजनाओं के शिलान्यास के अपने हाथों किए गए शिलान्यास का भी जिक्र किया।

उन्होंने कहा कि आज, छत्तीसगढ़ के रेल नेटवर्क के विकास का एक नया अध्याय लिखा जा रहा है। इस रेल नेटवर्क से बिलासपुर-मुंबई रेल लाइन के झारसगुड़ा बिलासपुर सेक्शन की व्यस्तता कम होगी। इसी तरह जो अन्य रेल लाइनें शुरू हो रही हैं, रेल कॉरिडोर बन रहे हैं, वे छत्तीसगढ़ के औद्योगिक विकास को नई ऊंचाई देंगे। जब इन रूट्स पर काम पूरा होगा तो इससे छत्तीसगढ़ के लोगों को तो सुविधा होगी ही, साथ ही यहाँ रोजगार और आमदनी के नए-नए अवसर भी पैदा होंगे।उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के कोलफील्ड्स से बिजलीघर तक कोयला पहुंचाने में लागत भी कम होगी और समय भी कम लगेगा। कम कीमत पर ज्यादा से ज्यादा बिजली बनाने के लिए सरकार कोयला खानों के मुहाने पर ताप बिजली घर स्थापित करने की नीति पर भी चल रही है।

उन्होंने कहा, “ आज तलाईपल्ली खदान को जोड़ने के लिए 65 किलोमीटर की मेरी गो राउंड प्रोजेक्ट का भी उद्घाटन हुआ है। आने वाले समय में देश में ऐसे प्रोजेक्ट्स की संख्या और बढ़ेगी, और इसका लाभ छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों को सबसे ज्यादा मिलेगा। ”प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें देश की ऊर्जा जरूरतों को भी पूरा करना है, और अपने पर्यावरण की भी चिंता करनी है। इसी सोच के साथ सूरजपुर जिले में बंद पड़ी कोयला खदान को नैसर्गिक पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित किया गया है। कोरवा क्षेत्र में भी इसी तरह के नैसर्गिक पार्क विकसित करने का काम किया जा रहा है। आज खदानों से निकले पानी से हजारों लोगों को सिंचाई और पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। इन सभी प्रयासों का सीधा लाभ इस क्षेत्र के जनजातीय समाज के लोगों को होगा।

श्री मोदी ने कहा, “ हमारा संकल्प है कि हम जंगल-जमीन की हिफाजत भी करेंगे, और वन सम्पदा से खुशहाली के नए रास्ते भी खोलेंगे। आज वनधन विकास योजना का लाभ देश के लाखों आदिवासी युवाओं को हो रहा है। ”उन्होंने कहा इस साल दुनिया ज्वार-बाजार वर्ष भी मना रही है। हमारे श्रीअन्न, हमारे मिलेट्स का बहुत बड़ा बाजार बन सकता है। इस तरह देश की जनजातीय परंपरा को नई पहचान मिल रही है और प्रगति के नए रास्ते भी खुल रहे हैं। (वार्ता)

देश के कोने-कोने के सनातनी को सतर्क रहने की जरूरत, संगठन की शक्ति से मंसूबे नाकाम करें : मोदी

मोदी की मध्यप्रदेश को हजारों करोड़ की सौगात, सनातन विरोधियों पर जम कर बरसे

भारत को विश्व की टॉप-3 अर्थव्यवस्थाओं में लाने में मध्यप्रदेश की बड़ी भूमिका होगी: मोदी

Website Design Services Website Design Services - Infotech Evolution
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Graphic Design & Advertisement Design
Back to top button