NewsPoliticsState

सत्ता की लालच में कांग्रेस ने अखंड भारत के किये दो टुकड़े

राममंदिर के निर्माण मे सबसे बड़ी बाधा कांग्रेस थी : योगी
(संजय प्रसाद सिंह)
वाराणसी|देश का बंटवारा धर्म के आधार पर कांग्रेस ने सत्ता के लालच में स्वीकार किया|यह बातें केंद्रीय संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय प्रांगण में नागरिकता संशोधन अधिनियम पर आयोजित जनसभा मे केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति रानी ने कही | उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कुछ लोग बनारस आकर पैराशूट पॉलिटिक्स करते है, अमेठी में सड़क पर नमाज पढ़ते है और बनारस में आकर शिवालय में दर्शन करते हैं|

blank


महाराष्ट्र में उनकी सहयोगी संजय राउत ने कहा कि कांग्रेस की एक नेता का एक अंडरवर्ड से सम्बंन्ध था|वीर सावरकर को अंडमान की जेल में कोड़े लगाए गए, कोल्हू में चलाया गया ऐसे वीर पर कांग्रेस सेवा दल ने पुस्तिका निकालकर अपमानित किया है|राहुल कहते हैं कि में राहुल सावरकर नही हूँ, अरे तुम्हारी 10 पुस्ते भी सावरकर नही बन सकते है|उन्होंने कहा कि सीएए नागरिकता देने का काम करती है|किसी को डरने की जरूरत नहीं है|
मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि राम मंदिर के निर्माण में सबसे बड़ी बा

blank

धा कांग्रेस थी|कांग्रेस की सत्ता लिप्सा औरजिन्ना के दबाव के कारण भारत बटा है|विपक्षी भारत की एकता और अखंडता को खंडित करने की मंसा के कारण ही आज यहां इकट्ठा होना पड़ा है|जब मुम्बई पर हमला हुआ तो कांग्रेस ने कहा कि भारत पाकिस्तान पर हमला करेगा तो उसके पास परमाणु बम है लेकिन वही पाकिस्तान मोदी की सरकार में पाकिस्तान चिल्लाने लगा की भारत पाकिस्तान पर हमला कर सकता है, ये भारत की ताकत है|

blank

हमने मकान दिए, किसी की जाती किसी का मजहब नही पूछा, हमने आयुष्मान दिए बिना किसी का मजहब पूछे लेकिन अगर कोई इसपर भी गुमराह कर रहा है तो सचेत होने की जरूरत है|यदि देश के खिलाफ कहीं खडायंत्र हो रहा हो तो हम मौन नही रह सकते है | महा भारत में चिर हरण के समय योद्धा मौन नही रहता तो महाभारत नही होता|

blank


केंद्रीय कौशल विकास मंत्री डॉक्टर महेंद्र नाथ पाण्डेय ने ने विपक्षी पार्टियों को कोसते हुए कहा कि संसद के बाहर हिंसा फैलाने कोशिश कर रही है | सभा मे उप मुख्य मंत्री केशव मौर्या, पूर्व मंत्री मनोज सिन्हा, भाजपा प्रदेश सिंह स्वतंत्र देव सिंह लोगो को सम्बोधित किया |इस मौके पर सांसद, विधायक मौजूद थे |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close