National

सरकारी भर्तियां नियमित प्रक्रिया है, चुनाव के बाद भी जारी रहेगी: मुख्यमंत्री योगी

सीएम ने चुटकी ली, शायद अखिलेश यादव भूल गए हैं कि यूपी का गठन उन्होंने ही किया है

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकारी भर्तियां नियमित प्रक्रिया है जो चुनाव के बाद भी जारी रहेगी। मुख्यमंत्री ने गुरुवार को एक साक्षात्कार के दौरान कहा कि पहले भर्ती का सिस्टम खराब था जो उनकी सरकार में ठीक हुआ । उनकी सरकार ने भर्ती से भ्रष्टाचार खत्म किया और पिछले पौने पांच साल में साढ़े चार लाख से अधिक युवाओं को पारदर्शी तरीके से सरकारी नौकरी दी । टीईटी परीक्षा में पर्चा लीक होने पर कार्रवाई की गई। उन्होंने कहा कि कुछ कोचिंग संस्थान शिक्षकों के नाम पर धरना प्रदर्शन के पीछे हैं क्योंकि प्रदेश सरकार की अभिनव अभ्युदय योजना की वजह से उनकी दुकान बंद हुई। आजादी के बाद 2017 तक जितनी महिला पुलिस कर्मी की भर्ती नहीं हुई, उससे ज्यादा पांच सालों में हुई। डेढ़ लाख शिक्षकों की भर्ती हो चुकी है, आगे और भर्तियां होंगी ।

पिछली सरकार पर सीधा हमला करते हुए सीएम योगी ने कहा की सपा शासन में सुनियोजित तरीके से प्रदेश में दंगे करवाए जाते थे। आज अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई होती है, तो सपा को पीड़ा होती है। हमारी सरकार ने पहले दिन से अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई। इसी का परिणाम है कि आज बेटियां सुरक्षित हैं। जिन अधिकारियों ने सरकार की नीति को क्रियान्वित किया, उनकी सपा शिकायत करती है। जो कानून के नजर में दोषी है, उसके खिलाफ कार्यवाही होगी। सपा की संवेदना अपराधियों और माफियाओं के प्रति है। जब संवेदना का स्तर एंटी सोशल होगा, तो आम जन का विकास प्रभावित होगा। उन्होंने सपा शासनकाल में गोरखपुर की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि जुलूस में एक लड़की से छेड़छाड़ हुई थी। उसको एक व्यापारी लड़के ने बचाया। उसे पुलिस जीप से खींच कर मार दिया गया था और उसका शव भी परिवार को नहीं सौंपा गया था। उस समय कोई सुरक्षित नहीं था, जो सुरक्षा की मांग करता था उसके खिलाफ मुकदमे होते थे। मेरे खिलाफ भी झूठे मुकदमे हुए।

  • “सपा की संवेदना अपराधियों और माफियाओं के प्रति”
  • सपा शासन में सुनियोजित तरीके से प्रदेश में दंगे करवाए जाते थे: योगी
  • जीरो टॉलरेंस नीति की वजह से ही आज बेटियां सुरक्षित: सीएम

योजनाओं का श्रेय लेने की होड़ को लेकर मुख्यमंत्री ने अखिलेश यादव की चुटकी लेते हुए कहा कि शायद वह भूल गए हैं कि यूपी का गठन भी उन्होंने ही किया है। उन्होंने कहा कि समय पर योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाना चाहिए। सपा सरकार में जो भी विकास का प्रयास हुआ, उसमें भ्रष्टाचार हुआ। गोमती रिवर फ्रंट इसका उदाहरण है। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिए लैंड ही नहीं था। केवल 20 फीसदी भूमि थी। हमने एक साल में 96 फीसदी जमीन खरीद ली, तब शिलान्यास किया। हमारी सरकार में पांच एक्सप्रेस वे पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि 2017 के पहले लोग मानते थे, जहां से अंधेरा शुरू हो, वह यूपी है। हमने प्रदेश में विकास कार्य कराया और योजनाओं को लोगों तक पहुंचाया। ये सब अखिलेश भी कर सकते थे, पर उनके पास विजन नहीं था, रुचि भी नहीं थी।

उन्होंने कहा कि सपा की सच्चाई सबके सामने आ रही है। चिढ़ स्वाभाविक है, जब व्यक्ति आपा खोता है तब व्यक्तिगत टिप्पणी करता है। उन्होंने कहा कि अब्बा जान से क्यों सपा चिढ़ती है। मुस्लिम का वोट चाहिए और अब्बाजान का विरोध। मुख्यमंत्री ने कहा कि पीएम सुरक्षा को लेकर जो पंजाब में हुआ है। उस पर मुख्यमंत्री चन्नी का बयान दुर्भाग्यपूर्ण है। मुख्यमंत्री ने कहा कि निषाद पार्टी सहयोगी दल है। इनके कार्यकर्ताओं पर गोरखपुर में गोली चली थी। संजय निषाद जेल में बंद किए गए थे। उस समय हमने सपोर्ट किया था। उन्हें लगा कि सपा उन्हें धोखा दे रही है। इसलिए वह हमारे साथ आए। सपा-बसपा के कालखंड में सुरक्षा के लिए खतरा था। कांग्रेस के 40 फीसदी टिकट महिलाओं को देने पर चुटकी लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले टिकट लेने वाले मिलें तो।

भ्रष्टाचार पर लगाम को सत्ता के विकेंद्रीकरण को आगे बढ़ायाः योगी

उन्होंने कहा कि हमने सत्ता के विकेंद्रीकरण को आगे बढ़ाया है। जन्म व निवास प्रमाणपत्र के लिए ग्राम सचिवालय बनाया। बैंकिंग सुविधा के लिए गांवों में बीसी सखी की नियुक्ति की गई। भ्रष्टाचार पर लगाम लगाना है, तो सत्ता का विकेंद्रीकरण करना पड़ेगा। योजना को समाज के हर व्यक्ति तक पहुंचाना होगा।

न दैन्यं न पलायनम्ः सीएम

चुनाव लड़ने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि न दैन्यं न पलायनम्। पार्टी जहां से कहेगी, वहां से लड़ेंगे। जब व्यक्ति अकेले होता है, तो व्यक्तिगत इच्छा रखता है। उन्होंने कहा कि 80 ऐसी सीटें थीं, जहां 2017 में नहीं जीते थे, वहां 65 से 70 फीसदी सीटें भी जीतेंगे। मैं 2017 के पहले जो था, वही आज भी हूं। जो पहले बोलता था वो अब करता हूं। पहले सैद्धांतिक था, अब व्यावहारिक हूं। टिकट पार्टी का संसदीय बोर्ड तय करेगा। जिनका रिपोर्ट कार्ड अच्छा होगा, उन्हें टिकट मिलेगा। जो कहा था वो किया, जो अब कहेंगे, वो फिर करके दिखाएंगे।

मथुरा शानदार तीर्थ और पर्यटन स्थल बनेगाः योगी

मथुरा पर उन्होंने कहा कि ब्रज तीर्थ विकास परिषद के माध्यम से काम चल रहा है। हम मथुरा को शानदार तीर्थ और पर्यटन स्थल बनाएंगे। भगवान कृष्ण हम सबके आराध्य हैं। उन्होंने कहा कि जातिवादी मानसिकता आराध्य पर नहीं आनी चाहिए। सभी धार्मिक स्थल का विकास किया जा रहा है। बुद्ध सर्किट इसका उदाहरण है।

कोरोना काल में भी नहीं हुईं चीनी मिलें बंद- योगी

सीएम योगी ने कहा कि सात वर्षों में किसानों के लिए जितने कार्य हुए हैं, उतने कभी नहीं हुए। पांच वर्ष विपक्ष के पूरे कार्यकाल पर हावी हैं। कोरोना में भी चीनी मिलें बंद नहीं हुई हैं। गन्ने का रेट बढ़ाया गया है। गन्ना किसानों को लागत से अधिक मूल्य मिल सके, इसका प्रबंध किया गया।

कोविड मैनेजमेंट यूपी से सीखो-योगी

फाइजर वैक्सीन का निर्माता अमेरिका से कहता है कि कोविड मैनेजमेंट यूपी से सीखो। अमेरिका और ब्राजील आबादी के हिसाब से यूपी के आसपास है, लेकिन वहां ज्यादा मौते हुईं। दूसरी लहर में विश्व में आक्सीजन की कमी थी। केंद्र और राज्य सरकार ने इंतजाम किए।

कंगना की फिल्म जरूर देखेंगेः योगी

उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद कंगना की फिल्म जरूर देखेंगे। वह बहादुर महिला है। फिल्म सिटी की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है, इसका शिलान्यास जल्द होगा और दुनिया की सबसे अच्छी फिल्म सिटी बनेगी।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: