Uttar Pradesh

बलिया में पूर्व मंत्री का आमरण अनशन दूसरे दिन भी जारी ,दो की हालत बिगड़ी

बलिया: प्रशासनिक वादाखिलाफी व अपने आठ सूत्रीय मांगों के समर्थन में पूर्व मंत्री छट्ठू राम द्वारा बलिया जनपद के बिल्थरारोड तहसील परिसर में बुधवार को भी आमरण अनशन जारी रहा। अनशन के दूसरे दिन 10 और नए लोग भी आंदोलन में शामिल हो अनशनरत हुए। जिससे अब पूर्व मंत्री छट्ठू राम समेत अनशन करने वालों की संख्या बढ़कर 22 हो गई है। वहीं पिछले 36 घंटे में अनशन पर बैठे दो आंदोलनकारियों की तबियत बिगड़ गई। बुधवार को अचानक तबियत खराब होने पर सुरेमन पासवान को विशेष चिकित्सकीय व्यवस्था के बीच रखा गया। मंगलवार को भी देर शाम अचानक तबियत खराब होने पर भुजैनी गांव निवासी चंद्रभूषण तिवारी को आनन फानन में एम्बुलेंस से सीयर सीएचसी भर्ती कराया गया। जबकि अन्य सभी अनशनकारियों का मेडिकल चेकअप स्वयं सीयर सीएचसी अधीक्षक डा. तनवीर अहमद ने की। पूर्व मंत्री छट्ठू राम ने बताया कि मांगों की पूर्ति होने तक आंदोलन जारी रहेगा। कहा कि वर्तमान सरकार को काम न करने वाले अधिकारी ही बदनाम कर रहे है। जो सिर्फ आवाज को दबाना व धमकी देना जानते है और जनहित के कार्यों को टालते है। बताया कि बुधवार को सतीश चंद्र, उपेंद्र सिंह, मनोज, अनिल, कलेंद्र प्रजापति, सागर पटेल, ललन राम, संतोष, अनिल राजभर व चंद्रिका भी आंदोलन में शामिल हो अनशन पर बैठे। इस दौरान राजेश सिंह, श्रीकांत चैहान, सुरेमन पासवान, ब्रजेश गोंड, सुग्रीव राजभर, राहुल पासवान, रामइकबाल गोंड, ताराचंद्र चैहान, रामवृक्ष राजभर व गोपाल ठाकुर अनशनकारी के अलावा अजीत राव, अरविंद गौतम, जयराम सिंह पटेल, देवेंद्र पटेल, सिकई यादव, गुड्डू अंसारी, अंबिका प्रसाद, स्वामीनाथ राजभर, राजेश शर्मा, धर्मेंद्र कन्नौजिया, राजेश शर्मा, लालबचन चैहान, संतलाल चैहान, पतिराम चैहान, रामचंद्र कुशवाहा, प्रेमचंद्र, राहुल कुशवाहा, विनोद श्रीवास्तव, उपेंद्र सिंह, राजेश चैरसिया आदि मौजूद रहे। मालूम हो कि क्षेत्र के आठ सूत्रीय मांग को लेकर पूर्व मंत्री छट्ठू राम अपने 12 समर्थकों के साथ मंगलवार से तहसील परिसर में आमरण अनशन पर बैठे है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close