Crime

पुलिस की पिटाई के बाद दलित युवक की मौत

अमरावती । आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले में कथित तौर पर स्थानीय पुलिस की कथित तौर पर पिटाई के बाद एक दलित युवक की मौत हो गई, लेकिन जिला पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ कौशल ने बुधवार को कहा कि युवक नशे में था और उसने एक कॉन्स्टेबल के साथ झगड़ा किया।  एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने इस घटना पर संज्ञान लिया और पीड़ित परिवार को मुआवजे के रूप में 10 लाख रुपये देने का आदेश दिया।

गुंटूर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक जे प्रभाकर राव ने मंगलवार रात को हुई इस घटना की जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गंगाधर को नियुक्त किया। प्रकाशम जिले के चिरला शहर में अपने दोस्त के साथ दोपहिया वाहन पर सवार होकर दलित युवक 18 जुलाई को जा रहा ता तभी उन्हें एक कांस्टेबल ने फेस मास्क न पहनने को लेकर रोका। डीएसपी ने कहा कि उस समय दोनों नशे में थे और उन्होंने कांस्टेबल के साथ मारपीट की।

कांस्टेबल ने घटनास्थल से दौड़कर उपनिरीक्षक को इस बात की सूचना दी। एसपी ने एक बयान में कहा कि दोनों को जीप में पुलिस थाने ले जाया जा रहा था तभी युवकों ने वाहन से कूदकर भागने की कोशिश की। एसपी ने कहा कि वाहन से कूदते समय वह गिर गया और सिर में चोट लगने के बाद उसे चिराला के सरकारी अस्पताल ले जाया गया। डीएसपी ने उपनिरीक्षक द्वारा दलित युवक की पिटाई की बात से इनकार किया। उन्होंने कहा,‘‘हम अभी भी मामले की जांच कर रहे हैं।’’

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close