HealthNational

कोरोना डेढ़ लाख के पार ,327 लोगों की मौत , 400 से अधिक संसद कर्मचारी कोरोना संक्रमित

कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 24 घंटों के दौरान इस जानलेवा वायरस से संक्रमित एक लाख 59 हजार 632 नये मामले मामले सामने आए है।इस बीच शनिवार को 89 लाख 28 हजार 316 कोविड टीके लगाये गये हैं और रविवार सुबह सात बजे तक के प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक एक अरब 51 करोड़ 57 लाख 60 हजार 645 लोगों को टीके दिये जा चुके हैं।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से आज जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में एक लाख 59 हजार 632 नये मामले सामने आने से संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर तीन करोड़ 55 लाख 28 हजार 004 हो गयी है। नये मामलों में बढ़ोतरी के साथ सक्रिय मामले बढ़कर पांच लाख 90 हजार 611 हो गये हैं। इसी अवधि में 327 और मरीजों की मौत होने के साथ मृतकों का कुल आंकड़ा बढ़कर चार लाख 83 हजार 790 हो गया है।पिछले 24 घंटों के दौरान 40,863 मरीज स्वस्थ होने से इस महामारी से निजात पाने वालों की कुल संख्या बढ़कर तीन करोड़ 44 लाख 53 हजार 603 हो चुके हैं।

इसी अवधि में 15 लाख 63 हजार 566 कोविड परीक्षण किए गये हैं और देश में अभी तक कुल 69 करोड़ 34 हजार 525 कोविड परीक्षण किया जा चुका है।देश में सक्रिय मामलों की दर 1.34 और रिकवरी दर 97.30 प्रतिशत है जबकि मृत्यु दर 1.37 फीसदी है।दूसरी तरफ कोविड के ओमिक्राॅन वैरिएंट से 27 राज्यों में अब कर 3623 व्यक्ति संक्रमित पाये गये हैं, जिनमें महाराष्ट्र में सर्वाधिक 1009, दिल्ली में 513 और कर्नाटक में 441 मामले हैं। ओमिक्राॅन के संक्रमण से 1409 व्यक्ति उबर चुके हैं।वर्तमान में देश में सबसे ज्यादा सक्रिय मामले महाराष्ट्र में हैं। जहां पिछले 24 घंटों में सक्रिय मामले 31750 बढ़ने से इनकी कुल संख्या बढ़कर 176948 हो गयी है और इस अवधि में 13 मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 141627 तक पहुंच गया है। राज्य में 9671 मरीजों के स्वस्थ होने से कोरोनामुक्त होने वालों की तादाद बढ़कर 6557081 हो गयी है।महाराष्ट्र के बाद कुल सक्रिय मामलों में पश्चिम बंगाल दूसरे और दिल्ली तीसरे स्थान पर पहुंच गया है।

पश्चिम बंगाल में उक्त अवधि में कोरोना के सक्रिय मामले 10671 बढ़कर 62055 हो गए हैं। राज्य में इस महामारी से 19 और लोगों की मौत होने के बाद मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 19883 हो गया है, जबकि राज्य में अभी तक 1648821 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना सक्रिय मामले 8305 बढ़कर 48178 हो गए है, जबकि 11,869 मरीजों के स्वस्थ्य होने के बाद इस महामारी से मुक्त होने वालों की कुल संख्या बढ़कर 1453658 हो गयी है। पिछले 24 घंटों में दिल्ली में सात लोगों की मौत से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 25143 हो गया है।केरल में पिछले 24 घंटों में कोरोना सक्रिय मामले 3239 बढ़कर 31797 हो गए हैं। राज्य में 2463 मरीजों के स्वस्थ होने से कोरोनामुक्त होने वालों की तादाद बढ़कर 5197960 हो गयी है। इस अवधि में 242 और मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 49547 हो गया है। देश में पिछले 24 घंटों में केरल में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या सबसे अधिक रही है।

हाल के दिनों में देश में कोरोना महामारी का प्रकोप फिर से बढ़ने लगा है और इससे निपटने के लिये भी व्यापक स्तर पर तैयारियां चल रही हैं।ताजा आंकड़ों के अनुसार कुल कोविड टीकाकरण 151.57 करोड़ से अधिक हो गया है। देश में कोविड रोगियों की संख्या पांच लाख 90 हजार 64 हो गयी है। यह संक्रमित मामलों का 1.66 प्रतिशत है। दैनिक संक्रमण दर 10.21 प्रतिशत हो गयी है।कोविड के नये रूप ओमिक्राॅन से 27 राज्यों में 3623 व्यक्ति संक्रमित पाये गये हैं जिनमें महाराष्ट्र में सर्वाधिक 1009, दिल्ली में 513 और कर्नाटक में 441 मामले हैं। ओमिक्राॅन के संक्रमण से 1409 व्यक्ति उबर चुके हैं।इस बीच निर्वाचन आयोग ने पांच राज्यों उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा कर दी है। आयोग ने कहा है कि चुनाव ड्यूटी करने वाले सभी कर्मियों को कोविड का अतिरिक्त टीका दिया जाएगा।

राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना जांच के दौरान संसद भवन में कार्यरत 400 से अधिक कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।सूत्रों के अनुसार इन कर्मचारियों की छह और सात जनवरी को जांच की गयी थी जिसमें ये सभी कोरोना से संक्रमित पाये गये। लगभग 1400 स्टाफ सदस्यों की कोरोना जांच की गयी थी जिनमें 400 से अधिक कोरोना से संक्रमित पाये गये हैं। कोरोना से संक्रमित पाये गये अधिकांश लोगों में कोरोना के लक्षण नहीं पाये गये थे।संसद के आगामी बजट सत्र से पहले यह जांच रिपोर्ट सामने आयी है। संसद के बजट सत्र की तारीखों की घोषणा अभी तक नहीं की गई है।यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि कोरोना से संक्रमित कितने कर्मचारी ओमिक्रॉन से संक्रमित हुए हैं। इसका खुलासा जांच नमूनों की जीनोम सीक्वेंस के बाद किया जाएगा।संसद परिसर में कर्मचारियों और सांसदों के जांच परीक्षण की व्यवस्था की गई है और लोकसभा सचिवालय ने भी सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार 60 से ऊपर के सांसदों के लिए बूस्टर डोज देना कर दिया है।रविवार को जारी एक सर्कुलर में कहा गया है कि संसद परिसर में कोविशील्ड या कोवैक्सीन के बूस्टर शॉट लेने के लिए 60 साल से अधिक उम्र के सांसदों के लिए अन्य रोगों की जांच की भी व्यवस्था की गई है।

दिल्ली के 6 प्रमुख अस्पतालों में कम से कम 750 डॉक्टर, नर्स और पैरामेडिक्स कोरोना से संक्रमित हैं. हालांकि इनमें से अधिकांश को हल्के लक्षण हैं, जिसके बाद सभी ने खुद को होम आइसोलेट कर लिया हैं. एक साथ इतने मेडिकल स्टाफ के कोरोना संक्रमित होने से कामकाज प्रभावित हुआ है. अस्पतालों को नियमित क्लीनिक और सर्जरी को बंद करना पड़ा है.‘इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) सबसे ज्यादा प्रभावित हैं, जिसमें लगभग 350 रेजिडेंट डॉक्टर इस समय आइसोलेशन में हैं. अस्पताल के एक रेजिडेंट डॉक्टर ने कहा कि ये सिर्फ रेजिडेंट डॉक्टर हैं. कुछ फैकल्टी मेंबर्स और कई नर्स और पैरामेडिक्स भी कोविड पॉजिटिव हैं ।

भाजपा के सांसद वरुण गांधी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। उन्होंने यह जानकारी खुद ट्वीट करते दी। उन्होंने बताया कि उनमें काफी गंभीर लक्षण दिखे हैं। वरुण गांधी ने बताया कि वह तीन दिन के पीलीभीत दौरे पर थे, उस दौरान वे वायरस की चपेट में आए हैं। इसके साथ ही उन्होंने चुनाव आयोग से मांग की है कि उम्मीदवार और पार्टी कार्यकर्ताओं को भी कोरोना वैक्सीन की Precaution डोज लगाई जाए। बता दें, पीलीभीत वरुण गांधी का संसदीय क्षेत्र है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है, तीन दिनों तक पीलीभीत में रहने के बाद, मेरी आज कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और काफी गंभीर लक्षण दिखाई दिए हैं। अब हम एक तीसरी लहर के बीच हैं और चुनाव अभियान चल रहा है। चुनाव आयोग को उम्मीदवारों और पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए भी एहतियाती खुराक का इंतजाम करवाना चाहिए।

ओमिक्रोन और डेल्टा वैरिएंट के चलते तमिलनाडु में बेकाबू होते कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की चेन तोड़ने के लिए रविवार को पूर्ण रूप से लॉकडाउन लगा दिया गया है। रविवार को वीकेंड लॉकडाउन इस साल का पहला लॉकडाउन रहेगा। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए तमिलनाडु सरकार ने पहले ही नाइट कर्फ्यू राज्य में घोषित कर दिया है। कई पाबंदियों के साथ इस रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन रखने का आदेश दिया गया है। यह निर्णय मुख्यमंत्री एमके स्टालिन की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया। संपूर्ण लाकडाउन के तहत रविवार को सिर्फ जरूरी सेवाएं जैसे मेडिकल, किराना आदि खुले रहेंगे। इसके अलावा सभी दुकानें व सेवाएं स्थगित रहेंगी। पुलिस विभाग कई टीमों का गठनकर स्थितियों पर नजर रखेगी। वहीं अन्य विभाग लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए सभी तैयारी कर रही है। नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। मास्क न लगाने पर जुर्माना देना होगा। रेस्त्रां खुले रहेंगे, लेकिन केवल होम डिलीवरी होगी। मॉल, जिम, स्पा और ऑडिटोरियम बंद रहेंगे। साप्ताहिक बंदी के साथ ही नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा। इस दौरान नाइट कर्फ्यू के नियम भी लागू रहेंगे।

इस बीच पंजाब से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है. शनिवार को राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार पंजाब में ऑक्‍सीजन सपोर्ट पर भर्ती होने वाले मरीजों की संख्‍या में 24 घंटे में 264 फीसदी का इजाफा हुआ है. शुक्रवार को राज्‍य में कुल 62 मरीज ऑक्‍सीजन सपोर्ट पर थे. वहीं शनिवार को यह आंकड़ा 226 हो गया. ऐसे में विधानसभा चुनाव से पहले पंजाब में कोरोना वायरस स्थिति बिगाड़ रहा है.आंकड़ों के अनुसार पंजाब में 1 जनवरी को ऑक्‍सीजन सपोर्ट पर 23 मरीज भर्ती थे. 1 जनवरी को राज्‍य में 332 कोरोना केस सामने आए थे. शुक्रवार को राज्‍य में 2901 कोरोना केस आए. शनिवर को यह संख्‍या बढ़कर 3643 हो गई. शुक्रवार को लेवल 3 सपोर्ट पर 20 मरीज थे. शनिवार को इनकी संख्‍या बढ़कर 55 हो गई. यह 175 फीसदी का उछाल है. वहीं इसी अवधि में वेंटिलेटर पर कुल 11 मरीज भर्ती हुए, जो शुक्रवार को 6 थे. 1 जनवरी को कोई भी मरीज वेंटिलेटर पर नहीं था. हालांकि 18 मरीज लेवल 3 सपोर्ट पर थे ।

दिल्ली में कोरोना  के नए मामले में रविवार को भी जबरदस्त उछाल देखने को मिला. शनिवार की तरह रविवार को भी कोरोना का आंकड़ा 20 हजार पार कर गया. दिल्ली में पिछले 24 घंटों में 22,751 नए कोरोना मामले मिले हैं, जबकि पॉजिटिविटी रेट अब 23.53 फीसदी पहुंच गया है. वहीं, बीते 24 घंटे में 17 लोगों की मौत हुई है, जो इस साल अब तक सबसे ज्यादा है. पिछले साल मई महीने के बाद यह एक दिन में सबसे ज्यादा नए मामले हैं. रविवार को पिछले साल 9 मई के बाद सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट दर्ज किया गया है. वहीं, 10, 179 कोरोना संक्रमित मरीज ठीक हुए हैं. राजधानी में शनिवार को कोरोना संक्रमित 7 मरीजों की मौत हुई थी.दिल्ली के कोरोना अस्पतालों की तो इस समय अस्पतालों में कुल 1800 मरीज भर्ती हैं, जिनमें से 182 कोविड संदिग्ध हैं. कुल 1800 मरीजों में 1442 दिल्ली से हैं और 176 दिल्ली से बाहर के हैं. इनमें से 440 मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है, जिनमें से 44 मरीज गंभीर स्थिति में वेंटिलेटर पर एडमिट हैं. वहीं, 310 मरीज आईसूयू में भर्ती हैं ।

दिल्ली में लॉकडाउन लगाने की फ़िलहाल कोई योजना नहीं : केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना नियमों का पालन करने और मास्क लगाने की अपील करते हुए कहा कि सरकार की लॉकडाउन लगाने की फ़िलहाल कोई योजना नहीं है।श्री केजरीवाल कोरोना से स्वस्थ होकर वापस आकर रविवार को पत्रकारों से कहा कि कोरोना के इस लहर से घबराने की ज़रूरत नहीं है। कोरोना नियमों का सख़्ती से पालन करें और मास्क लगाकर ही घरों से निकलें। बहुत ज़रूरी हो तभी अपने घरों से बाहर निकलें।उन्होंने कहा कि पूरे देश और दिल्ली में कोरोना बहुत तेज़ी के साथ फैल रहा है लेकिन ज़्यादातर मरीज़ों को अस्पताल में भर्ती होने की ज़रूरत नहीं पड़ रही है। पिछली लहर के दौरान सात मई को बीस हज़ार कोरोना के मामले आए थे और 341 लोगों की मौत हुई थी लेकिन कल बीस हज़ार मामले आए और सात लोगों की मौत हुई है। मई में बीस हज़ार बेड अस्पताल में भरे थे लेकिन कल मात्र 1500 बेड अस्पताल में भरे हैं।उन्होंने कोरोना से घबराने की ज़रूरत नहीं है। मास्क पहनना सबसे अनिवार्य है। अगर आप मास्क पहनकर निकलेंगे तो लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। सरकार की लॉकडाउन लगाने की अभी कोई मंशा नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार की कम से कम प्रतिबंध लगाने की कोशिश मेें है ताकि लोगों की रोज़ी रोटी चलती रहे।

 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: