UP Live

जलाभिषेक-रुद्राभिषेक कर सीएम योगी ने की प्रदेशवासियों के सुखमय जीवन की प्रार्थना

महाशिवरात्रि पर भरोहिया स्थित पितेश्वरनाथ शिव मंदिर में सीएम ने किया दर्शन-पूजन

  • गोरखनाथ मंदिर में गो दुग्ध और गन्ने के रस से रुद्राभिषेक किया मुख्यमंत्री ने
  • मानसरोवर मंदिर में भगवान शिव का दर्शन-पूजन किया सीएम योगी ने

गोरखपुर । देवाधिदेव महादेव भोले शंकर की उपासना के पावन पर्व महाशिवरात्रि पर मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने भरोहिया के पितेश्वरनाथशिव मंदिर में जलाभिषेक तथा गोरखनाथ मंदिर के शक्तिपीठ में भगवान शिव का रुद्राभिषेक कर प्रदेशवासियों के आरोग्य, सुख, समृद्धि व शांति की मंगलकामना की।

सीएम योगी शुक्रवार को सुबह लखनऊ से पीपीगंज के भरोहिया स्थित पितेश्वरनाथ शिव मंदिर पहुंचे। यहां बाबा पितेश्वरनाथ का दर्शन, पूजन व विधि विधान से जलाभिषेक कर सम्पूर्ण मानव जाति के कल्याण, सुख-समृद्धि एवं शांति की प्रार्थना की। पांडवकालीन मान्यता वाले पितेश्वरनाथ मंदिर का गोरक्षपीठ से गहरा नाता है। गोरक्षपीठाधीश्वर हर महाशिवरात्रि यहां जलाभिषेक करने आते हैं। जलाभिषेक करने के बाद मुख्यमंत्री ने भरोहिया में शिव मंदिर के सामने स्थित गुरु गोरखनाथ विद्यापीठ के परिसर में स्थानीय जनप्रतिनिधियों और लोगों से मुलाकात कर उनका कुशलक्षेम जाना।

बच्चों का प्यार से माथा सहला कर आशीर्वाद दिया। कुछ लोगों से हंसी ठिठोली भी की। स्थानीय स्तर पर विकास से जुड़े कुछ मामलों पर उन्होंने अधिकारियों को हिदायत दी कि विकास में कोई बाधा नहीं आनी चाहिए। भरोहिया में मुख्यमंत्री के आगमन पर विधायक फतेह बहादुर सिंह, भरोहिया के ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि संजय सिंह, जंगल कौड़िया के ब्लॉक प्रमुख बृजेश यादव, गोरख सिंह समेत कई लोग मौजूद रहे।

इसके बाद भरोहिया से गोरखनाथ मंदिर पहुंचने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सबसे पहले गुरु गोरखनाथ का दर्शन-पूजन किया। अपने गुरुदेव ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की समाधि स्थल पर शीश झुकाकर उन्हें नमन किया। तत्पश्चात गोरखनाथ मंदिर परिसर में मठ के प्रथम तल पर स्थित शक्ति मंदिर में उन्होंने भगवान भोले शंकर का दुग्ध, दही, घी, मधु और शर्करा से पंच स्नान तथा गो दुग्ध और गन्ने के रस से रुद्राभिषेक किया। मठ के पुरोहित एवं वेदपाठी ब्राह्मणों ने शुक्ल यजुर्वेद संहिता के रुद्राष्टाध्यायी के महामंत्रों द्वारा रुद्राभिषेक का अनुष्ठान पूर्ण कराया।

रुद्राभिषेक के बाद मुख्यमंत्री ने हवन तथा आरती कर चराचर जगत के कल्याण के लिए महादेव शिव से प्रार्थना की। मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर परिसर स्थित शिव मंदिर में भी पूजन किया। उन्होंने यहां भगवान नंदी का पूजन कर भगवान शंकर का जलाभिषेक किया।गोरखनाथ मंदिर में महाशिवरात्रि का अनुष्ठान पूर्ण करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मानसरोवर मंदिर भी गए। यहां उन्होंने भोलेनाथ का दर्शन पूजन और जलाभिषेक किया।

पांडवकालीन पीतेश्वर नाथ महादेव मंदिर पर जलाभिषेक कर

पीपीगंज,गोरखपुर। आज पीपीगंज के भरोहिया ब्लॉक में स्थिति पांडवकालीन पितेश्वरनाथ महादेव के मंदिर पर हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भरोहिया मंदिर में भगवान शिव की पूजा-अर्चना की। जन श्रुतियो के अनुसार अज्ञातवास के समय पांडव ने इस शिवलिंग की स्थापना की थी।मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों के सुख-समृद्धि और कल्याण की कामना के साथ साथ मंदिर के गर्भ गृह में भगवान के शिवलिंगपर बेलपत्र, फूल, फल और मिठाई अर्पित किया, आरती भी उतारी और भगवान शिव का आशीर्वाद लिया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महाशिवरात्रि का पर्व भगवान शिव की भक्ति और आराधना का पर्व है। यह पर्व हमें सदाचार और प्रेम का मार्ग दिखाता है। उन्होंने कहा कि भगवान शिव का आशीर्वाद सदैव प्रदेशवासियों पर बना रहे। आज के कार्यक्रम में पूर्व कैबिनेट मंत्री विधायक कैंपियरगंज फतेह बहादुर सिंह, योगी सेवक अमित सिंह मोनू, भरोहिया ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि संजय सिंह, मत्स्य राज्य मंत्री रमाकांत निषाद,जंगल कौड़िया ब्लॉक प्रमुख बृजेश यादव, पुजारी गोपीनाथ, गणेश मद्धेशिया चुनाव प्रबंधन समिति,अजीत सिंह व अन्य उपस्थित रहे।

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: