NationalPoliticsState

‘बुलडोजर बाबा’ का आह्वान- आप भाजपा को लाइए, बंगाल को कर्फ्यू-दंगा मुक्त कराइए

योगी आदित्यनाथ ने ममता दीदी और कांग्रेस को दिखाया आईना.घुसपैठिए को बंगाल में घुसाकर सुनियोजित साजिश के तहत हिंदुओं की संख्या कम करने का हो रहा प्रयासः योगी .

  • आह्वान- बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने के लिए भाजपा के साथ जुट जाएं
  • अपील, डरने की आवश्यकता नहीं- मतदान स्थल तक जाइए और वोट दीजिए

मुर्शिदाबाद : सुदृढ़ कानून व्यवस्था के पर्याय उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को पश्चिम बंगाल के चुनावी रण में उतरे। सीएम योगी ने यहां तीन चुनावी रैली की। पहली रैली मुर्शिदाबाद जिले में बहरामपुर लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी डॉ. निर्मल कुमार साहा के पक्ष में की। योगी आदित्यनाथ की एक झलक पाने को आमजन की भीड़ उमड़ी। उमड़े। पूरा प्रांगण खचाखच भरा रहा। यहां सीएम योगी ने ममता दीदी को आईना दिखाया तो कांग्रेस-तृणमूल के गठबंधन को भी खूब खरी-खरी सुनाई। संदेशखाली और रामनवमी में दंगे को लेकर योगी ने बंगाल सरकार से कई प्रश्न भी पूछे। उन्होंने कहा कि बंगाल को दंगा-कर्फ्यू से मुक्त करने के लिए भाजपा को वोट दें।

योगी ने पूछाः भारत की संस्कृति को नई दिशा देने वाला बंगाल आज लहुलूहान क्यों
सीएम योगी ने कहा कि जो बंगाल भारत की सभ्यता व संस्कृति को नई दिशा देता था, जिस बंगाल ने भारत के संस्कारों को आगे बढ़ाने में महती भूमिका का निर्वहन किया था। जिसने कभी भारत को नवजागरण का मार्ग दिखाया था। वह बंगाल आज लहुलूहान, दिशाहीन क्यों है। जिस बंगाल ने कभी देश को राष्ट्रगीत-राष्ट्रगान दिया था, उस बंगाल से आज रोने और कराहने की चित्कार क्यों उठ रही है। जिस बंगाल ने भारत को सिखाया था कि गर्व से कहो, हम हिंदू हैं। उस बंगाल में सत्ता के संरक्षण में आज हिंदू परंपरा व संस्कृति को रौंदने का प्रयास कैसे हो रहा है।

जिस बंगाल ने मां दुर्गा की पूजा के अनुष्ठान का संदेश दिया, वहां संदेशखाली जैसी घटना कैसे
सीएम योगी ने कहा कि जिस बंगाल ने दयामयी मां दुर्गा की पूजा के अनुष्ठान का संदेश दिया था। प्रदेश सरकार बताए, उस बंगाल में संदेशखाली जैसी घटनाएं कैसे हो रही हैं। जिसकी कल्पना स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने की थी, आज का बंगाल वह ‘सोनार बांग्ला’ नहीं है। जिस बंगाल ने वंदे मातरम का गीत दिया था, उसे दंगों की आग में झोंकने का कुत्सित प्रयास हो रहा है। बंगाल साजिश का शिकार हो चुका है। कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस एक ही थैली के चट्टे-बट्टे हैं। दोनों बंगाल को लूटने और भारत के खिलाफ साजिश रचने के लिए एक हैं। कांग्रेस कम्युनिस्टों और दिल्ली में तृणमूल कांग्रेस के साथ मिलकर भारत के खिलाफ वही साजिश करना चाहती है, जो बंगाल के अंदर हिंदुओं के साथ कर रही है।

यूपी में योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों को मिल रहा है तो बंगाल को क्यों नहीं
सीएम ने कहा कि लहुलूहान बंगाल विकास से दूर हटता जा रहा है। बुनियादी सुविधाओं के लिए तरस रहा है। आज से सात वर्ष पहले उत्तर प्रदेश की भी यही स्थिति थी, लेकिन सात वर्ष में उप्र में कोई कर्फ्यू-दंगा नहीं हुआ। उप्र में आज कोई रंगदारी नहीं वसूल सकता। राहगीर और गरीब की संपत्ति पर कोई हस्तक्षेप नहीं कर सकता। यूपी में सरकार की योजना का लाभ हर गरीब, नौजवान, महिला, युवा को मिल रहा है, लेकिन बंगाल इससे वंचित है।

बंगाल को हिंदू विहीन करने की हो रही साजिश
सीएम योगी ने कहा कि बंगाल ने भारत को राष्ट्रगान व राष्ट्रगीत दिया। दुनिया के मंच पर स्वामी विवेकानंद ने संदेश दिया था कि ‘गर्व से कहो, हम हिंदू हैं,’ उस बंगाल को आज हिंदू विहीन करने की साजिश का शिकार बनाया जा रहा है। कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस बंगाल में दो प्रकार की साजिश कर रहे हैं। पहला-आपके डेमोग्राफी को कम करने की कुत्सित चेष्टा की जा रही है। घुसपैठिए को बंगाल में घुसाकर सुनियोजित साजिश के तहत आपकी संख्या को कम करने का प्रयास हो रहा है। दूसरा- कांग्रेस व तृणमूल कांग्रेस का गठबंधन दिल्ली में मिलकर साजिश करना चाहता है। दिल्ली से मोदी जी जो सुविधाएं भेजते हैं, माफिया व अपराधियों को सत्ता संरक्षण बनाकर उस पर यह लोग डकैती डालते हैं। उत्तर प्रदेश में पीएम मोदी के मार्गदर्शन में गरीबों को योजनाओं का लाभ मिल रहा है, लेकिन बंगाल में तृणमूल कांग्रेस कोई भी योजना लागू नहीं होने देती।

रामनवमी पर उप्र में दंगाई अत्याचार करते तो उल्टा लटकाकर ठीक कर देता
सीएम ने कहा कि राम रग-रग में बसे हैं। राम के बिना भारतीय जीवन पद्धति में कोई काम हीं हो सकता। हम जीते-उठते, सोते-बैठते राम का नाम लेते हैं। मांगलिक कार्यक्रमों में अखंड रामायण का पाठ और अंतिम यात्रा भी राम नाम सत्य से निकलती है। जैसे यहां राम की पूजा होती है, वैसे ही उत्तर प्रदेश में मां दुर्गा का अनुष्ठान होता है। बंगाल से गए मूर्तिकार यूपी में मूर्ति बनाते हैं। रामनवमी हो या नवरात्रि, वहां दंगा नहीं होता। बंगाल सरकार बताए, आखिरकार वैशाखी व रामनवमी के अवसर पर यहां दंगे क्यों हुए। बंगाल सरकार ने दंगाइयों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की। यह दंगाई अगर उप्र में अत्याचार करते तो उन्हें उल्टा लटकाकर ठीक कर देता। ऐसा हाल कर देते कि सात पीढ़ियां भूल जातीं कि दंगा कैसे होता है।

योगी ने किया आह्वान, सोनार बांग्ला के लिए भाजपा को दें वोट
सीएम ने आह्वान किया कि अगर हमें सोनार बांग्ला चाहिए तो मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार लाइए, कमल खिलाइए। भाजपा सुरक्षा, समृद्धि व सबका साथ-सबका विकास, सोनार बांग्ला का आश्वासन देती है। सीएम ने कहा कि बंगाल में भाजपा आएगी तो रामनवमी व वैशाखी के दंगाइयों और संदेशखाली के जिम्मेदारों गुंडों को सजा दिलाने का काम भाजपा करेगी। रामनवमी पर आस्था से खिलवाड़ करने वालों को सबक सिखाने के लिए मोदी सरकार आवश्यक है। मां लक्ष्मी घर में समृद्धि लेकर आएगी। सोनार बांग्ला और बंगाल की गौरवगाथा को आगे बढ़ाने के लिए भाजपा आवश्यक है। हमारे संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी इसी बंगाल के सपूत थे। उनके सपनों को साकार करने के लिए डॉ. निर्मल कुमार साहा को विजयी बनाइए।

अपील, डरने की आवश्यकता नहीं- मतदान स्थल तक जाइए और वोट दीजिए
सीएम योगी ने कहा कि जो कांग्रेस व तृणमूल नहीं कर सकती, वह काम भाजपा करती है। संदेशखाली व दंगाइयों को ऊपर लटकाएंगे। 500 वर्ष बाद अयोध्या में राम मंदिर बन गया है। रामलला ने होली भी खेली और रामनवमी पर जन्मोत्सव भी धूमधाम से मनाया है। अगर मोदी जी के प्रयास से यह संभव हो सकता है तो बंगाल को भी ‘सोनार बांग्ला’ बनाने के लिए कमल के साथ जुट जाएं। सीएम योगी ने बंगाल वासियों से कहा कि उत्साह के साथ मतदान जरूर करें। डरने की आवश्यकता नहीं। निर्वाचन आयोग आपकी सुरक्षा की व्यवस्था करेगा।

जनसभा में बहरामपुर से भाजपा प्रत्याशी डॉ. निर्मल कुमार साहा, भाजपा जिलाध्यक्ष सखारब सरकार, महामंत्री शंकर तलबदार, महिला मोर्चा की जिला महामंत्री अनामिका घोष, जिला उपाध्यक्ष रोहित जैन, सपन घोष, राज्य कमेटी के सदस्य अमिताभ रे, मंडल अध्यक्ष गोलोक बिहारी घोष, लोकसभा प्रभारी गार्गी दास घोष आदि की मौजदूगी रही।

बोले-कांग्रेस, कम्युनिस्टों और तृणमूल कांग्रेस ने बंगाल को कर दिया लहूलुहान

बीरभूम : बंगाल में रामनवमी पर दंगे होते हैं। शोभा यात्रा के दौरान तोड़फोड़ की जाती है। यही हाल कभी उत्तर प्रदेश में भी था, लेकिन सात वर्षों के अंदर वहां एक भी कर्फ्यू-दंगा नहीं हुआ। पूरे उत्तर प्रदेश में धूमधाम से रामनवमी मनायी जाती है। हजारों शोभायात्राएं निकलती हैं, लेकिन दंगे नहीं होते हैं। आज कहा जाता है कि नो कर्फ्यू-नो दंगा, यूपी में सब चंगा। वहीं आज बंगाल की स्थिति देखकर काफी अफसोस होता है। मैं ही नहीं, जिन महान क्रांतिकारियों ने भारत की आजादी के लिए बंगाल से शंखनाद किया था, उनकी आत्मा भी दुखी होती होगी, क्योंकि उन्होंने जिस ‘सोनार बांग्ला’ की कल्पना की थी, उसे कांग्रेस, कम्युनिस्ट और तृणमूल कांग्रेस ने लहूलुहान कर दिया है। सत्ता परस्त भ्रष्टाचारी और माफिया यहां की जनता के लहू को चूसने का काम कर रहे हैं। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहीं। उन्होंने बीरभूम से भाजपा प्रत्याशी देबतनु भट्टाचार्य के पक्ष में जनसभा कर वोट देने की अपील की।

कांग्रेस के घोषणापत्र में मुस्लिम आरक्षण की वकालत देश के विभाजन की साजिश
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और इंडी गठबंधन फिर से देश का विभाजन कराना चाहता है, जिसे हमें किसी भी हाल में होने नहीं देना है। बंगाल में भारत की डेमोक्रेसी को चेंज करने के साथ ही घुसपैठियों को सरेआम शरण दे करके अराजकता पैदा करने की छूट दी जा रही है। यह साजिश कांग्रेस और इंडी गठबंधन के मेनिफेस्टो में भी देखने को मिलती है। इतना ही नहीं, यहां की जनता की सहायता के लिए केंद्र की बीजेपी की सरकार अनेक सुविधाएं भेजती है, लेकिन वह जनता जनार्दन को नहीं मिलता है। उस सहायता को तृणमूल कांग्रेस हड़प लेती है और अपने गुंडों में बांटने का काम करती है। सीएम योगी ने कहा कि कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस का गठबंधन ठगने और गुमराह करने के लिए आया है। इनके मेनिफेस्टो में मुस्लिम आरक्षण की वकालत भारत के विभाजन की आधारशिला को सुदृढ़ करने जैसा है। ऐसे में सभी को सतर्क रहने की जरूरत है, ताकि देश को दोबारा विभाजन न हो। हमें धार्मिक आधार पर आरक्षण को रोकना होगा।

जनता को गुमराह कर सत्ता हासिल करना चाहती है कांग्रेस
उन्होंने कहा कि इंडी गठबंधन अनुसूचित जाति के अधिकारों पर डकैती डालने का काम करने जा रहे है। दरअसल, वह पिछड़ी जाति के लोगों को मिलने वाले आरक्षण में एक हिस्सा मुसलमानों को देने की बात कर रहे हैं। इससे पहले भी कांग्रेस ने जस्टिस रघुनाथ मिश्रा कमेटी और सच्चर कमेटी का गठन करके पिछड़ी जाति के 27 परसेंट आरक्षण में से 6 परसेंट आरक्षण को कम करते हुए उसे मुसलमानों को देने की सिफारिश की थी। भारतीय जनता पार्टी ने इसका विरोध किया था। इन्होंने दोबारा अपने मेनिफेस्टो में इसका उल्लेख किया है। यह जनता को गुमराह करके सत्ता हासिल करना चाहते हैं, जिसे हमें सफल होने नहीं देना है।

सत्ता को गिरफ्त में रखने वाले माफिया, आज जीवन की भीख मांग रहे
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2017 से पहले उत्तर प्रदेश में जो बड़े-बड़े माफिया कभी सत्ता को अपने गिरफ्त में रखते थे, आज वही गले में तख्ती लटका कर अपने जीवन की भीख मांग रहे हैं। वह कहते हैं कि हमारी जान बख्श दो, हम ठेला लगाकर अपने परिवार का पेट भर लेंगे, लेकिन दंगा नहीं करेंगे। इतना ही नहीं, वे गौकसी के धंधे को धड़ल्ले से चलाकर यहां की आस्था के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ही माफिया की संपत्ति को जब्त कर गरीबों में बांटने का काम कर सकती है। आज बड़े-बड़े माफिया उत्तर प्रदेश को छोड़ चुके हैं या फिर उनको जहन्नुम में भेज दिया गया है, उनके लिए धरती पर जगह नहीं है। सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आत्मनिर्भर भारत और विकसित भारत की संकल्पना को साकार करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इससे बंगाल भी आत्मनिर्भर होगा। यहां का किसान, नौजवान, महिला और व्यापारी भी आत्मनिर्भर होगा। ऐसे में हमें एकजुट हो करके बीजेपी को वोट करना है।

जनता नहीं, अपराधियों के साथ है ममता दीदी की ममताः योगी

आसनसोल : जिस बंगाल के स्वामी विवेकानंद ने वैश्विक मंच पर कहा था कि गर्व से कहो हम हिंदू हैं, आज उसी बंगाल में जयश्रीराम बोलने पर प्रतिबंध लगाया जाता है। जिस बंगाल ने बांग्ला रामायण लिखा था, आज वहां जयश्रीराम कहने पर गोली चलाई जाती है। शोभायात्रा पर हमले कर दिए जाते हैं। सरकार की ओऱ से झूठे मुकदमे दर्ज किए जाते हैं। पूरे देश को संस्कृति, कला व संस्कारों की सीख देने वाली बंगाल की भूमि में आज संदेशखाली की घटना होती है और तृणमूल सरकार अपराधी को बचाने का कार्य करती है। उपद्रवियों के सामने पूरी टीएमसी सरकार मौन है। ममता दीदी की ममता जनता नहीं, बल्कि अपराधियों के साथ है। बंगाल की परिस्थितियों से हर भारतवासी चिंतित है।

यह बातें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहीं। उन्होंने मंगलवार को पश्चिम बंगाल में तीसरी जनसभा आसनसोल लोकसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार एसएस अहलूवालिया के पक्ष में की।

जैसी अयोध्या लगती है, वैसे ही बंगाल को बनाना है
सीएम ने कहा कि बंगाल को भी यूपी जैसा मॉडल चाहिए। जब कोठारी बंधू बलिदान हुए थे तो अंतिम समय भी उन्होंने नारा लगाया कि रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे। नाम भले अलग हैं, लेकिन लूट, अराजकता, भ्रष्टाचार में कांग्रेस, तृणमूल व कम्युनिस्ट एक हैं। बस लूटने के तरीके इनके अलग हैं। तीनों पर विश्वास नहीं करना है। उन्होंने कहा कि बंगाल अब सोनार बंग्ला नहीं रहा। अपील की कि सोनार बांग्ला के लिए मोदी जी के नेतृत्व में वोट देना है। सीएम ने सुरक्षित व समृद्धि बंगाल की वकालत की। अयोध्या की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि तब और अब की अयोध्या में काफी अंतर आ गया है। जैसी अयोध्या लगती है, वैसे ही बंगाल को बनाना है।

बंगाल के कोठारी बंधुओं ने राम जन्मभूमि के लिए दिया था बलिदान
सीएम ने कहा कि जिन कारणों से 1947 में मजहब के आधार पर देश का विभाजन हुआ था। बंगाल के अंदर कांग्रेस व तृणमूल के लोग फिर से उसी परिस्थिति को पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं। बीरभूमि में सात में से तीन असेंबली की डेमोग्राफी बदल गई है। वहां रामनवमी के जुलूस पर हमले होते हैं। सीएम ने कहाकि अयोध्या में राम जन्मभूमि आंदोलन में बंगाल के कोठारी बंधुओं ने खुद को बलिदान किया था।

आसनसोल की जनता को पानी के लिए तरसा रही ममता दीदी
सीएम ने कहा कि जो काम 65 वर्ष में कांग्रेस नहीं पाई, वह काम 10 वर्ष में मोदी जी ने कर दिया। बंगाल में जो काम दीदी 15 वर्ष में नहीं कर पाईं, हमने पांच वर्ष में ही उत्तर प्रदेश में कर दिया। बंगाल में तृकां सरकार जनता की योजनाएं लागू नहीं होने देती। तृणमूल सरकार आसनसोल की जनता को पानी के लिए तरसा देती है। मोदी जी हर घर नल योजना लागू करना चाहते, लेकिन यह लोग पानी नहीं देना चाहते।

उप्र में 50 हजार स्थानों पर होती है दुर्गा पूजा, कहीं भी दंगा नहीं हुआ
रैली में आए आमजन के हाथ में श्रीराम की फोटो देख सीएम गदगद हो गए। उन्होंने कहा कि यहां रामनवमी की शोभायात्रा नहीं निकल रही है। उप्र में 50 हजार स्थानों पर दुर्गा पूजा होती है। सात वर्ष में वहां कर्फ्यू व एक भी दंगा नहीं हुआ। दंगा-कर्फ्यू लगाने वालों को पता है कि रामनवमी के जुलूस पर पथराव करेंगे तो ऐसा उल्टा लटका देंगे कि सात पीढ़ियां दंगा करना भूल जाएंगी। हम देंगा करने वालों की संपत्ति को कब्जे में लेकर गरीबों में बांट देते हैं।

शेर जैसा नेतृत्व चाहिए तो एसएस अहलूवालिया को वोट दे दीजिए
सीएम योगी ने कहा कि शेर जैसा नेतृत्व चाहिए तो एसएस अहलूवालिया को वोट दीजिए। जब हम लोगों ने संसद में जाना शुरू किया था, तब भी वे देश के नेता थे। संसद में भी हम साथ रहे। केंद्रीय मंत्री व भाजपा प्रवक्ता के रूप में उन्होंने काम किया। आसनसोल का सौभाग्य है कि इसी माटी के सपूत आपके बीच में हैं। उनके भीतर आत्मनिर्भर व विकसित भारत की संकल्पना को पूरा करने का जज्बा है। अहलूवालिया जी का शेर जैसा दिल और जूझने की प्रवृत्ति है। अहलूवालिया जी को अपना प्रतिनिधि बनाकर मोदी जी ने आसनसोल में भेजा है। सुरक्षा आपकी, बंगाल भी आपका, भारत भी आपका, वोट भी आपका और निर्णय भी आपका है। भाजपा के पक्ष में आया तो सुरक्षित व समृद्धि बंगाल-आसनसोल बनेगा। तनिक सी भूल नक्सलवाद-आतंकवाद के उस दौर को ला देगा, जहां विस्फोट, गुंडागर्दी व अराजकता फैलती थी।

इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री व आसनसोल से भाजपा प्रत्याशी एसएस अहलूवालिया, भाजपा जिलाध्यक्ष बप्पादित्य चटर्जी, विधायक डॉ. अजय पोद्दार, कृष्णेंदु मुखर्जी, जितेंद्र तिवारी, तापस रॉय, अर्जित रॉय आदि मौजूद रहे।

हाथों में योगी की फोटो, आंखों में दीदार की आस

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: