NationalState

भाजपा सरकार ने आदिवासियों के विकास के लिए बनाया अलग मंत्रालय: मोदी

आदिलाबाद : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार ने आदिवासियों के विकास के लिए एक अलग मंत्रालय बनाया है।श्री मोदी ने राज्य में 56,000 करोड़ रुपये की कई विकासात्मक परियोजनाओं की शुरुआत करने के बाद यहां एक सार्वजनिक बैठक (विजय संकल्प सभा) को संबोधित करते हुए कहा, “आजादी के कई दशकों बाद भी तेलंगाना के लोगों द्वारा किए गए योगदान को कभी उचित सम्मान नहीं दिया गया। हालांकि, 2014 के बाद केंद्र की भाजपा सरकार ने तेलंगाना के विकास और आदिवासी समुदाय के सम्मान को बहुत महत्व दिया।

”उन्होंने कहा, “ क्या कोई सोच सकता था कि एक आदिवासी महिला देश की राष्ट्रपति बनेगी?” उन्होंने कहा कि क्या किसी ने सोचा था कि भगवान बिरसा मुंडा की जयंती को राष्ट्रीय त्योहार के रूप में मनाया जाएगा। आदिवासियों के विकास के लिए भाजपा सरकार ने अलग मंत्रालय बनाया।श्री मोदी ने कहा कि यह सार्वजनिक बैठक चुनावी रैलियों से संबंधित नहीं है क्योंकि चुनाव की आधिकारिक घोषणा अभी तक नहीं की गई है और सार्वजनिक सभाओं को चुनावी रैलियां बताने के लिए विपक्ष की टिप्पणियों की आलोचना की।

उन्होंने कहा कि कुछ लोग पर्याप्त प्रयास नहीं कर रहे हैं और समय से पहले इन आयोजनों को चुनावी सभा के रूप में वर्गीकृत कर रहे हैं। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि ऐसी धारणाएं अनुचित हैं क्योंकि चुनावों की आधिकारिक घोषणा अभी तक नहीं की गई है।उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ‘विकास उत्सव’ मना रही है और पिछले 15 दिन में दो आईआईटी, तीन आईआईएम और एक आईआईएस का उद्घाटन किया गया है। इसी तरह, पांच एम्स का उद्घाटन किया गया और किसानों के लिए दुनिया की सबसे बड़ी भंडारण योजना शुरू की गई।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज तेलंगाना के आदिलाबाद, बेला और मुलुगु में दो नए राष्ट्रीय राजमार्गों की नींव रखी गई और ये आधुनिक सड़क और रेल बुनियादी ढांचे तेलंगाना को विकसित करने में मदद करेंगे।

मोदी ने तेलंगाना में विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को तेलंगाना में बिजली, रेल और सड़क क्षेत्रों में 56 हजार करोड़ रूपयों से अधिक की लागत वाली विभिन्न विकासपरक परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।श्री मोदी ने इस मौके पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय विकास के केंद्र के रूप में आदिलाबाद के महत्व पर प्रकाश डाला, जहां 30 से अधिक परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित की गयी तथा आधारशिला रखी गयी। ये परियोजनाएं राज्य के भीतर ऊर्जा, पर्यावरणीय स्थिरता और सड़क कनेक्टिविटी सहित विभिन्न क्षेत्रों में फैली हुई हैं।

उन्होंने केंद्र सरकार और तेलंगाना के बीच 10 साल की साझेदारी को स्वीकार किया और यहां के नागरिकों की आकांक्षाओं को साकार करने में अपनी प्रतिबद्धता पर जोर दिया। उन्होंने 800 मेगावाट क्षमता वाली एनटीपीसी यूनिट 2 के उद्घाटन की घोषणा की, जो तेलंगाना की बढ़ी हुई बिजली उत्पादन में योगदान देगी।अंबारी – आदिलाबाद – पिंपलखुटी रेल लाइनों के विद्युतीकरण के पूरा होने और आदिलाबाद, बेला और मुलुगु में दो प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि इन आधुनिक रेल और सड़क परियोजनाओं के जरिए न केवल तेलंगाना के विकास को बढ़ावा देंगी, बल्कि पर्यटन को बढ़ावा मिलने के साथ ही रोजगार के कई अवसर पैदा होंगे।

राज्य की प्रगति के माध्यम से राष्ट्रीय विकास के मंत्र पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री ने पिछली तिमाही में देश की 8.4 प्रतिशत की प्रभावशाली वृद्धि का हवाला देते हुए भारत की आर्थिक वृद्धि को लेकर उम्मीद जतायी। उन्होंने जोर देकर कहा कि यह गति भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित करेगी, जिससे तेलंगाना जैसे राज्यों में पर्याप्त आर्थिक विकास होगा।श्री मोदी ने समावेशी विकास के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए पिछले दशक में तेलंगाना के विकास के लिए आवंटन में पर्याप्त वृद्धि का उल्लेख किया। उन्होंने दोहराया कि सरकार के लिए विकास का मतलब समाज के दलित, आदिवासी, पिछड़े और वंचित वर्गों सहित सबसे गरीब लोगों का उत्थान करना है।

उन्होंने गरीबी में उल्लेखनीय कमी के लिए कल्याणकारी योजनाओं की सफलता का उल्लेख किया , जिससे 25 करोड़ से अधिक लोगों को लाभ हुआ। उन्होंने अगले पांच वर्षों में इस तरह के विकास अभियानों को और बढ़ाये जाने का आश्वासन दिया।कार्यक्रम में तेलंगाना की राज्यपाल डॉ. तमिलिसाई सुंदरराजन , मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी और केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी सहित गणमान्य हस्तियां मौजूद रही।(वार्ता)

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: