Politics

पंजाब में हो सकता है भाजपा-अकाली समझौता

कमलनाथ के कट्टर समर्थक जाफर भाजपा में शामिल

नयी दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की पंजाब में शिरोमणि अकाली दल के साथ लोकसभा चुनाव में गठबंधन की बात चल रही है और यदि गठबंधन हो जाता है तो राज्य की 13 संसदीय सीटों में से चार से पांच सीट भाजपा को मिलने की संभावना है।सूत्रों के अनुसार भाजपा लोकसभा चुनावाें में 370 का आंकड़ा पार करने एवं सहयोगियों के साथ मिल कर 400 से अधिक सीटें हासिल करने की रणनीति पर काम कर रही है। इसी के लिये वह राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के सदस्यों के विस्तार के लिये काम कर रही है।पार्टी के एक प्रमुख रणनीतिकार एवं केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी हाल ही में कहा था कि शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के साथ गठबंधन भाजपा ने नहीं तोड़ा था। उन्होंने संकेत दिये थे कि दोनों पार्टियां फिर से मिल कर चुनाव लड़ सकती हैं।

सूत्रों ने बताया कि दोनों दलों के बीच बातचीत सीटों की संख्या को लेकर हो रही है। शिरोमणि अकाली दल ने भाजपा के लिये चार से पांच सीट देने की पेशकश की है जबकि भाजपा ने पांच से छह सीटों पर दावा किया है। वैसे भाजपा ने पंजाब की सभी 13 सीटों पर लड़ने की तैयारी कर रखी है और सभी सीटों पर उम्मीदवारों के पैनल भी तैयार है, लेकिन परेशानी यह है कि किसान आंदोलन और उसमें खालिस्तानी दुष्प्रचार के कारण भाजपा की छवि खांटी सिख वोटरों में बहुत असरदार नहीं है। इसलिये शिरोमणि अकाली दल से गठबंधन करना अब भाजपा के लिए कुछ कुछ मजबूरी का सौदा हो गया है। शिरोमणि अकाली दल ने भी इस बात को अच्छी तरह से समझ लिया है।सूत्रों के अनुसार यदि अकाली दल अपने वोटरों के रुख को लेकर आश्वस्त हो जाता है तो दोनों दलों के बीच पांच सीटों पर समझौता हो सकता है। सोमवार देर शाम होने वाली कोर समूह की बैठक में इस बारे में कोई सहमति बनने की संभावना है।

कमलनाथ के कट्टर समर्थक जाफर भाजपा में शामिल

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के कट्टर समर्थक और प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सय्यद जाफर ने आज कांग्रेस को अलविदा कह कर भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया।राजधानी भोपाल स्थित भाजपा के प्रदेश कार्यालय में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने श्री जाफर समेत कांग्रेस के कई नेताओं को भाजपा की सदस्यता दिलाई।श्री जाफर के साथ ही बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश महासचिव डॉ. रामसखा वर्मा भी अपने कई समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल हो गए।राज्य में इन दिनों लगातार कांग्रेस के नेता पार्टी का साथ छोड़ कर भाजपा में शामिल हो रहे हैं। इसके पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस से राज्यसभा सांसद रह चुके वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी भी कई पूर्व विधायकों के साथ भाजपा में शामिल हो चुके हैं।

तेलंगाना की राज्यपाल ने दिया इस्तीफा

तेलंगाना की राज्यपाल और पुड्डुचेरी की उपराज्यपाल डॉ. तमिलिसाई सुंदरराजन ने सोमवार को यहां तत्काल प्रभाव से अपना इस्तीफा दे दिया।राजभवन से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, श्रीमती सुदरराजन ने अपना इस्तीफा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को सौंप दिया है।राज्यपाल के इस्तीफे के कारणों का हालाँकि अभी पता नहीं चल पाया है।सूत्रों के अनुसार डा. सुंदरराजन के आगामी लोकसभा चुनाव तमिलनाडु के मध्य चेन्नई या पुड्डुचेरी से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवार के रूप में लड़ने की संभावना है।उल्लेखनीय है डॉ. सुंदरराजन का इस्तीफा 15 मार्च को तेलंगाना में अपने तीन दिवसीय चुनाव अभियान के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राजभवन में रुकने के तुरंत बाद आया है।(वार्ता)

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: