Crime

मुठभेड़ में एक नक्सली ढेर, बंदूक भी बरामद

नक्सलियों ने किया आईईडी ब्लास्ट, जवानों को फंसाने के लिए बनाए स्पाइक होल

सुकमा,छत्तीसगढ़ । जिले के भेज्जी थाना क्षेत्र अंतर्गत नागाराम-पांताभेजी में नक्सलियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई। इस गोलीबारी में एक नक्सली ढेर हो गया। वहीं, एक 12 बोर की बंदूक भी बरामद की गई। घटना के बाद इलाके में सर्चिंग बढ़ा दी गई है।

पुलिस ने बताया कि जिला सुकमा के थाना भेज्जी क्षेत्र में कोंटा एरिया कमेटी के एसीएम सोढ़ी गजेंद्र, एसीएम पोडियम हड़मा और कोंटा एलओएस कमांडर दुर्रो कोसी सहित 15-20 नक्सलियों के आने के बाद बैठक की सूचना की सूचना मिली थी। सूचना के बाज डीआरजी बस्तर फाइटर्स व सीआरपीएफ 219 की संयुक्त टीम ने विशेष नक्सल अभियान संचालित किया।सर्च अभियान के दौरान सुरक्षाबलों एवं नक्सलियों के बीच नागाराम पांताभेजी के बीच जंगलों में मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में डीआरजी एवं बस्तर फाईटर्स के जवानों के द्वारा एक नक्सली को मार गिराने में कामयाबी मिली। मौके से एक 12 बोर राइफल, एक पिस्टल व अन्य नक्सल सामग्री बरामद की गई। मारे गये नक्सली शव की शिनाख्त की जा रही है। सुरक्षाबलों के द्वारा आसपास के इलाके की सर्चिंग की जा रही है।

नक्सलियों ने किया आईईडी ब्लास्ट, जवानों को फंसाने के लिए बनाए स्पाइक होल

कांकेर । जिले के परतापुर इलाके के वट्टेकाल क्षेत्र में जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट किया। ब्लास्ट के बाद सभी जवान सुरक्षित हैं। नक्सली पहाड़ी जंगलों की आड़ लेकर भाग गए। मौके से कुकर बम व अन्य नक्सल सामग्री जवानों ने बरामद की है। वहीं, छोटे बेठिया थाना क्षेत्र के जंगलो में नक्सलियों के द्वारा जवानों को स्पाइक होल में फंसाने की साजिश रची गई थी। नक्सल सर्चिग के दौरान जवानों को पत्तों से ढके 20 गड्ढे मिले हैं। सभी गड्ढे नक्सली स्पाइक होल बनाने के लिए खोदे थे।नक्सली जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए जंगलो में गड्ढे खोदकर स्पाइक होल बनाते हैं।

स्पाइक होल में नक्सली लोहे के पुराने छड़, रॉड और बांस को छीलकर रखते हैं। ऊपर से इसे झाड़, पत्तों से या फिर छोटे-छोटे पेड़ के डंगालों से या बांस की बनी चटाई से ढंक देते हैं। सर्चिंग के दौरान इस गड्ढे में जवानों के पैर पड़ते ही जवान वहां गिर जाते हैं।गौरतलब है कि हाल ही में दंतेवाड़ा पुलिस को सर्चिंग के दौरान दंतेवाड़ा-बीजापुर सीमा पर एक सुरंग का पता लगा था। जानकारी के अनुसार, इस सुरंग में करीब 100 नक्सलियों के छुपने की जगह है। यह 10 फीट गहरी, तीन फीट चौड़ी और 80 मीटर लंबी थी। जवानों को इस जगह कई स्पाइक होल भी मिले थे।(वीएनएस)

VARANASI TRAVEL VARANASI YATRAA
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: