Business

यीडा के 8 भूखंडों पर होगा 86 करोड़ का निवेश, 600 लोगों को मिलेगा रोजगार

  • प्राधिकरण ने 8 भूखंडों के लिए ई ऑक्शन प्रक्रिया की संपन्न, 37 करोड़ रुपए से ज्यादा की मिली धनराशि
  • भूखंडों के ई ऑक्शन के लिए निर्धारित बिड प्राइज से 5.65 करोड़ रुपए अधिक की धनराशि हुई प्राप्त
  • यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण में हो रहे व्यापक निवेश से विकास में आएगी गतिशीलता

लखनऊ । उत्तर प्रदेश को औद्योगिक प्रदेश बनाने के साथ-साथ रोजगार का केंद्र बनाने के लिए प्रयासरत योगी सरकार लगातार इस दिशा में कार्य कर रही है। यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी (यीडा) इसमें अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। जेवर एयरपोर्ट और फिल्म सिटी जैसे बड़े प्रोजेक्ट के माध्यम से यीडा क्षेत्र में व्यापक पैमाने पर निवेश हो रहा है, जबकि गुरुवार को ही यीडा ने अपने 8 संस्थागत भूखंडों के ई ऑक्शन के जरिए 37 करोड़ रुपए से ज्यादा की धनराशि प्राप्त की है। इन भूखंडों पर आवंटी द्वारा लगभग 86 करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा, जिससे लगभग 600 लोगों को रोजगार मिल सकेगा। उल्लेखनीय है कि प्राधिकरण की संस्थागत भूखंडों के आवंटन की योजना के तहत गुरुवार को ई ऑक्शन की प्रक्रिया पूर्ण हुई है। इसमें यीडा को बिड साइज से 5 करोड़ रुपए से भी ज्यादा की धनराशि मिली है।

पारदर्शी तरीके से संपन्न हुई ई ऑक्शन की प्रक्रिया
इस योजना के तहत ई ऑक्शन के माध्यम से आवंटन किए जाने के लिए 11 दिसंबर 2023 को सूचना प्रकाशित की गई थी। 14 मार्च 2024 को इन भूखंडों का यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण में ई ऑक्शन सीईओ अरुणवीर सिंह के दिशा निर्देशो में पारदर्शी तरीके से संपन्न हुआ, जिसमें 8 भूखंडों के सापेक्ष कुल बिड प्राइज लगभग 31.48 करोड़ रुपए की थी। इस बिड प्राइज के सापेक्ष प्राधिकरण को 37.12 करोड़ रुपए की धनराशि प्राप्त होगी जो कि बिड प्राइज से 5.65 करोड़ रुपए अधिक है। इन भूखंडों के सापेक्ष परियोजनाओं में कुल लगभग 86 करोड़ का निवेश किया जाएगा तथा परियोजनाओं के क्रियाशील होने पर लगभग 600 व्यक्तियों को रोजगार प्राप्त होगा। इससे यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के विकास में गतिशीलता आएगी।

प्राप्त हुए थे कुल 29 आवेदन
इस योजना में नर्सिंग होम के 6 भूखंडों के सापेक्ष कुल 14, कारर्पोरेट ऑफिस के 1 भूखंड के सापेक्ष 14 एवं सीनियर सेकेंडरी स्कूल के 1 भूखंड के सापेक्ष 1 आवेदन प्राप्त हुए थे। भूखंडों में सबसे अधिक भूखंड (सीनियर सेकेंडरी स्कूल) का क्षेत्रफल 10115 वर्ग मीटर है जोकि 2.5 एकड़ से भी अधिक है। यह भूखंड मेसर्स सुभाष इंफ्राइंजीनियर्स प्रा. लि. को प्राप्त हुआ है। इसके अलावा कॉर्पोरेट ऑफिस का एक भूखंड जो मेसर्स फ्लक्स कैपिटल प्रा. लि. को प्राप्त हुआ। इसकी बिड प्राइज से लगभग दो गुना रेट पर बिड लगी है। इसी तरह, नर्सिंग होम के लिए भूखंड मेट्रो इंडिया लि., जेपीएस रीयल एस्टेट, आर आर मेडिकल सर्विसेज प्रा. लि., नवीन मेडिकेयर प्रा. लि.(2 बिड) और रामराज वेलनेस प्रा. लि. को प्राप्त हुआ है। इन सभी 6 भूखंडों पर बिड प्राइज से ज्यादा की बिड प्राप्त हुई है।

600 लोगों को मिलेगा रोजगार
इन सभी फाइनल बिड के माध्यम से करीब 600 लोगों को रोजगार प्राप्त होगा। नर्सिंग होम के लिए फाइनल हुई सभी 6 बिड के माध्यम से यीडा क्षेत्र में 52.03 करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा। इन सभी 6 नर्सिग होम परियोजनाएं के धरातल पर उतरने से लगभग 450 लोगों को नौकरी के अवसर प्राप्त होंगे। वहीं कॉर्पोरेट ऑफिस के लिए फाइनल बिड 9.48 करोड़ से ज्यादा की रही, जिसके जरिए क्षेत्र में 14.69 करोड़ रुपए का निवेश होगा। इससे 120 नौकरियों के अवसर सृजित होंगे। वहीं सीनियर सेकेंडरी स्कूल के लिए फाइनल बिड 13.36 करोड़ से ज्यादा की रही, जिसके माध्यम से 19.13 करोड़ रुपए का निवेश होगा और लगभग 30 लोगों को रोजगार प्राप्त हो सकेगा।

राजनीति का अपराधीकरण हर्गिज नहीं होने देंगे : मुख्यमंत्री

आकांक्षात्मक से आगे बढ़कर विकसित जनपद बन रहा सिद्धार्थनगर: मुख्यमंत्री

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button