Uttar Pradesh

92हजार से अधिक कोरोना से मिलते लक्षण वाले मरीजों की हुई पहचान , जांच के लिए 4 मोबाइल टीमें गठित

डाँ.लोकनाथ पाण्डेय

वाराणसी। जिलाधिकारी श्री कौशल राज शर्मा के निर्देशन में विगत दिवसों दो चरणों में चलाये गए ‘विशेष सर्विलान्स अभियान’ में कोरोना से मिलते -जुलते लक्षण वालों के साथ ही कोमोर्बिड यानि पूर्व से गंभीर बीमारियों यथा उच्च रक्तचाप, हाईपरटेंशन, मधुमेह, हृदय रोग, कैंसर आदि से ग्रसित जिन व्यक्तियों को चिन्हित किया गया था, उनकी अब कोरोना जांच कराई जा रही है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वीबी सिंह ने बताया कि सर्विलान्स में खोजे गए व्यक्तियों की कोरोना जांच हेतु लैब-बाइक (ला-बाइक) की चार मोबाइल टीमें कार्य कर रही हैं। सोमवार से शुरू हुये इस कार्य में ला-बाइक के माध्यम से 361 व्यक्तियों की कोरोना जांच हुयी जिसमें 16 व्यक्ति पॉज़िटिव पाये गए।
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ वीएस राय ने बताया कि कोमोर्बिड मरीजों में कोरोना संक्रमण का खतरा अधिक रहता है जिसको देखते हुये सर्विलान्स अभियान चलाया गया। अभियान के तहत अबतक कोरोना से मिलते-जुलते लक्षण एवं पूर्व से गंभीर बीमारियों से ग्रसित लगभग 92,493 व्यक्तियों को खोजा जा चुका है। यह कार्य आगे भी जारी रहेगा। ऐसे खोजे गए व्यक्तियों की कोरोना जांच के लिए लगाई गयी मोबाइल टीमों द्वारा दूरभाष से संपर्क कर उनकी कोरोना जांच की जा रही है। उन्होने सर्विलांस में खोजे गए व्यक्तियों से अपील किया है कि मोबाइल टीमों द्वारा किए जा रहे फोन एवं उनके द्वारा की जा रही कोरोना जांच में उनका सहयोग करें।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close