Society

विश्व क्षत्रिय महासभा का हुआ गठन

blankअंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अशोक सिंह व महिला अध्यक्ष डॉ अंशु सिंह को बनाया गया*

वाराणसी। विश्व क्षत्रिय महासभा की कार्यकारिणी बैठक शुक्रवार को मलदहिया स्थित सिंह निकेतन में सम्पन्न हुई। जिसमें सभी के सर्व सम्मति से डाॅ अशोक कुमार सिंह को अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष व डाॅ अंशु सिंह को अंतर्राष्ट्रीय महिला अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया गया। साथ ही साथ युवा मंत्री नन्हे सिंह, राष्ट्रीय महामंत्री देवेंद्र नारायण सिंह, संगठन मंत्री नागेंद्र सिंह, कोषाध्यक्ष कमलेश सिंह, प्रचार मंत्री एस के सिंह, कार्यालय मंत्री मनोज सिंह के रूप में चुना गया। कार्यकारिणी में जो पुराने पदों पर थें उनकों पुन: अनुमोदन किया गया है।
इस मौके पर राष्ट्रीय अध्यक्ष डाॅ अशोक कुमार सिंह ने कहा कि केशरी बुंदेल जी या जनक दुलारी की मृत्यु के बाद जो कार्य शेष रहा गया है उसको पुरा किया जाये। जिवन पर्यंत केशरी बुंदेल जी विश्व क्षत्रिय महासभा के लिए काम करते रहें। उनके द्वारा राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसको स्थापित कर रखा था। उनके लक्ष्य थें जो उनके रहतें पुरा नहीं हो पायेगा जैसे क्षत्रिय महासभा का कोई भी भवन वाराणसी शहर में नहीं है जबकि अन्य शहरों में बन चुके हैं। छोटे शहर गाजीपुर में भी बने हैं। वाराणसी में एक होता तो साथ सब बैठकर संगठन का कार्य करते। इस मुद्दे पर भी विचार हुआ कि जो छूटे कार्य है वह जल्द से जल्द पुरा किया जाये। उसके बाद एक कार्यकारिणी की बैठक होगी जिसमें सारे लोगों को बुलाया जाएगा। जिसमें जितने भी आजीवन सदस्य हैं उनकी बैठक होगी। उसके बाद आगे की रूप रेखा तैयार की जायेगी।
सभा की अध्यक्षता कर रहे जगदीश नारायण सिंह ने कहा कि क्षत्रिय समाज सभी वर्गों को साथ लेकर चलता रहा और कार्य करता रहा है। उन्होंने कहा कि क्षत्रियों से निकले विभिन्न जातियों व धर्मो के लोगों को एक मंच पर लाकर समाजिक कार्य करेगा।
युवा मंत्री के रूप में नन्हे सिंह ने कहा कि युवाओं को इसमें शामिल करने की आवश्यकता है क्योंकि आने वाले भविष्य है और आगे उन्हीं को काम करना है। उन्होने कहा कि यहा पर युवाओं के लिए एक युवा महोत्सव स्थापित किया जाये।
डाॅ अंशु सिंह ने कहा कि अधिकतर क्षत्रिय महासभा की बैठकों में महिलाओं की उपस्थिति कम रहतीं है इस लिए जितने भी कार्यकारिणी के सदस्य है वह अपनी महिलाओं को लेतें आये इससे धिरे धिरे लोग जुड़ेंगे। उन्होंने कहा कि की 50 प्रतिशत आबादी है हमलोगों की तो कम-से-कम 50 नही तो 30 प्रतिशत तो हो इस बैठक में जिससे महिलाएं भी जुड़ेगी तब मिलकर सामाजिक कार्य किया जायेगा। उन्होंने कहा कि जो भी गरिब तबके के लोग हैं। आर्थिक रूप से कमजोर है उन महिलाओं लड़कियों को ऐसी शिक्षा व टेंनिग दी जाये जिससे वह अपने पैरों पर खड़ा हो सके उन्होंने कहा कि अगली कार्यकारिणी की बैठक जब किया जायेगा तो उसी में डिसाइड किया जायेगा की सबसे पहले हमें क्या और कब करना हैं ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close