चांदी की पालकी पर बाबा संग गौरा की निकली सवारी तो अबीर गुलाल से नहा उठी काशी

Back to top button
Close
Close