NationalSports

राष्ट्रमंडल खेल 2022 : भारत ने 61 पदकों के साथ अपने अभियान का किया समापन

कुश्ती, बैडमिंटन, एथलेटिक्स और मुक्केबाजी में रहा वर्चस्व .लॉन बॉउल्स में भारत ने रचा इतिहास, तो विनेश ने लगाई स्वर्ण की हैट्रिक

बर्मिंघम : राष्ट्रमंडल खेल 2022 में भारत का अभियान समाप्त हो गया। इन खेलों में भारत का प्रदर्शन बेहतरीन रहा। भारत ने कुल 61 पदकों के साथ अपने अभियान का समापन किया। भारत के लिए इस बार कुश्ती में सर्वाधिक पदक आए। खास बात यह है कि इन खेलों में हिस्सा ले रहे सभी भारतीय पहलवानों ने भारत के लिए पदक जीते। इसके भारत ने भारोत्तोलन में 10 पदक, एथलेटिक्स में 8 पदक, मुक्केबाजी में 7 और बैडमिंटन में 6 पदक जीते।

लॉन बाउल्स में भारत ने रचा इतिहास

भारत के नजरिए से इन खेलों में खास बात लॉन बॉल में भारतीय टीम का प्रदर्शन रहा। भारत ने इतिहास रचते हुए महिला वर्ग में स्वर्ण तो पुरूष वर्ग में रजत पदक जीता।

कुश्ती में विनेश फोगाट ने रचा इतिहास

विनेश फोगाट में 2014, 2018 और 2022 के राष्ट्रमंडल खेलों में भी स्वर्ण जीता था। वह लगातार तीन स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला भी बन गई हैं।

मीराबाई ने पहला स्वर्ण तो संकेत ने पहला रजत दिलाया

इसके अलावा हॉकी में रजत पदक के साथ भारत का सफर खत्म हुआ। भारोत्तोलन में संकेत सरगर ने पहला पदक दिलाया था तो वहीं, मीराबाई चानू ने पहला स्वर्ण पदक दिलाया। इसके बाद सभी पहलवानों ने पदक जीतकर इतिहास दोहराया। बॉक्सिंग और बैडमिंटन में भी भारतीय खिलाड़ियों ने कमाल किया। एथलेटिक्स और लॉन बॉल में भी भारतीय खिलाड़ियों ने अच्छा खेल दिखाया। इसके अलावा पैरा एथलीटों ने भी कई पदक दिलाए। इसी वजह से शूटिंग के न होने के बावजूद भारत इस बार 61 पदक ला पाया।

कुश्ती में भारत को सर्वाधिक 12 पदक मिले, सभी भारतीय पहलवानों ने जीते 12 पदक

राष्ट्रमंडल खेल 2022 में शानदार प्रदर्शन करते हुए भारतीय पहलवानों ने 12 पदक जीते। जिनमें 6 स्वर्ण, 1 रजत और पांच कांस्य पदक शामिल है।

स्वर्ण-रवि दहिया, विनेश फोगाट,नवीन, बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक, दीपक पूनिया

रजत-अंशु मलिक

कांस्य-पूजा गहलोत, पूजा सिहाग, दीपक नेहरा, मोहित ग्रेवाल,दिव्या काकरान

भारोत्तोलन में भारत को मिले 11 पदक मिले (एक पैरा भारोत्तोलन)।

भारोत्तोलन में भारत को 11 पदक मिले, जिसमें 4 स्वर्ण, 3 रजत और 4 कांस्य पदक शामिल हैं।

स्वर्ण पदक-मीराबाई चानू, जेरेमी लालरिनुंगा, अचिंता शेउली, सुधीर (पैरा भारोत्तोलन)

रजत-बिंदियारानी देवी, संकेत सरगर, विकास ठाकुर

कांस्य पदक-गुरूराज पुजारी, हरजिंदर कौर, लवप्रीत सिंह, गुरदीप सिंह।

एथलेटिक्स में भारत को मिले 8 पदक

इस बार इन खेलों में भारत के लिए एथलेटिक्स में उम्मीद से ज्यादा बेहतर परिणाम निकले। भारत ने एथलेटिक्स में 8 पदक जीते, जिसमें 1 स्वर्ण, चार रजत और 3 कांस्य पदक शामिल हैं।

स्वर्ण-एल्धोस पॉल (ट्रिपल जंप)

रजत-मुरली श्रीशंकर (लांग जंप), प्रियंका गोस्वामी (10 हजार मीटर रेस वॉक), अविनाश साबले ( तीन हजार मीटर स्टीपलचेज), अबदुल्ला अबूबकर (ट्रिपल जंप)

कांस्य-तेजस्विन शंकर (हाई जंप), संदीप कुमार (1 हजार मीटर रेस वॉक), अन्नू रानी (जैवलिन थ्रो) ।

मुक्केबाजी में भारत को 7 पदक मिले

मुक्केबाजी में भारतीय दल को सात पदक मिले , जिसमें 3 स्वर्ण, 1 रजत और तीन कांस्य पदक हैं।

स्वर्ण-नीतू घंघास, अमित पंघल, निकहत जरीन।

रजत-सागर अहलावत।

कांस्य-जैस्मिन लम्बोरिया, मोहम्मद हुसामुद्दीन, रोहित टोकस।

बैडमिंटन में भारतीय शटलरों ने जीते 6 पदक

बैडमिंटन में इस बार भारतीय शटलरों मे कमाल कर दिया। भारतीय शटलरों ने 3 स्वर्ण 1 रजत और 2 कांस्य पदक जीते।

स्वर्ण- पीवी सिंधु, लक्ष्य सेन, सात्विक-चिराग।

रजत-भारतीय बैडमिंटन टीम।

कांस्य-किदांबी श्रीकांत, त्रिषा-गायत्री।

टेबल टेनिस में भारत ने जीते 5 पदक

टेबल टेनिस ने भी भारतीय खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन रहा। भारत ने इस स्पर्धा में 3 स्वर्ण सहित 5 पदक जीते।

स्वर्ण-अचंता शरथ कमल, टीटी पुरुष टीम, शरथ-श्रीजा की मिश्रित युगल जोड़ी।

रजत-शरथ की साथियान पुरूष युगल जोड़ी

कांस्य-जी साथियान।

जूडो में भारत ने दो रजत और 1 कांस्य सहित तीन पदक जीते

रजत-सुशीला देवी, तूलिका मान

कांस्य-विजय कुमार यादव

लॉन बॉउल्स में भारत ने 1 स्वर्ण सहित जीते कुल दो पदक

स्वर्ण-महिला लॉन बॉल टीम

रजत-पुरूष लॉन बॉल टीम

इसके अलावा भारत ने स्क्वैश में दो कांस्य (सौरव घोषाल-, दीपिका पल्लीकल / सौरव घोषाल ) पदक जीता। वहीं भारत ने पैरा टेबल टेनिस में 1 स्वर्ण (भाविना पटेल) और एक कांस्य (सोनलबेन पटेल) जीता। भारत की महिला हॉकी टीम ने कांस्य और पुरूष हॉकी टीम ने रजत पदक जीता, जबकि भारतीय क्रिकेट टीम ने रजत पदक पर कब्जा किया। भारत नकुल 61 पदकों (22 स्वर्ण, 16 रजत और 23 कांस्य पदक) के साथ पदक तालिका में चौथे स्थान पर रहा। भारत ने कुल 61 पदक जीते, जिसमें 22 स्वर्ण, 16 रजत और 23 कांस्य पदक शामिल है।

ऑस्ट्रेलिया 142 पदकों (52 स्वर्ण, 44 रजत और 46 कांस्य) के साथ पहले नंबर पर रहा। दूसरे नंबर पर इंग्लैंड 132 पदकों (स्वर्ण-47, रजत-47, कांस्य-38) के साथ रहा। वहीं कनाडा 70 पदकों (19 स्वर्ण, 25 रजत और 26 कांस्य) के साथ तीसरे नंबर पर रहा। बता दें कि गोल्ड कोस्ट 2018 में पिछले संस्करण में, भारतीय एथलीटों ने कुल 66 पदक जीते थे। जिसमें 26 स्वर्ण, 20 रजत और 20 कांस्य पदक शामिल हैं। इस तरह भारत मेजबान ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बाद तीसरे स्थान पर रहा था।

समापन समारोह में शरथ कमल और निकहत जरीन होंगे भारतीय ध्वजवाहक

राष्ट्रमंडल खेल 2022 में स्वर्ण पदक विजेता और विश्व चैंपियन मुक्केबाज निकहत ज़रीन व अनुभवी टेबल टेनिस स्टार शरथ कमल को बर्मिंघम में सोमवार, 8 अगस्त को होने वाले समापन समारोह के लिए भारत का ध्वजवाहक नामित किया गया है।

उद्घाटन समारोह की तरह ही बर्मिंघम खेलों का समापन समारोह सिकंदर स्टेडियम में होगा और भारतीय ओलंपिक संघ ने इसके लिए जरीन और कमल को भारत का ध्वजवाहक बनाया है।डबल ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु और पुरुष हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह उद्घाटन समारोह में भारतीय ध्वजवाहक थे।बता दें कि महिलाओं के 48-50 किग्रा भारवर्ग में वर्ल्ड चैंपियन निकहत जरीन उत्तरी आयरलैंड की कार्ली को 5-0 से हराकर स्वर्ण जीता।निकहत का यह पहला राष्ट्रमंडल खेल है और उन्होंने स्वर्ण से शुरुआत की।

शरथ का भी राष्ट्रमंडल खेल 2022 में प्रदर्शन शानदार रहा है। टेबल टेनिस के मिश्रित युगल में अचंता शरथ कमल और श्रीजा अकुला की जोड़ी ने मलेशिया की जेवेन चूंग और केरेन लीन की जोड़ी को 11-4, 9-11, 11-5, 11-6 से हराकर स्वर्ण जीता था। इसके अलावा शरथ ने पुरुष एकल के फाइनल में भी जगह बना ली है।वहीं, उन्होंने पुरुष युगल में साथियान ज्ञानशेखरन के साथ मिलकर रजत पदक जीता था।

राष्ट्रमंडल खेल के 10वें दिन आई पदकों की बारिश,जीते 5 स्वर्ण सहित जीते 15 पदक

राष्ट्रमंडल खेल 2022 का 10वां दिन भारत के लिए स्वर्णिम दिन साबित हुआ। भारत ने आज पांच स्वर्ण,चार रजत और छह कांस्य सहित कुल 15 पदक जीते, जिनमें तीन स्वर्ण मुक्केबाजी में आए। चौथा स्वर्ण पदक ट्रिपल जंप में आया। इसके अलावा टेबल टेनिस में मिक्स्ड डबल्स में अचंता शरत कमल और श्रीजा अकुला की जोड़ी ने कमाल दिखाया और स्वर्ण पदक अपने नाम किया। वही, भारतीय महिला और हॉकी टीम ने क्रमशः रजत और कांस्य जीता।

मुक्केबाजी में आए तीन स्वर्ण पदक, एक रजत

आज 10वें दिन तीन मुक्केबाजों – निकहत जरीन (महिला लाइट फ्लाईवेट), अमित पंघाल (पुरुषों का फ्लाईवेट) और नीतू (महिलाओं का न्यूनतम वजन) ने अपने-अपने फाइनल जीते।

भारतीय मुक्केबाज निकहत जरीन ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 में रविवार को भारत को 17वां स्वर्ण पदक दिलाया। निकहत ने महिला लाइट फ्लाईवेट (50 किग्रा) वर्ग के एकतरफा फाइनल मुकाबले में उत्तरी आयरलैंड की कार्ली एमसी नौल को 5-0 से हराकर स्वर्ण पदक जीता।

जरीन से पहले आज भारतीय मुक्केबाज नीतू घंघास और अमित पंघाल ने भारत के लिए स्वर्ण पदक जीते। नीतू ने रविवार को स्वर्ण पदक मुकाबले में इंग्लैंड की डेमी जाडे को 5-0 से हराकर स्वर्ण पर कब्जा किया।

वहीं, पुरूषों के 48-51 किग्रा भारवर्ग में अमित पंघाल ने स्वर्ण पदक पर कब्जा किया। अमित ने स्वर्ण पदक मुकाबले में इंग्लैंड के किआरन मैकडोनाल्ड को 5-0 हराया और रविवार को मुक्केबाजी में स्वर्ण जीता।

सुपर हेवीवेट कैटेगरी यानी 92 किलोग्राम भारवर्ग में भारत के सागर अहलावत को रजत से संतोष करना पड़ा। उन्हें फाइनल में इंग्लैंड के डेलिशियस ओरी ने 5-0 से हरा दिया।

एथलेटिक्स में एक स्वर्ण सहित आए चार पदक

पुरुषों की ट्रिपल जंप में, भारत ने शीर्ष दो पदक जीते, एल्धोस पॉल ने स्वर्ण (17.03 मीटर कूद) और अब्दुल्ला अबूबकर नारंगोलिंटेविद ने रजत (17.02 कूद) पदक जीता। इस बीच, अन्नू रानी और संदीप कुमार ने क्रमश: महिला भाला फेंक और पुरुषों की 10 किमी दौड़ में भारत के लिए कांस्य पदक जीता।

टेबल टेनिस में भारज ने एक स्वर्ण औऱ एक रजत जीता

मिश्रित युगल में भारत के अचंता शरत कमल और श्रीजा अकुला की जोड़ी ने मलेशिया की जेवेन चूंग और केरेन लीन की जोड़ी को 11-4, 9-11, 11-5, 11-6 से हराकर स्वर्ण जीता।

इससे पहले अचंता शरथ कमल और साथियान ज्ञानसेकरन की जोड़ी ने टेनिस युगल स्पर्धा में रजत पदक जीता । भारतीय जोड़ी को स्वर्ण पदक मुकाबले में इंग्लैंड के पॉल ड्रिंकहॉल और लियाम पिचफोर्ड की जोड़ी ने शिकस्त दी।

भारतीय जोड़ी को इंग्लिश जोड़ी के हाथों 11-8, 8-11, 3-11, 11-7, 4-11 से हार का सामना करना पड़ा और रजत से संतोष करना पड़ा।

भारतीय महिला हॉकी टीम ने जीता कांस्य

कप्तान और गोलकीपर सविता के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत भारत ने न्यूजीलैंड को पेनल्टीशूट आउट में 2-1 से हराकर राष्ट्रमंडल खेल 2022 में कांस्य पदक जीता। तय समय तक दोनों टीमें 1-1 से बराबरी पर थीं, जिसके बाद पेनल्टीशूट आउट का सहारा लिया गया। जहां बाजी भारतीय टीम के हाथ लगी।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने जीता रजत पदक

भारतीय महिला क्रिकेट टीम को फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने 9 रन से हरा दिया है। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में आठ विकेट गंवाकर 161 रन बनाए थे। बेथ मूनी ने 61 रन की पारी खेली। जवाब में भारतीय टीम 152 रन पर ऑलआउट हो गई। हरमनप्रीत कौर ने 65 रन की पारी खेली। एक वक्त भारतीय टीम ने तीन विकेट गंवाकर 118 रन बना लिए थे। इसके बाद से विकेट नियमित अंतराल पर गिरे और भारतीय टीम मैच हार गई। फाइनल में हारकर भारतीय महिला क्रिकेट टीम को रजत से ही संतोष करना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया ने ऐतिहासिक स्वर्ण अपने नाम किया। महिला क्रिकेट को पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल किया गया है।

स्क्वैश में सौरव घोषाल-दीपिका पल्लीकल ने कांस्य जीता

दीपिका पल्लीकल और सौरव घोषाल की जोड़ी ने स्क्वैश के मिक्स्ड डबल्स में कांस्य पदक जीत लिया है। उन्होंने कांस्य पदक के मैच में ऑस्ट्रेलिया की लोब्बन डोना और पिले कैमरून की जोड़ी को 2-0 से हराया। पल्लीकल और सौरव ने पहला गेम 11-8 और दूसरा गेम 11-4 से जीत लिया।

बैडमिंटन में मिले दो कांस्य पदक

भारतीय स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत ने कांस्य पदक मुकाबले में सिंगापुर के जिया हेंग तेह को लगातार गेमों में 21-15, 21-18 से हराकर पदक अपने नाम किया। श्रीकांत को सेमीफाइनल में मलेशिया के एंगत्जे योंग ने हराया था। ।

इसके अलावा महिला युगल में त्रिषा जॉली और गायत्री गोपीचंद पुलेला की जोड़ी ने कांस्य पदक जीता। कांस्य पदक के मैच में भारतीय जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया की सुआन यू वेंडी चेन और सोमरविल की जोड़ी को लगातार गेमों में 21-15, 21-18 से हराया।

बैडमिंटन में सिंधु व लक्ष्य सेन एकल वर्ग के फाइनल में पहुंचे

भारतीय स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 के महिला एकल के सेमीफाइनल मुकाबले में सिंगापुर की जिया मिन को 21-19, 21-17 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया।

वहीं, लक्ष्य सेन ने रविवार को खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में सिंगापुर के जिया हेंग तेह को 21-10, 18-21, 21-16 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया और राष्ट्रमंडल खेलों में अपना पहला पदक पक्का किया।

भारत के पदक विजेता

बता दें कि भारत ने अब तक इन खेलों में कुल 55 पदक जीत लिए हैं, जिनमें 18 स्वर्ण, 15 रजत और 22 कांस्य पदक शामिल है।

स्वर्ण पदक विजेता खिलाड़ी- मीराबाई चानू, जेरेमी लालरिनुंगा, अंचिता शेउली, महिला लॉन बॉल टीम, टेबल टेनिस पुरुष टीम, सुधीर (पावर लिफ्टिंग), बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, दीपक पूनिया, रवि दहिया, विनेश फोगाट, नवीन, भाविना (पैरा टेबल टेनिस), नीतू घणघस, अमित पंघाल, एल्डहॉस पॉल, निकहत जरीन, शरत कमल-श्रीजा अकुला।

रजत पदक विजेता खिलाड़ी- संकेत सरगर, बिंदियारानी देवी, सुशीला देवी, विकास ठाकुर, भारतीय बैडमिंटन टीम, तूलिका मान, मुरली श्रीशंकर, अंशु मलिक, प्रियंका, अविनाश साबले, पुरुष लॉन बॉल टीम, अब्दुल्ला अबोबैकर, शरत और साथियान, भारतीय महिला क्रिकेट टीम, सागर।

कांस्य पदक विजेता खिलाड़ी- गुरुराजा पुजारी, विजय कुमार यादव, हरजिंदर कौर, लवप्रीत सिंह, सौरव घोषाल, गुरदीप सिंह, तेजस्विन शंकर, दिव्या काकरन, मोहित ग्रेवाल, जैस्मिन, पूजा गहलोत, पूजा सिहाग, मोहम्मद हुसामुद्दीन, दीपक नेहरा, रोहित टोकस, महिला हॉकी टीम, संदीप कुमार, अन्नू रानी, सौरव घोषाल-दीपिका, किदांबी श्रीकांत, त्रिषा-गायत्री।

भारतीय पहलवानों का रहा वर्चस्व, तीन स्वर्ण सहित जीते 6 पदक

राष्ट्रमंडल खेल 2022 का नौवां दिन भारत के लिए एक और स्वर्णिम दिन रहा, जहां पहलवानों ने अपना वर्चस्व स्थापित किया और तीन स्वर्ण व तीन कांस्य पदक जीते। पैरा टेबल टेनिस में भाविना पटेल ने स्वर्ण जीता, तो एथलेटिक्स में 2 रजत पदक आए, वहीं लॉन बाउल्स में भारतीय फोर पुरुष टीम ने रजत पदक जीता।मुक्केबाजी में तीन मुक्केबाजों ने कांस्य पदज जीता, तो चार ने फाइनल में प्रवेश कर भारतीय टीम के लिए पदक पक्के किये। इसके अलावा भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने सेमीफाइनल में इंग्लैंड को 4 रन से हराकर फाइनल में प्रवेश किया।

पैरा टेबल टेनिस में भाविना को स्वर्ण

पैरा टेबल टेनिस में भाविना हसमुखभाई पटेल ने स्वर्ण जीत लिया है। उन्होंने फाइनल में नाइजीरिया की इफेचुकवुदे क्रिस्टियाना को लगातार तीन गेमों में 12-10, 11-2, 11-9 से हरा दिया।

कुश्ती में रहा भारतीय पहलवानों का वर्चस्व, सभी 12 पहलवानों ने जीते पदक

नौवें दिन कुश्ती में बारतीय पहलवानों का वर्चस्व रहा, जहां भारत ने छह पदक जीते। विनेश फोगाट, रवि दहिया और नवीन ने स्वर्ण पदक जीता, तो पूजा सिहाग, पूजा गहलोत और दीपक नेहरा ने कांस्य पदक जीता। इस तरह कुश्ती में भारत को कुल 12 पदक मिले। इससे पहले शुक्रवार को दीपक पूनिया, बजरंग पूनिया और साक्षी मलिक को स्वर्ण पदक मिला था। अंशु मलिक को रजत से संतोष करना पड़ा था। वहीं, दिव्या काकरन और मोहित ग्रेवाल ने कांस्य पदक जीता था। इस तरह भारत के सभी 12 पहलवानों ने पदक जीतने में सफलता हासिल की।

एथलेटिक्स में भारत को मिले दो पदक

एथलेटिक्स में भारत के लिए आज का दिन काफी अच्छा रहा। प्रियंका गोस्वामी ने 10,000 मीटर रेस वॉक फ़ाइनल में रजत पदक जीता, तो वहीं,अविनाश साबले ने पुरुषों की 3000 मीटर स्टीपलचेज़ में रजत पदक जीता।

प्रियंका ने 43 मिनट और 38 सेकंड में मैराथन दूरी को कवर करते हुए अपना व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और सीडब्ल्यूजी 2022 में ट्रैक और फील्ड में भारत को तीसरा पदक दिलाया। उनसे पहले मुरली श्रीशंकर (लंबी कूद में रजत) और तेजस्विन शंकर (ऊंची कूद में कांस्य) ने ट्रैक और फील्ड में भारत के लिए पदक जीते हैं।

वहीं, अविनाश ने 3000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाते हुए रजत पदक जीता। इन खेलों में भारत का यह 28वां और एथलीट में चौथा पदक है। अविनाश ने अपनी रेस 8.11.20 मिनट में खत्म की। इसके साथ ही उन्होंने तीन हजार मीटर रेस में नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया। वो स्वर्ण पदक जीतने वाले अब्राहम किबिवॉट से सिर्फ 0.5 सेकेंड पीछे रहे।

लॉन बॉल में पुरुष टीम ने रजत पदक जीता

लॉन बॉल में पुरुष टीम (चार खिलाड़ी) को फाइनल में उत्तरी आयरलैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा है। इसके साथ ही भारतीय टीम को रजत पदक के साथ संतोष करना पड़ा है। 14 एंड के बाद भारतीय टीम यह मैच 18-5 से हार गई। भारत के लिए सुनील बहादुर, नवनीत सिंह, चंदन कुमार सिंह और दिनेश कुमार की जोड़ी ने कमाल किया है।

भारतीय मुक्केबाजों ने दिखाया दम, जीते तीन कांस्य

भारतीय मुक्केबाज जैस्मीन लैंबोरिया, मोहम्मद हुसामुद्दीन और रोहित टोकस ने अपने सीडब्ल्यूजी 2022 अभियानों का समापन कांस्य पदक के साथ किया।

नीतू घंघास, अमित पंघाल, निकहत जरीन और सागर अपने-अपने मुकाबलों में सफल रहे और अपने-अपने वर्ग में फाइनल में जगह बनाई

भारतीय महिला क्रिकेट टीम फाइनल में पहुंची

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने सेमीफाइनल में इंग्लैंड चार विकेट से हराया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट पर 164 रन बनाए थे। जवाब में इंग्लैंड की टीम 20 ओवर में छह विकेट पर 160 रन ही बना सकी।

शरथ कमल ने पुरुष और मिश्रित युगल दोनों स्पर्धाओं में भारत के लिए दो पदक पक्के किये

भारत के स्टार पैडलर शरथ कमल ने शनिवार को पुरुष और मिश्रित युगल दोनों स्पर्धाओं के फाइनल में पहुंचने के साथ ही राष्ट्रमंडल खेल 2022 में भारत के लिए दो पदक पक्के कर दिए।

शरथ ने पहले जी साथियान के साथ जोड़ी बनाकर रोमांचक पुरुष युगल सेमीफाइनल में निकोलस लुम और मिन्ह्युंग जी की ऑस्ट्रेलियाई जोड़ी को 3-2 (11-9, 11-8, 9-11, 12-14, 11-7) से हराया। इसके बाद शरथ ने युवा श्रीजा अकुला के साथ मिश्रित युगल फाइनल में प्रवेश किया। सेमीफाइनल में भारतीय जोड़ी ने निकोलस लुम और मिन्ह्युंग जी की ऑस्ट्रेलियाई जोड़ी पर 3-2 (11-9, 11-8, 9-11, 12-14, 11-7) से जीत दर्ज की।

इससे पहले शरथ ने एकल वर्ग के सेमीफाइनल में भी जगह बनाई। उन्होंने क्वार्टरफाइनल मुकाबले में सिंगापुर के योंग इजाक क्वेक को शिकस्त देकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया। शरथ ने क्वेक को 4-0 (11-6, 11-7, 11-4, 11-7) से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई।

बैडमिंटन में पीवी सिंधु ने सिंगल्स के सेमीफाइनल में किया प्रवेश

बैडमिंटन में पीवी सिंधु ने सिंगल्स के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। सिंधु ने शनिवार को खेले गए क्वार्टरफाइनल मुकाबले में मलेशिया की जिन वेई गोह को हराया। सिंधु ने इस चुनौतीपूर्ण तीन गेम तक चले मुकाबले में गोह को 19-21, 21-14, 21-18 से हराया।

स्क्वैश में भारतीय जोड़ी हारी

स्क्वैश के मिश्रित युगल में भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा है। सौरव गोपाल और दीपिका पल्लीकल की जोड़ी को न्यूजीलैंड के जोएल किंग और पॉल कॉल की जोड़ी ने हराया है। अब भारतीय जोड़ी कांस्य पदक के लिए खेलेगी।

भारत के पदक विजेता

भारत ने अब तक इन खेलों में कुल 40 पदक जीते हैं, जिनमें 13 स्वर्ण, 11 रजत और 16 कांस्य पदत शामिल हैं।

स्वर्ण पदक विजेता खिलाड़ी : मीराबाई चानू, जेरेमी लालरिनुंगा, अंचिता शेउली, महिला लॉन बॉल टीम, टेबल टेनिस पुरुष टीम, सुधीर (पावर लिफ्टिंग), बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, दीपक पूनिया, रवि दहिया, विनेश फोगाट, नवीन, भाविना (पैरा टेबल टेनिस)।

रजत पदक विजेता खिलाड़ी : संकेत सरगर, बिंदियारानी देवी, सुशीला देवी, विकास ठाकुर, भारतीय बैडमिंटन टीम, तूलिका मान, मुरली श्रीशंकर, अंशु मलिक, प्रियंका, अविनाश साबले, पुरुष लॉन बॉल टीम।

कांस्य पदक विजेता खिलाड़ी : गुरुराजा पुजारी, विजय कुमार यादव, हरजिंदर कौर, लवप्रीत सिंह, सौरव घोषाल, गुरदीप सिंह, तेजस्विन शंकर, दिव्या काकरन, मोहित ग्रेवाल, जैस्मिन, पूजा गहलोत, पूजा सिहाग, मोहम्मद हुसामुद्दीन, दीपक नेहरा, रोहित टोकस।

भारतीय पहलवानों के नाम रहा आठवां दिन, कुश्ती में तीन स्वर्ण सहित आए 6 पदक

राष्ट्रमंडल खेल 2022 के आठवें दिन भारतीय पहलवानों का जलवा रहा। स्टार पहलवान बजरंग पुनिया सहित तीन पहलवानों ने देश के लिए स्वर्ण जीते। भारत ने कुश्ती में शुक्रवार को तीन स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य समेत कुल छह पदक जीते। राष्ट्रमंडल खेलों 2022 में अब तक भारतीय एथलीटों ने 26 पदक- नौ स्वर्ण, आठ रजत और नौ कांस्य पदक जीते हैं।

वहीं, किदांबी श्रीकांत और पीवी सिंधु ने क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया तो भाविना पटेल ने महिला एकल पैरा टेबल टेनिस के फाइनल में प्रवेश कर भारत के लिए पदक पक्का किया। हालांकि भारतीय हॉकी महिला टीम को हार का सामना करना पड़ा। वहीं, टेबल टेनिस प्लेयर मनिका बत्रा को भी महिला एकल के क्वार्टर फाइनल में हार का सामना करना पड़ा।

भारतीय पहलवानों का रहा जलवा

भारतीय पहलवान बज रंग पुनिया (पुरुष 65 किग्रा), दीपक पुनिया (पुरूष 86 किग्रा) और साक्षी मलिक (महिला 62 किग्रा) ने स्वर्ण जीता, वहीं अंशु मलिक (महिला 57 किग्रा) ने रजत पदक और दिव्या काकरन (68 किग्रा) व मोहित ग्रेवाल (फ्रीस्टाइल 125 किग्रा वर्ग) ने कांस्य पदक जीता।बजरंग ने फ्रीस्टाइल 65 किग्रा वर्ग में कनाडा के लचलान मैकनिल को 9-2 से हराकर स्वर्ण जीता।साक्षी ने फ्रीस्टाइल 62 किग्रा वर्ग में कनाडा की एन्ना गोडिनेज गोंजालेज को पहले चित्त कर चार अंक हासिल किए। उसके बाद पिनबॉल से हराकर स्वर्ण पर कब्जा किया।

दीपक पूनिया ने फ्रीस्टाइल 86 किग्रा वर्ग में पाकिस्तान के मोहम्मद इनाम को 3-0 से हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। अंशु मलिक को फ्रीस्टाइल 57 किग्रा वर्ग में रजत पदक से संतोष करना पड़ा। उन्हें फाइनल में नाइजीरिया की ओडानायो फोलासाडो ने 7-3 से हराया।दिव्या काकरन ने फ्रीस्टाइल 68 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक के मैच में टोंगा की लिली कॉकर को 2-0 से हराया।भारतीय पहलवान मोहित ग्रेवाल ने फ्रीस्टाइल 125 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक जीता। उन्होंने जमैका के एरॉन जॉनसन को 6-0 से हरा दिया।

पीवी सिंधु और किदांबी श्रीकांत क्वार्टर फाइनल में

स्टार भारतीय शटलर पीवी सिंधु और किदांबी श्रीकांत ने आसान जीत के साथ क्रमश: महिला और पुरुष एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। 2018 संस्करण में रजत पदक विजेता सिंधु को युगांडा की हुसीना कोबुगाबे पर 21-10, 21-9 से जीत दर्ज की, जबकि गोल्ड कोस्ट में दूसरे सर्वश्रेष्ठ स्थान पर रहने वाले श्रीकांत ने भी पुरुष एकल में श्रीलंका के डुमिंडु अबेविक्रमा पर 21-9, 21-12 से आसान जीत दर्ज की।

महिला एकल पैरा टेबल टेनिस वर्ग 3-5 के फाइनल में पहुंची भाविना पटेल

टोक्यो पैरालिंपिक की रजत पदक विजेता भाविना पटेल ने पैरा महिला टेबल टेनिस एकल वर्ग 3-5 के सेमीफाइनल में इंग्लैंड की सू बेली को 3-0 हराकर राष्ट्रमंडल खेल 2022 के फाइनल में प्रवेश किया। इसके साथ ही भाविना ने भारत के लिए कम से कम रजत पदक पक्का कर लिया है।हालांकि भारत के राज अरविंदन अलागर पुरुष एकल वर्ग 3-5 के सेमीफाइनल में नाइजीरिया के नासिरू सुले से 1-3 (7-11, 11-8, 11-4, 11-7) से हारकर बाहर हो गए।

मनिका बत्रा और साथियान ज्ञानशेखरन टेबल टेनिस मिश्रित युगल स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में

मनिका बत्रा और साथियान ज्ञानशेखरन टेबल टेनिस मिश्रित युगल स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए हैं। भारतीय जोड़ी ने ओजोमु अजोक और ओमोटायो ओलाजाइड की नाइजीरियाई जोड़ी को सीधे गेम में हराया। एक और स्टार टीटी खिलाड़ी अचंता शरथ कमल ने पुरुष एकल के 16वें दौर में प्रवेश कर लिया है।

पुरुषों की 4 x 400 रिले स्पर्धा के फाइनल में पहुंची भारतीय टीम

मुहम्मद अनस, नूह निर्मल टॉम, मोहम्मद अजमल और अमोल जैकब की भारतीय चौकड़ी ने शुक्रवार को बर्मिंघम में चल रहे राष्ट्रमंडल खेल 2022 में पुरुषों की 4 x 400 रिले स्पर्धा के फाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया है। भारतीय टीम 3:06.97 सेकेंड के समय के साथ हीट 2 में दूसरे स्थान पर रही।

भारतीय पुरूष लॉन बॉल्स टीम फाइनल में

लॉन बॉल्स में महिलाओं के स्वर्ण पदक जीतने के बाद पुरुषों के पास भी सोना जीतने के मौका है। शुक्रवार को भारतीय टीम ने सेमीफाइनल में इंग्लैंड को 13-12 से हराया।

सुरक्षा कारणों से अस्थायी रूप से रोके गए कुश्ती के मैच

राष्ट्रमंडल खेल 2022 में कुश्ती की स्पर्धा को सुरक्षा कारणों से अस्थायी रूप से रोक दिया गया है।जानकारी के अनुसार, कुश्ती के मुकाबलों का पहला सत्र शुरू होने के कुछ मिनट बाद छत से एक स्पीकर (जो घोषणा को रिले करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है) गिर गया, जिसके बाद दर्शकों को हॉल खाली करने के लिए कहा गया। इस दौरान केवल पांच मुकाबलों को पूरा किया जा सका था। इसके बाद दर्शकों को हॉल खाली करने के लिए कहा गया और आयोजकों द्वारा पूरी तरह से जांच के आदेश दिये गए।

मनिका बत्रा राष्ट्रमंडल खेल 2022 से बाहर

भारतीय महिला टेबल टेनिस स्टार मनिका बत्रा क्वार्टरफाइनल मे सिंगापुर को जियान जेंग से 4-0 से हारकर बाहर हो गईं।

हिमा दास 200 मीटर स्प्रिंट के फाइनल के लिए नहीं कर सकीं क्वालीफाई

भारत की स्टार स्प्रिंटर हिमा दास 200 मीटर स्प्रिंट के फाइनल के लिए क्वालिफाई नहीं कर सकीं। उन्होंने सेमीफाइनल हीट को तीसरे स्थान पर रहकर खत्म किया। सेमीफाइनल में एक हीट से टॉप दो खिलाड़ी फाइनल के लिए क्वालिफाई करता है। हिमा ने सेमीफाइनल में 23.42 सेकेंड का समय निकाला।

सेमीफाइनल में हारी भारतीय महिला हॉकी टीम

महिला हॉकी के दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को शूटआउट 3-0 से हरा दिया। फुल टाइम के बाद स्कोर 1-1 से बराबर रहा था। इस तरह मैच पेनल्टी शूटआउट में पहुंचा था। शूटआउट में ऑस्ट्रेलिया ने शुरुआती तीनों गोल दागे, जबकि भारतीय टीम की ओर से कोई खिलाड़ी गोल नहीं कर सका।

भारतीय दल के पदक विजेता एथलीट-

स्वर्ण-मीराबाई चानू, जेरेमी लालरिनुंगा, अंचिता शेउली, महिला लॉन बॉल टीम, टेबल टेनिस पुरुष टीम, सुधीर (पावर लिफ्टिंग), बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, दीपक पूनिया।

रजतः संकेत सरगरी, बिंदियारानी देवी, सुशीला देवी, विकास ठाकुर, भारतीय बैडमिंटन टीम, तूलिका मान, मुरली श्रीशंकर, अंशु मलिक।

कांस्यः गुरुराजा पुजारी, विजय कुमार यादव, हरजिंदर कौर, लवप्रीत सिंह, सौरव घोषाल, गुरदीप सिंह, तेजस्विन शंकर, दिव्या काकरन, मोहित ग्रेवाल।

भारत ने कुल अब तक इन खेलों में कुल 26 पदक जीते हैं, जिनमें नौ स्वर्ण, आठ रजत और नौ कांस्य पदक शामिल हैं।

सातवां दिन मुरली श्रीशंकर के रजत और सुधीर के स्वर्ण पदक के लिए सुर्खियों में रहा

राष्ट्रमंडल खेल 2022 में सातवां दिन भी भारत के लिए एक और ऐतिहासिक दिन था। सातवां दिन मुरली श्रीशंकर के रजत और सुधीर के स्वर्ण पदक के लिए सुर्खियों में रहा।इसके अलावा जहां तीन मुक्केबाजों ने सेमीफाइनल में प्रवेश कर पदक पक्का किया, वहीं भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने वेल्स को 3-1 से हराकर अजेय रहते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया। बैडमिंटन में सिंधु और श्रीकांत ने जहां अंतिम 16 में प्रवेश किया, वहीं, हिमा दास ने भी अपनी तेजी से सेमीफाइनल में जगह बनाई। भारत अब तक बर्मिंघम में कुल 20 पदक जीत चुका है। इनमें छह स्वर्ण, सात रजत और सात कांस्य पदक शामिल हैं।खेलों के 8वें दिन, ओलंपिक पदक विजेता रवि कुमार दहिया, बजरंग पुनिया और साक्षी मलिक सहित 12 सदस्यीय भारतीय कुश्ती टीम राष्ट्रमंडल खेलों 2022 में अपना अभियान शुरू करेगी।

मुरली श्रीशंकर ने लंबीकूद में जीता ऐतिहासिक रजत

भारत के मुरली श्रीशंकर ने चल रहे राष्ट्रमंडल खेल 2022 में पुरुषों की लंबी कूद के फाइनल में 8.08 मीटर के निशान के साथ रजत पदक जीता।श्रीशंकर ने पुरुषों की लंबी कूद में 8.08 मीटर की दूरी के साथ ऐतिहासिक रजत जीता, वह लंबी कूद में राष्ट्रमंडल खेलों का पदक जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष एथलीट बन गए।

पैरा-पावरलिफ्टर सुधीर ने जीता स्वर्ण पदक

पैरा-पावरलिफ्टर सुधीर ने राष्ट्रमंडल खेलों में पैरा-पावरलिफ्टिंग में भारत का पहला स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने नाइजीरिया के इकेचुकु ओबिचुकु (133.6 अंक) को 0.9 अंकों से हराया।

मुक्केबाजों का रहा जलवा

मुक्केबाज अमित पंघाल, जैस्मीन लांबोरिया और सागर अहलावत ने पुरुषों के फ्लाईवेट, महिलाओं के लाइटवेट और पुरुषों के सुपर हैवीवेट क्वार्टर फाइनल में जीत के साथ सेमीफाइनल में प्रवेश किया और भारत के लिए तीन पदक पक्के किये। मुक्केबाजी में पुरुषों के 92 किलोग्राम भारवर्ग में सागर अहलावत ने सेशेल्स के केडी इवांस एग्नेस को 5-0 से हराकर सेमीफाइनल में किया प्रवेश।वहीं, भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल ने स्कॉटलैंड के लेनन मुलिगन को 5-0 से हराकर पुरुषों के 51 किग्रा (फ्लाईवेट) सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

जैस्मीन ने महिलाओं के लाइटवेट (60 किग्रा) क्वार्टर फाइनल में न्यूजीलैंड के ट्रॉय गार्टन को 4-1 के विभाजन के फैसले से हराया। भारतीय बॉक्सर रोहित टोकस 63.5 किलो से 67 किलो यानी वेल्टरवेट कैटेगरी में सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं। रोहित ने क्वार्टर फाइनल में नियूए के जेवियर माताआफा इकिनोफो को 5-0 से हराया। रोहित का यह पहला राष्ट्रमंडल खेल भी है।कुल मिलाकर सात भारतीय बॉक्सर बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में अपने-अपने इवेंट में सेमीफाइनल में पहुंच चुके हैं।

भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने अजेय रहते हुए सेमीफाइनल में किया प्रवेश

इस बीच, भारत ने पूल बी मैच में हरमनप्रीत सिंह की हैट्रिक की बदौलत वेल्स को 4-1 से हराकर पुरुष हॉकी सेमीफाइनल में जगह बनाई।

हिमा दास ने 200 मीटर स्पर्धा के सेमीफाइनल के लिए किया क्वालीफाई

भारतीय स्प्रिंटर हिमा दास ने गुरुवार को बर्मिंघम में चल रहे राष्ट्रमंडल खेलों में पहले दौर की हीट टू में शीर्ष स्थान हासिल करने के बाद महिलाओं की 200 मीटर स्पर्धा के सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया। दास ने सेमीफाइनल के लिए अपना टिकट बुक करने के लिए 23.42 सेकंड का समय निकाला।

बैडमिंटन –लक्ष्य सेन, पीवी सिंधु और किदाम्बी श्रीकांत ने प्री क्वार्टरफाइनल में किया प्रवेश

भारतीय स्टार खिलाड़ी लक्ष्य सेन, पीवी सिंधु और किदांबी श्रीकांत ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 में एकल वर्ग के प्री-क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया है।श्रीकांत ने पुरुष एकल – राउंड ऑफ 32 में युगांडा के डैनियल वैनेगेलिया को हराकर अंतिम 16 में अपना स्थान पक्का कर लिया है। श्रीकांत ने यह मुकाबला 21-9, 21-9 से जीता है।वहीं, सिंधु ने महिला एकल के अपने अंतिम 32 दौर मुकाबले में मालदीव की फातिमथ नाबाहा को 21-4, 21-11 से हराकर अंतिम 16 में प्रवेश किया।लक्ष्य सेन ने राउंड ऑफ 32 के मुकाबले में सेंट हेलेना आइलैंड के वर्नोन स्मीड को 2-0 से हरा दिया। पहला गेम लक्ष्य ने 21-4 और दूसरा गेम 21-5 से जीता।

हैमर थ्रो के फाइनल में मंजू बाला, सरिता चूकीं

हैमर थ्रो में ग्रुप ए क्वालीफाइंग दौर में मंजू बाला ने फाइनल में जगह बना ली है, जबकि सरिता रोमित सिंह क्वालीफाई करने से चूक गई हैं।मंजू ने अपने पहले प्रयास में 59.68 मीटर का सर्वश्रेष्ठ थ्रो किया और फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। वह 11 वें स्थान पर रही, जो उनके फाइनल में खेलने के लिए काफी था। फाइनल में शीर्ष 12 खिलाड़ी शामिल होंगे।भारत की दूसरी एथलीट सरिता ने 57.48 मीटर का थ्रो किया और फाइनल के लिए क्वालीफाई करने से चूक गईं। वो 13वें स्थान पर रहीं।

पैरा टेबल टेनिस में महिला एकल वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंची भाविना पटेल

भारत की स्टार पैरा टेबल टेनिस खिलाड़ी और टोक्यो पैरालिंपिक पदक विजेता भाविना पटेल राष्ट्रमंडल खेल 2022 में अपने तीसरे मैच में फिजी के अकानिसी लाटू को हराकर महिला एकल वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं। भाविना ने अपने महिला एकल वर्ग 3-5 के मैच में, लाटू को 11-1, 11-5, 11-1 से हराया।

सेमीफाइनल में पहुंची पैरा टेबल टेनिस खिलाड़ी सोनलबेन पटेल

भाविना के बाद भारत की पैरा टेबल टेनिस स्टार सोनलबेन पटेल ने भी नाइजीरिया की चिनेये ओबियोरा को हराकर महिला एकल वर्ग के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। महिला एकल वर्ग 3-5 एकल मैच में, सोनलबेन ने ओबिओरा को 8-11, 11-5, 11-7, 11-5 से हराया।

पल्लीकल-सौरव और पल्लीकल-चिनप्पा की जोड़ी क्वार्टर फाइनल में

स्क्वैश में मिक्स्ड डबल्स में दीपिक पल्लीकल और सौरव घोषाल की भारतीय जोड़ी क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई है। इस जोड़ी ने राउंड ऑफ 16 में वेल्स की एमिली व्हीटलॉक और पीटर क्रीड की जोड़ी को 2-0 से हरा दिया। सौरव-पल्लीकल ने पहला गेम 11-8 और दूसरा गेम 11-4 से जीता।

इसके बाद महिला डबल्स में दीपिक पल्लीकल और जोशना चिनप्पा की जोड़ी भी क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई है। इस जोड़ी ने बारबाडोस की मीगन बेस्ट और अमांडा हेवुड की जोड़ी को 2-0 से हरा दिया। पहला गेम पल्लीकल और चिनप्पा की जोड़ी ने 11-4 और दूसरा गेम 11-4 से जीता।

टेबल टेनिस में भारतीय खिलाड़ियों का जलवा

भारत की स्टार टेबल टेनिस प्लेयर महिला सिंगल्स के प्री- क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई हैं। मनिका डिफेंडिंग चैंपियन हैं। 2018 गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में मनिका ने स्वर्ण जीता था। मनिका ने कनाडा की चिंग नेम फू को 4-0 से हराया।

टेबल टेनिल मेन्स डबल्स में अचंता शरत कमल और साथियान की जोड़ी प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई है। राउंड ऑफ 32 में इस जोड़ी ने जोएल एलेने और जोनाथन वान लांगे की जोड़ी को 3-0 से हराया। भारतीय जोड़ी ने पहला गेम 11-2, दूसरा गेम 11-5 और तीसरा गेम 11-6 से जीता। इससे पहले हरमत देसाई और सानिल शेट्टी की भारतीय जोड़ी भी प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई है। सनिल शेट्टी और हरमीत की जोड़ी ने साइप्रस की आइयोसिफ एलिया और क्रिस्टोस सावा की जोड़ी को 11-6, 11-5, 11-1 से हराया।

भारतीय दल ने अब तक चल रहे राष्ट्रमंडल खेलों में छह स्वर्ण सहित 20 पदक जीते

भारत के पदक विजेता

6 स्वर्णः मीराबाई चानू, जेरेमी लालरिनुंगा, अंचिता शेउली, महिला लॉन बॉल टीम, टेबल टेनिस पुरुष टीम, सुधीर (पैरा-पावरलिफ्टिंग)

7 रजतः संकेत सरगरी, बिंदियारानी देवी, सुशीला देवी, विकास ठाकुर, भारतीय बैडमिंटन टीम, तूलिका मान, मुरली श्रीशंकर

7 कांस्यः गुरुराजा पुजारी, विजय कुमार यादव, हरजिंदर कौर, लवप्रीत सिंह, सौरव घोषाल, गुरदीप सिंह, तेजस्विन शंकर।

छठां दिन भी रहा शानदार, भारतीय एथलीट्स ने जीते पांच पदक

भारत के लिए राष्ट्रमंडल खेल 2022 में छठां दिन भी काफी शानदार रहा। छठे दिन भारतीय एथलीटों ने कुल पांच पदक जीते। जूडो में जहां तूलिका मान ने रजत जीता, वहीं, स्क्वैश में सौरव घोषाल, भारोत्तोलन में लवप्रीत और गुरदीप व ट्रैक एंड फील्ड में तेजस्विन शंकर ने कांस्य पदक जीता। भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने भी बारबडोस को 100 रन से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया

भारोत्तोलक लवप्रीत सिंह और गुरदीप सिंह ने जीता कांस्य पदक

भारोत्तोलक लवप्रीत सिंह ने बुधवार को पुरुषों के 109 किग्रा भारोत्तोलन में कांस्य पदक जीता, लवप्रीत ने भारोत्तोलन के 109 किग्रा भार वर्ग के स्नैच राउंड में कुल 163 किग्रा भार उठाया,वहीं, क्लीन एंड जर्क में उन्होंने 192 किग्रा भार के साथ दोनों राउंड मिलाकर कुल 355 किग्रा भार उठाया।

वहीं,गुरदीप सिंह ने 109 किलोग्राम भारवर्ग में कांस्य पदक जीता। उन्होंने कुल 390 किलो वजन (स्नैच राउंड में 167 और क्लीन एंड जर्क राउंड में 223 किलो) का वजन उठाया।

भारतीय स्क्वैश खिलाड़ी सौरव घोषाल ने जीता कांस्य पदक

पुरुष एकल स्क्वैश में, सौरव घोषाल ने इंग्लैंड के जेम्स विलस्ट्रॉप को 3-0 से हराकर राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का पहला एकल पदक जीता। सौरव ने 11-6, 11-1,11-4 से विलस्ट्राप को हराया

भारत के हाई जंपर तेजस्विन शंकर ने जीता कांस्य

भारतीय हाई जंपर तेजस्विन शंकर ने राष्ट्रमंडल खेलों में ट्रैक एंड फील्ड इवेंट में भारत के पदकों का खाता खोला। पुरुषों के हाई जंप इवेंट के फाइनल में तेजस्विन ने 2.22 मीटर के जंप के साथ कांस्य पदक अपने नाम किया। इसी के साथ वह राष्ट्रमंडल खेलों में हाई जंप में भारत के लिए पदक जीतने वाले पहले एथलीट बन गए।

मुक्केबाजी में तीन पदक पक्के

भारत के लिए मुक्केबाजी में भी आज का दिन शानदार रहा, मुक्केबाज निकहत जरीन (50 किग्रा), नीतू गंगस (महिला 48 किग्रा) और हुसाम उद्दीन मोहम्मद (पुरुष 57 किग्रा) ने सेमीफाइनल में प्रवेश करते हुए भारत के तीन और पदक पक्के किया। हालांकि, ओलंपिक पदक विजेता मुक्केबाज लवलीना बोर्गोहेन लाइट मिडिल वेट क्वार्टर फाइनल में हार गईं, जबकि आशीष कुमार पुरुषों के लाइट हैवीवेट क्वार्टर फाइनल में हार गए।

सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय महिला क्रिकेट टीम

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने भी बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रमंडल खेलों के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। भारत ने अपने तीसरे ग्रुप मैच में बारबाडोस को 100 रन से हराया। महिला टी20 क्रिकेट में भारत की यह दूसरी सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले उसने 2018 में मलेशिया को 142 रन से हराया था। भारतीय टीम इस जीत के बाद ग्रुप-ए में दूसरे स्थान पर पहुंच गई। ऑस्ट्रेलिया पहले पायदान पर काबिज है। वहीं, बारबाडोस और पाकिस्तान की टीम बाहर हो चुकी है।

स्क्वैश में जीता जोशना और हरिंदर पाल की जोड़ी

स्क्वैश में जोशना चिनप्पा और हरिंदर पाल सिंह संधू की जोड़ी ने श्रीलंका की कुरुप और रविंदू की जोड़ी को हरा दिया है। इसके साथ ही भारतीय जोड़ी ने प्री क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है।

हॉकी में भी भारत का रहा जलवा

हॉकी में, भारतीय महिला टीम ने अपने आखिरी पूल ए मैच में कनाडा पर 3-2 से जीत के साथ सेमीफाइनल में प्रवेश किया। वहीं, पुरूष टीम ने कनाडा को 8-0 से रौंदते हुए पूल बी में शीर्ष स्तान हासिल किया।

लॉन बाउल्स में भी प्रदर्शन अच्छा रहा

लॉन बाउल्स के राउंड 2 में, लवली चौबे और नयनमोनी सैकिया की भारतीय महिला जोड़ी ने अपना मैच 23-6 से जीता, जबकि मृदुल बोरगोहेन ने अपने पुरुष एकल मैच में 21-5 से शानदार जीत दर्ज की।

बता दें कि राष्ट्रमंडल खेल 2022 आधे चरण में है और भारत ने अब तक वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया है। भारत ने अब तक पांच स्वर्ण सहित कुल 18 पदक जीते हैं।

भारत के पदक विजेता

5 स्वर्णः मीराबाई चानू, जेरेमी लालरिनुंगा, अंचिता शेउली, महिला लॉन बॉल टीम, टेबल टेनिस पुरुष टीम

6 रजतः संकेत सरगरी, बिंदियारानी देवी, सुशीला देवी, विकास ठाकुर, भारतीय बैडमिंटन टीम, तूलिका मान

7 कांस्यः गुरुराजा पुजारी, विजय कुमार यादव, हरजिंदर कौर, लवप्रीत सिंह, गुरदीप सिंह, सौरभ घोषाल, तेजस्विन शंकर।

राष्ट्रमंडल खेल 2022 में पांचवां दिन भारत के लिए एक और सफल और स्वर्णिम दिन था। पांचवें दिन भारत ने अपनी तालिका में दो स्वर्ण सहित कुल चार और पदक जोड़े। भारत के कुल मिलाकर 13 हो गए जिसमें 5 स्वर्ण, 5 रजत और 3 कांस्य पदक शामिल हैं।

लॉन बाउल्स में भारत ने रचा इतिहास, जीता स्वर्ण पदक

लवली चौबे, रूपा रानी टिर्की, पिंकी और नयनमोनी सैकिया की चौकड़ी ने फाइनल में दक्षिण अफ्रीका (17-10) को हराकर स्वर्ण पदक जीता। लॉन बाउल्स के खेल में यह देश का पहला पदक है।

भारोत्तोलन में भारत को एक और पदक

भारत के विकास ठाकुर ने पुरुषों की 96 किग्रा स्पर्धा में कुल 346 किग्रा (155 किग्रा स्नैच और 191 किग्रा क्लीन एंड जर्क) के साथ रजत पदक जीता। यह भारोत्तोलन में भारत का आठवां पदक है।

टेबल टेनिस में भारत ने एक स्वर्ण और एक रजत पदक जीता

भारतीय पुरुष टेबल टेनिस टीम ने सिंगापुर को हराकर राष्ट्रमंडल खेलों में लगातार दूसरा स्वर्ण पदक जीता। हालांकि, मिश्रित बैडमिंटन टीम गोल्ड कोस्ट 2018 की अपनी उपलब्धि को दोहरा नहीं पाई और टीम को रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

एथलेटिक्स में भी भारत का कमाल

वहीं, एथलेटिक्स में, मुरली श्रीशंकर और मोहम्मद अनीस याहिया ने पुरुषों की लंबी कूद के फाइनल के लिए क्वालीफाई किया है। स्टार शॉटपुट खिलाड़ी मनप्रीत कौर ने भी फाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

तैराकी में भी रहा भारत का प्रदर्शन शानदार

पुरुषों की 200 मीटर बैकस्ट्रोक में, भारत के श्रीहरि नटराज ने राष्ट्रीय रिकॉर्ड समय 2:00.84 के साथ किया और क्वालीफाइंग में नौवें स्थान पर रहे। वहीं, तैराक कुशाग्र रावत और अद्वैत पेज ने क्वालिफिकेशन में अंतिम दो स्थान हासिल कर पुरुषों की 1500 मीटर फ्रीस्टाइल फाइनल में जगह बनाई।

असफलता भी लगी हाथ

भारोत्तोलक पूनम यादव अपने तीन क्लीन एंड जर्क लिफ्टों में महिलाओं के 76 किग्रा वर्ग से खाली हाथ लौटीं। वहीं दुती चंद 100 मीटर रेस में चौथे स्थान पर रहीं, जबकि हॉकी में, भारत को महिला पूल ए मैच में इंग्लैंड से 1-3 से हार का सामना करना पड़ा है। स्क्वैश में पुरुष एकल सेमीफाइनल में हार के बाद सौरव घोषाल कांस्य के लिए संघर्ष करेंगे।

भारत ने लॉन बॉल में जीता ऐतिहासिक स्वर्ण

भारतीय महिला फोर टीम ने ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए मंगलवार को 2022 बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के लॉन बाउल्स वूमेन्स फोर स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल किया।लवली चौबे (लीड), पिंकी (सेकेंड), नयनमोनी सेकिया (थर्ड) और रूपा रानी टिर्की (स्किप) की भारतीय महिला फोर्स टीम ने इस रोमांचक और उतार चढ़ाव भरे खिताबी मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को 17-10 से हराकर स्वर्ण पदक जीता।

भारतीय टीम ने मैच में शुरू से ही अपना दबाव बनाए रखा था और एंड 7 तक 8-2 की बढ़त हासिल की थी, लेकिन इसके बाद दक्षिण अफ्रीका ने बेहतरीन वापसी की और एंड 11 के बाद भारत पर 10-8 से बढ़त हासिल की। हालांकि इसके बाद भारतीय टीम ने वापसी करते हुए 17-10 से मैच जीतकर स्वर्ण पदक पर कब्जा किया।यह राष्ट्रमंडल खेलों के इतिहास में लॉन बॉल में भारत का पहला पदक है। देश को बर्मिंघम में चौथा स्वर्ण पदक मिला है।

लॉन बाउल्स के नियम

लॉन बाउल के नियम सरल हैं। इस खेल में एक बॉल को मैदान पर रोल (लुढ़काया) किया जाता है। इसका मकसद यह होता है कि बॉल को ‘जैक’ के ज्यादा से ज्यादा करीब पहुंचाया जाए। ‘जैक’ वह लक्ष्य होता है जहां बॉल को पहुंचाना होता है। जो खिलाड़ी या टीम प्रतिद्वंद्वी/विपक्षी टीम के मुकाबले जैक के ज्यादा करीब बॉल को पहुंचाता है वह विजेता होता है।लॉन बॉलिंग में चार प्रारूप होते हैं, जिनमें एकल, युगल, तीन की टीम और चार की टीम शामिल है। जो कि प्रत्येक टीम में खिलाड़ियों की संख्या के अनुसार बांटे जाते हैं। प्रत्येक के लिए अलग-अलग पुरुष और महिला पदक इवेंट होते हैं। एकल मैचों में पहले 21 अंक हासिल करने वाला खिलाड़ी विजेता होता है। अन्य सभी प्रारूपों में 18 अलग-अलग एंड से बॉल को रोल किया जाता है और ज्यादा अंक बनाने वाली टीम विजेता होती है।(हि.स.)।

राष्ट्रमंडल खेल : भारत के लिए यादगार रहा चौथा दिन, जीते तीन पदक

राष्ट्रमंडल खेल 2022 का चौथा दिन भारत के लिए एक और यादगार दिन रहा। बहु-खेल स्पर्धा के चौथे दिन, भारत ने तीन पदक (एक रजत और दो कांस्य पदक) जीते। जुडो में भारत ने दो पदक जीते, भारोत्तोलन में आया सातवां पदक , भारतीय जुडोका सुशीला देवी ने महिला -48 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीता, जो राष्ट्रमंडल खेलों के इतिहास में उनका दूसरा स्थान है। सुशीला के अलावा, विजय कुमार ने पुरुषों के 60 किग्रा वर्ग में भी कांस्य पदक जीता और भारत को जूडो में दूसरा पदक दिलाया। भारोत्तोलन में सात पदकों (तीन स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य) के बाहर अन्य खेलों में ये भारत के पहले पदक थे।हरजिंदर कौर ने क्लीन एंड जर्क वर्ग में वापसी करते हुए भारोत्तोलन में महिलाओं के 71 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक जीता।

लान बाउल्स में भारत ने रचा इतिहास, एक पदक पक्का- लवली चौबे, पिंकी, नयनमोनी सैकिया और रूपा रानी टिर्की की भारतीय महिला फोर टीम ने लॉन बाउल्स में इतिहास रच रचते हुए फाइनल में प्रवेश किया, जहां उनका सामना दक्षिण अफ्रीका से होगा। मंगलवार को सेमीफाइनल में भारत ने न्यूजीलैंड को 16-13 से हराया।

भारतीय बैडमिंटन मिश्रित टीम फाइनल मे- पीवी सिंधु, श्रीकांत किदांबी, लक्ष्य सेन और चिराग शेट्टी और सात्विक सैराज रंकीरेड्डी की भारतीय बैडमिंटन मिश्रित टीम इकाई ने भी सेमीफाइनल में सिंगापुर को 3-0 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया और भारत के लिए पदक पक्का किया।

भारतीय पुरुष टेबल टेनिस टीम ने सेमीफाइनल में- गत चैंपियन भारतीय पुरुष टेबल टेनिस टीम ने सेमीफाइनल में नाइजीरिया को रोमांचक तरीके से हराकर फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली।

भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल जीते- भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल ने अपनी शुरुआती बाउट जीती। श्रीहरि नटराज तैराकी में पुरुषों की 50 मीटर बैकस्ट्रोक फाइनल में पांचवें स्थान पर रहे।

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ खेला 4-4 से ड्रा- दिन की एक और अच्छी खबर में, भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ 4-4 से ड्रा खेला और अपने ग्रुप में शीर्ष पर रही। भारतीय टीम ने घाना के खिलाफ अपने पहले मैच में घाना को 11-0 से हराया था।

स्क्वैश में, सौरव घोषाल सेमीफाइनल मे- स्क्वैश में, सौरव घोषाल ने क्वार्टर फाइनल में स्कॉट ग्रेग लोबन को 11-5, 8-11, 11-7 और 11-3 से हराकर पुरुष एकल के सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

अचिंता शेउली ने भारत को भारोत्तोलन में तीसरा स्वर्ण दिलाया

अचिंता शेउली ने राष्ट्रमंडल खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में भारत का स्वर्णिम अभियान जारी रखते हुए पुरूषों के 73 किलो वर्ग में नये रिकॉर्ड के साथ बाजी मारकर देश को तीसरा पीला तमगा दिलाया ।इससे पहले तोक्यो ओलंपिक की रजत पदक विजेता मीराबाई चानू और जेरेमी लालरिननुंगा ने भारत को भारोत्तोलन में स्वर्ण दिलाये थे ।पश्चिम बंगाल के 21 वर्ष के शेउली ने स्नैच में 143 किलो वजन उठाया जो राष्ट्रमंडल खेलों का नया रिकॉर्ड हैं । उन्होंने क्लीन एवं जर्क में 170 किलो समेत कुल 313 किलो वजन उठाकर राष्ट्रमंडल खेलों का रिकॉर्ड अपने नाम किया ।पिछले साल जूनियर विश्व भारोत्तोलन चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतने वाले शेउली ने दोनों सर्वश्रेष्ठ लिफ्ट तीसरे प्रयास में किये ।

मलेशिया के ई हिदायत मोहम्मद को रजत और कनाडा के शाद डारसिग्नी को कांस्य पदक मिला। उन्होंने क्रमश: 303 और 298 किलो वजन उठाया ।शेउली ने जीत के बाद कहा, ‘‘मैं इस जीत से बहुत खुश हूं। मैंने इस पदक के लिए कड़ी मेहनत की थी। मेरे भाई, मां, मेरे कोच और सेना के बलिदान से मुझे यह पदक मिला।’’उन्होंने कहा, ‘‘ यह मेरी जिंदगी में पहली बड़ी प्रतियोगिता थी और मैं इस मुकाम पर पहुंचने के लिये इन सभी का आभार व्यक्त करता हूं। यह पदक मुझे जिंदगी के हर पहलू में मदद करेगा। अब यहां से पीछे मुड़कर नहीं देखना चाहिए।’’शेउली से पूछा गया कि वह इस पदक को किसे समर्पित करना चाहेंगे, उन्होंने कहा, ‘‘मैं इसे अपने स्वर्गीय पिता, अपनी मां और मेरे कोच विजय शर्मा को समर्पित करना चाहूंगा। मेरे कोच ने मुझे हमेशा अपने बच्चे की तरह समझा और जब भी मैं कोई गलती करता था तो वह मुझे थप्पड़ मारते थे। ’’

शेउली ने स्नैच वर्ग में 137 किग्रा, 140 किग्रा और 143 किग्रा वजन उठाया। उन्होंने 143 किग्रा के प्रयास से खेलों का नया रिकॉर्ड बनाया और अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन में भी सुधार किया।कोलकाता के इस भारोत्तोलक ने क्लीन एवं जर्क में 166 किग्रा भार आसानी से उठाया। वह दूसरे प्रयास में 170 किग्रा भार नहीं उठा पाये लेकिन अगले प्रयास में इतना भार उठाकर कुल 313 किग्रा के साथ खेलों का नया रिकार्ड बनाने में सफल रहे।इस भारतीय खिलाड़ी को आखिर तक इंतजार करना पड़ा क्योंकि मलेशियाई भारोत्तोलक ने आखिरी दो प्रयास में 176 किग्रा भार उठाने का प्रयास किया लेकिन वह इसमें नाकाम रहे।शेउली से पूछा गया कि क्लीन एवं जर्क में आखिरी प्रयास से पहले कोच शर्मा ने उनसे क्या कहा, उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने कहा मेरा स्वर्ण पदक पक्का है बस मुझे शांत चित्त बने रहना है। मैं थोड़ा नर्वस था लेकिन उसका प्रदर्शन मुझ से कमतर था और मैं यह भार उठाने में सफल रहा।’’शेउली का यह पदक भारत का भारोत्तोलन में छठा पदक है।(भाषा)

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को बर्मिंघम में भारोत्तोलक अचिंता शुली को राष्ट्रमंडल खेलों 2022 में पुरुषों के 73 किलोग्राम फाइनल में स्वर्ण पदक जीतने पर प्रशन्नता व्यक्त की और भारोत्तोलक को बधाईदी और कहा कि एथलीटों ने विशेष उपलब्धि के लिए कड़ी मेहनत की है।श्री माेदी ने ट्वीट कर कहा, “ खुशी है कि प्रतिभाशाली अचिंता शुली ने राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता है। वह अपने शांत स्वभाव और तप के लिए जाने जाते हैं। इस खास उपलब्धि के लिए उन्होंने काफी मेहनत की है। भविष्य के प्रयासों के लिए उन्हें मेरी शुभकामनाएं।”

जेरेमी लालरिननुंगा ने 67 किलोग्राम भारवर्ग में जीता स्वर्ण

ब्रिटेन के बर्मिंघम में चल रहे राष्ट्रमंडल खेल-2022 में भारतीय खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन जारी है। युवा भारोत्तोलक जेरेमी लालरिनुंगा ने भारत को एक और पदक दिला दिया है। लालरिनुंगा ने पुरुषों के 67 किग्रा भार वर्ग स्पर्धा में कुल 300 किग्रा (स्नैच में 140 और क्लीन एंड जर्क में 160 किग्रा) भार के साथ स्वर्ण पदक जीता है। भारोत्तोलन में भारत का यह दूसरा स्वर्ण है। इससे पहले मीराबाई चानू ने भारोत्तोलन में स्वर्ण पदक जीता है। भारोत्तोलन में भारत का यह पांचवां पदक है। मीराबाई चानू और लालरिनुंगा के अलावा बिंद्यारानी देवी ने रजत, संकेत सरगर ने रजत और गुरुराजा पुजारी ने कांस्य पदक जीता है।

स्नैच राउंड में जेरेमी लालरिनुंगा ने पहले प्रयास में 136 किलो वजन उठाया। दूसरे प्रयास में जेरेमी ने 140 किलो भार उठाया। तीसरे प्रयास में उन्होंने 143 किलो उठाने की कोशिश की, लेकिन वह नाकाम रहे। इस तरह स्नैच राउंड में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 140 किलो रहा। क्लीन एंड जर्क में लालरिनुंगा ने शानदार शुरुआत की है। उन्होंने पहले प्रयास में 154 किग्रा भार उठाया। इशके बाद वह क्लीन एंड जर्क में अपने दूसरे प्रयास में 160 किग्रा भार उठाने में सफल रहे। इस तरह उनका कुल स्कोर 300 किलो हो गया है। इस तरह जेरेमी लालरिनुंगा ने स्वर्ण पदक हालिस किया। इस खेल में समोआ के वैपावा इओने (293 किग्रा) ने रजत और नाइजीरिया के एडिडियॉन्ग उमोफिया (290 किग्रा) ने कांस्य पदक जीता।(हि.स.)

बिंदियारानी ने रजत पदक अपने नाम किया

भारत की बिंदियारानी देवी ने भारोत्तोलन में महिलाओं की 55 किलोग्राम श्रेणी में देश को रजत पदक दिलाया और इसी के साथ राष्ट्रमंडल खेलों की इस प्रतियोगिता में भारत के पदकों की संख्या बढ़कर चार हो गई।मीराबाई चानू के स्वर्ण पदक जीतने के बाद 23 वर्षीय बिंदियारानी ने स्नैच वर्ग में 86 किलोग्राम वजन उठाकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के बाद क्लीन एंड जर्क में 116 किलोग्राम वजन उठाकर इन खेलों का रिकॉर्ड बनाया। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रजत पदक जीतने पर बिंदियारानी को बधाई दी।

मुर्मू ने कहा, ‘‘राष्ट्रमंडल खेलों में भारोत्तोलन में महिलाओं के 55 किलोग्राम वर्ग में रजत पदक जीतने पर बिंदियारानी को बधाई। आपने खेलों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और खेल का स्तर बढ़ाने के लिए जोश के साथ प्रदर्शन किया। हर भारतीय को आपकी सफलता से खुशी मिली है।’’ प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘राष्ट्रमंडल खेलों, बर्मिंघम में रजत पद जीतने पर बिंदियारानी को बधाई।’’

नाइजीरिया की अदिजत अदेनाइके ओलारिनोये ने 203 (92 किलोग्राम एवं 111 किलोग्राम) किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने स्नैच और कुल वजन के मामले में राष्ट्रमंडल खेलों का रिकॉर्ड भी बनाया। इंग्लैंड की फ्रेयर मॉरो ने 198 किलोग्राम (89 और 109 किलोग्राम) वजन उठाकर कांस्य पदक जीता।बिंदियारानी ने कहा, ‘‘यह राष्ट्रमंडल खेलों में मेरा पहला पदक है और मैं रजत पदक जीतकर एवं खेलों में रिकॉर्ड बनाकर बहुत खुश हूं।’’चानू की तरह बिंदियारानी भी मणिपुर की रहने वाली है। बिंदियारानी के पिता एक किसान हैं और उनकी एक किराने की दुकान भी है।उन्होंने 2019 में राष्ट्रमंडल चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीता था और 2021 में रजत पदक अपने नाम किया। (भाषा)

मीराबाई ने दिलाया भारत को पहला स्वर्ण

भारत की शीर्ष भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 में शनिवार को 49 किग्रा भारोत्तोलन में स्वर्ण पदक जीता। यह भारत का पहला स्वर्ण और कुल तीसरा पदक है। यह मीराबाई का भी राष्ट्रमंडल खेलों में लगातार तीसरा पदक है।मीराबाई ने फाइनल में स्नैच के दूसरे प्रयास में 88 किग्रा के साथ नया राष्ट्रीय और राष्ट्रमंडल रिकॉर्ड बनाया। इसके बाद उन्होंने क्लीन एंड जर्क को भी एकतरफा जीतते हुए पहले प्रयास में 109 किग्रा भार उठाकर देश का पहला स्वर्ण पक्का किया। वह इतने पर भी नहीं रुकीं और अपने ही प्रदर्शन को बेहतर करते हुए उन्होंने दूसरे प्रयास में 113 किलो वज़न उठाया। वह तीसरे प्रयास में असफल रहीं लेकिन उससे फर्क नहीं पड़ा क्योंकि 201 किलो के स्वर्णिम प्रदर्शन के साथ वह पोडियम पर पहले स्थान पर रहीं।(वार्ता)

 भारोत्तोलक संकेत सरगर ने भारत को दिलाया पहला पदक

तीन बार के राष्ट्रीय चैंपियन और पिछले साल दिसंबर में राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक विजेता भारोत्तोलक संकेत सरगर ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 में पुरुषों की 55 किग्रा भारोत्तोलन स्पर्धा में रजत पदक जीता। वह केवल एक किलो से स्वर्ण पदक से चूक गए।संकेत ने 248 किग्रा (स्नैच में 113 और क्लीन एंड जर्क में 135 किग्रा) का संयुक्त वजन उठाया। संकेत ने अपने दूसरे क्लीन एंड जर्क प्रयास में 141 किग्रा भार उठाते समय खुद को घायल कर लिया और भार उठाने में विफल रहे, जिसके कारण वह केवल 1 किलो भार से स्वर्ण पदक जीतने से चूक गए। मलेशिया के बिन अनीक ने स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता। अनीक ने कुल 249 क्रिग्रा (स्नैच में 107 और क्लीन एंड जर्क में 142 किग्रा) का वजन उठाया।

श्रीलंका के दिलंका ईशुरू कुल 225 किग्रा (स्नैच -105 किग्रा और क्लीन एंड जर्क-120 किग्रा) के भार के साथ तीसरे स्थान पर रहे।भारत के संकेत सरगर ने अच्छी शुरुआत की जिन्होंने स्नैच में अपने दूसरे प्रयास में 107 किग्रा भार उठाया। उनके बाद मलेशिया के बिन अनीक ने भी 107 किग्रा वजन उठाया। हालांकि संकेत ने दूसरी लिफ्ट में 111 किग्रा भार उठा लिया, जबकि अनीक स्नैच में 111 किग्रा के अपने दूसरे प्रयास में विफल रहे। वहीं, श्रीलंका के दिलंका ने 112 किग्रा भार उठा कर संकेत को चुनौती दी। हालांकि संकेत अपने अंतिम प्रयास में 113 किग्रा भार उठाकर स्नैच राउंड में शीर्ष पर रहे।

भारोत्तोलक गुरुराजा पुजारी ने भारत को दिलाया दूसरा पदक, जीता कांस्य

भारतीय भारोत्तोलक गुरुराजा पुजारी ने शनिवार को बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल 2022 में भारत को दूसरा पदक दिलाया। पुजारी ने पुरुषों के 61 किग्रा भार वर्ग के फाइनल में कांस्य पदक जीता।पुजारी ने 269 किग्रा (स्नैच में 118 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 151 किग्रा) का संयुक्त भार उठाकर भारत के लिए खेलों का दूसरा पदक सुनिश्चित किया।प्रतियोगिता का स्वर्ण पदक मलेशिया के अजनील बिन बिदिन मुहम्मद ने जीता। अजनील ने कुल 285 किलो का वजन उठाकर यह कामयाबी हासिल की। वहीं पापुआ न्यू गिनी के मोरिया बरू ने 273 किलो वजन उठाकर रजत पदक अपने नाम किया।इसके पहले भारोत्तोलक संकेत सरगर ने रजत पदक जीतकर भारत को राष्ट्रमंडल खेल 2022 में भारत को पहला पदक दिलाया था।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: